हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...

अभिव्यक्ति की आजादी के नाम पर 600 के करीब बॉलिवुड कलाकारों ने मोदी सरकार के खिलाफ एक मुहिम शुरु की है और मोदी सरकार के खिलाफ वोट करने का आह्रवान किया है । जब पाकिस्तानी कलाकारों को बॉलिवुड से बाहर करने की मांग होती है तब उनकी पैरवी करते हुए ये भारतीय कलाकार कहते है कि राष्ट्रवाद या देशहित के नाम पर कलाकारों को राजनीतिक निशाना बनाना उचित नही है । परंतु जब देशहित में समर्थन करने का समय आता है तब ये कलाकार ऐसे चुप्पी साध लेते हैं, जैसे इनके मुहं में दही जम गया हो। बॉलिवुड कलाकारों का यह दोगलापन कहां तक जायज है? पहले जब अंडरर्वल्ड से धमकी मिलती थी, ब्लेकमेलिंग और हफ्तावसुली होती थी, तब तो इन्होंने कांग्रेस सरकार के खिलाफ आवाज नहीं उठाई । आज जिसका जो मन होता है वह मोदी जी के विरुद्ध बोलता चला जाता है। सबसे अधिक आलोचनाओं को सहने के बाद भी मोदी जी ने इन पर बदले की कोई कार्रवाई नहीं की। बॉलिवुड कलाकारों के इस दोगलेपन के पीछे कहीं किसी राजनीतिक पार्टी का अदृश्य हाथ तो नहीं? अपनी बेबाक राय दें……….

This Post Has 2 Comments

  1. सीने में इन सबके 56 की 56 गोली उतार दी जाए….

  2. आपकी लेख बिल्कुल सही है….ये बुद्धजीवी राजनीतिक मंशा के तहत काम करते है, बयान देते है….हम सभी जागृत देश नागरिकों को इनका बहिष्कार करना चाहिए… ये सारे सेक्युलरिज्म की आड़ में बुरका पहन के अंधे बन बैठे है….
    व्यक्तिगत मेरी राय है अगर इन्हें आज देश असहिष्णु लगता है तो देश छोड़कर स्वयं चले जाएं….वरना हम नागरिक इन्हें बेशर्मी से बाहर करने का माद्दा रखते है

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu