हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...

 संहारक केमिकल हथियार

जहरीली गैस को किस तरह केमिकल हथियार बनाया जा सकता है, इसका पता आज ही के दिन 1988 में चला. जब इराक ने अपने ही हजारों कुर्द नागरिकों को रासायनिक हथियार से मार दिया.

हालाबजा शहर राजधानी बगदाद से कोई 250 किलोमीटर दूर है. साल 1988 में 16 मार्च को इराकी वायु सेना के 20 विमानों ने 11 बजे दिन में केमिकल हथियारों का जखीरा इसी शहर के आम लोगों पर छोड़ दिया. जानकारों का दावा है कि इनमें मस्टर्ड गैस, सारीन, टाबून और एक्सवी के अलावा साइनाइड का भी इस्तेमाल किया गया.

इस शहर में कुर्द बहुल लोग रहते हैं, जो स्वायत्तता की मांग कर रहे थे और उनसे निपटने के लिए इराकी राष्ट्रपति सद्दाम हुसैन ने केमिकल अली की मदद से जहरीली गैसों का इस्तेमाल किया. चश्मदीदों का कहना है कि न सिर्फ शहर, बल्कि इससे बाहर निकलने के सभी रास्तों पर भी रासायनिक हथियार चलाए गए, “इनमें से 50 मीटर ऊंचा धुआं उठा, जो पहले सफेद, फिर काला और ऊपर पीला नजर आया.”

यह घटना ईरान इराक युद्ध के आखिरी दिनों की है. घायल लोगों को ईरानी राजधानी तेहरान के अस्पताल में दाखिल कराया गया. ज्यादातर मस्टर्ड गैस के शिकार थे. जिनकी जान बच पाई, उन्हें रासायनिक हमले की वजह से सांस लेने में दिक्कत हो रही थी या उनकी आंखों की रोशनी चली गई थी. चमड़ी का बुरा हाल था. कुछ रिपोर्टों के मुताबिक हादसे में 75 फीसदी महिलाएं और बच्चे शिकार बने.

मरने वालों के बारे में पक्का आंकड़ा नहीं है. लेकिन बताया जाता है कि उनकी संख्या 3200 से 5000 के बीच रही होगी. इससे दोगुने लोग जख्मी हुए. सद्दाम हुसैन के चचेरे भाई अली हसन अल माजिद अंतरराष्ट्रीय स्तर पर “केमिकल अली” के रूप में जाने जाते थे और इस हमले में उनका हाथ बताया जाता है.

हादसे में किसी तरह जान बचाने वाले एक शख्स ने बरसों बाद याद ताजा की, “अचानक बमों जैसा विस्फोट हुआ और लोग गैस गैस चिल्लाते हुए भागे. मैं अपनी कार में बैठा और उसकी सारी खिड़कियां बंद करके भागा. रास्ते में कुछ लोग हरे रंग की उलटियां कर रहे थे और कुछ जोर जोर से हंस रहे थे. फिर हंसते हंसते बेहोश हो कर गिर रहे थे. मेरी कार पता नहीं कितने ही मासूम लोगों के शरीर को कुचलते हुए गुजरी होगी. बाद में मैं भी बेहोश हो गया. होश आया, तो मुझे सेब की तरह की खुशबू आई, फिर अंडे की तरह आने लगी.”

