हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...
जिस तरह मुर्दाखोर गिद्ध लाश देखकर तुरंत नीचे आकर नोंच-नोंच कर मृतदेह का भक्षण करता है उसी तरह कॉंग्रेस भी संवेदनहीन होकर राजनेता मनोहर पर्रिकर के देहांत के तुरंत बाद सत्ता प्राप्ति के लिए निचले स्तर की राजनीति कर रही है और गोवा में अपनी सरकार बनाने का दावा पेश कर रही है।जहाँ पूरा देश मनोहर जी के देहांत उपरांत गमगीन और शोकाकुल है।वही कॉंग्रेस गन्दी राजनीति से बाज नही आ रही है।इसे राजनीति कहे या संवेदनहीनता की पराकाष्ठा ? लोग सही कहते है कि कॉंग्रेस मौत पर भी राजनीति करती है,इसलिए कॉंग्रेस पार्टी को राजनीतिक मुर्दाखोर गिद्ध कहाँ जाता है।क्या वाकई कॉंग्रेस पार्टी मौत पर भी राजनीति करती है ? अपनी बेबाक राय दे

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu
%d bloggers like this: