अप्रैल २०१९ का हिंदी विवेक मासिक पत्रिका अंक प्रकाशित

२०१४ के चुनाव की तुलना में इस चुनाव में लगभग 8 करोड़ ४३ लाख मतदाता बढ़े हैं। इस वर्ष कोई ९० करोड़ मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। इनमें १८ से १९ वर्ष के दो करोड़ युवा मतदाता पहली बार मतदान करेंगे। चुनाव और लोकतंत्र एक ही सिक्के के दो पहलू माने जाते हैं। इन्हीं पर प्रकाश डालनेवाला अप्रैल २०१९ का अंक हिंदी विवेक मासिक पत्रिका ने प्रकाशित किया है। साथ ही इस अंक में आप पढ़ सकते हैं,

*स्व.मनोहर पर्रीकर जी की कुछ यादें,

*हिंदी विवेक के दशकपूर्ती वर्ष पर आलेख और

*समसामयिक विषय मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के संयोजक पर मा. इन्द्रेश कुमारजी का साक्षात्कार।

निश्चित ही। हिंदी विवेक द्वारा प्रकाशित यह अंक पठनीय एवं संग्रहणीय है।

आपकी प्रतिक्रिया...