 

16 मार्च की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ

  • फ्रांसके राजा लुईस चौदहवें ने 1690 में आयरलैंड में सेना भेजी।
  • अमृतसर समझौते के मुताबिक कश्मीर का आधिपत्य 1846 में जम्मू के हिंदू राजा गुलाब सिंह के अधीन कर दिया गया।
  • इंग्लैंड ने 1922 में मिस्र को मान्यता दी।
  • चेकोस्लोवाकिया परजर्मनी ने 1939 में कब्जा किया।
  • V-2 रॉकेट 1942 में लांच किया गया, लेकिन उसी दौरान इसमें ब्‍लास्‍ट हो गया।
  • इराक और सोवियत संघ ने 1959 में अार्थिक एवं तकनीक समझौते पर हस्ताक्षर किये।
  • अमेरिकाने 1966 में मानवयुक्त अंतरिक्ष यान “जेमिनी 8” लांच किया।
  • आठ सालों तक ब्रिटेन के प्रधानमंत्री और 13 वर्षों तक लेबर पार्टी के नेता रहे, हैरल्ड विल्सन ने 1976 में त्यागपत्र देकर सबको चौंका दिया था।
  • अमेरिकाने 1978 में नेवादा में परमाणु परीक्षण किया।
  • रूस ने 1982 में पश्चिम यूरोप में नए परमाणु मिसाइलों की तैनाती रोकने की घोषणा की।
  • मिस्रमें चिपोज के पिरामिड में 1989 में 4400 साल पुरानी ममी मिली।
  • नासा अंतरिक्ष यात्री नॉर्मन रूसी 1995 में अंतरिक्ष स्टेशन मीर का दौरा करने वाले पहले अमेरिकी बने।
  • चीनी राष्ट्रपति जियांग जेमिन 1998 में अगले कार्यकाल के लिए पुन: राष्ट्रपति निर्वाचित।
  • ग्रीन स्मिथ 2003 में दक्षिण अफ़्रीका के क्रिकेट कप्तान बने।
  • रूस में 2004 में नौ मंजिला इमारत में विस्फोट, 21 मरे।
  • संयुक्त राष्ट्र संघ के महासचिव कोफ़ी अन्नान ने 2005 में सुपाचयी पानिचपकड़ी को अंकटाड का नया अध्यक्ष नामांकित किया।
  • सन 2006 में चुनाव के तीन महिने बाद ईराक की नयी संसद ने शपथ ग्रहण की।
  • दक्षिण अफ़्रीका के हर्शेल गिब्स ने 2007 में एक ओवर में छह छक्के लगाकर विश्व रिकार्ड बनाया।
  • परवेज मुशर्रफ़ ने 2008 में पाकिस्तान में सज़ा-ए-मौत पा चुके भारतीय नागरिकसरबजीत सिंह के डेथ वारंट पर दस्तखत किये।
  • भारतके मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर 2012 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 100 शतक बनाने वाले पहले खिलाड़ी बने।
  • पाकिस्तानके रावलपिंडी में 2013 में हुए बस दुर्घटना में लगभग 25 सैनिकों की जान गयी।
  • यूक्रेन छोड़कर रूस में शामिल होने के पक्ष में क्रीमिया के लोगों ने 2014 में मतदान किया।

16 मार्च को जन्मे व्यक्ति 

  • इंदौर के होल्कर वंश का प्रवर्तक मल्हारराव होल्कर का 1693 में जन्म।
  • गांधीजी के अनुयायी स्वतन्त्रता सेनानी पोट्टि श्रीरामुलु का 1901 में जन्म।
  • भारत के जाने-माने शिक्षाविद और हिन्दी साहित्यकार अम्बिका प्रसाद दिव्य का 1906 में जन्म।
  • हिन्दी सिनेमा के प्रसिद्ध खलनायक तथा फ़िल्म निर्माता दयाकिशन सप्रू का 1916 में जन्म।
  • अमेरिकी टेलीविजन पटकथा लेखक और नाटककार हार्डिंग लेमेयका 1922 में जन्म।

16 मार्च को हुए निधन

  • 1947 में प्रसिद्ध कवि, साहित्यकार अयोध्यासिंह उपाध्याय का निधन।
  • 1999 में फैंटम जैसे हास्य चरित्र के जनक लियोन ली फ़ाक का निधन।
  • 1955 में प्रसिद्ध हिन्दी साहित्यकारविजयानन्द त्रिपाठी का निधन।

 

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu