हिंदी विवेक : we work for better world...
आजकल की व्यस्त जीवनशैली में अभिभावक बच्चों को समय नहीं दे पाते। ऐसे में यह चाह रखना कि बच्चे को अच्छी आदतें लगे, वह विनम्र और उदार बने बहुत मुश्किल काम लगता है। नीचे दी गई टिप्स अपनाकर आप बच्चो को ऐसा बना सकते हैं। बस थोड़ा सा धैर्य रखना होगा।
 
 
* जब बच्चा बोलने और समझने लगता है, तभी से शुरआत करें।
 
* बच्चे ज्यादातर बातें दूसरों से सीखते हैं और वैसा ही करते हैं। इसलिए पहले खुद को आदर्श बनाएं। यदि आपका व्यवहार प्यार भरा और नम्र होगा, तो बच्चे आक्रमक हो नहीं सकते।
 
* बच्चे हर समय माता पिता का ध्यान आकर्षित करना चाहते हैं, इसलिए उनके हर काम में रुकावट डालते रहते हैं, उन्हें ठीक समय पर सही तरीके से समझाएं, वरना यह उनकी आदत बन जाती है।
 
*आजकल बच्चों पर बहूत ज्यादा शैक्षणिक दबाव है। कई बार उन्हें खेलने का समय भी नहीं मिलता इससे वे दब्बू और आत्मकेंद्रित हो जाते हैं। यह ध्यान आपको रखना होगा कि आपका बच्चा इसका शिकार ना हो।
 
* टी.वी के कार्टून्स और कम्प्यूटर गेम बच्चों में आक्रमकता पैदा करते हैं। बच्चों को इससे बचाने की कोशिश करें। अच्छा देखेंगे तभी अच्छा सीखेंगे।
 
* हमेशा बच्चे को टोकते ना रहें, क्योंकि ऐसा बार बार करने से बचें पर अभिभावकों की किसी बात का कोई असर नहीं होता। इसलिए प्यार और दोस्ती का संबंध रखते हुए बातें समझाएं।
 
* बच्चों की हर मांग को पूरा ना करें। कभी उन्हें अभावों में भी रखें। इससे बच्चे काफी कुछ सीखते हैं।
 
* बच्चे के दोस्तों पर भी नजर रखें, गलत संगत से भी बच्चे विद्रोही बन जाते हैं।
 
*अपने वैवाहिक जीवन का तनाव, लड़ाई झगड़े बच्चों के सामने ना आने दें, इससे भी बच्चे आक्रमक बन जाते हैं।
 
*बच्चे को आत्मनिर्भर बनाने की कोशिश करें उसके काम उसे स्वयं करने दें जैसे खेलने के बाद खिलौने समेट कर रखना, अपना स्कूल बैग खुद जमाना, अपने कपड़े जूते सही जगह पर रखना इत्यादि। शुरू शुरू में गलतियां होगी, मगर प्यार से समझाएं, इससे उसका आत्मविश्वास बढ़ेगा।
 
*दोस्तों और बाहरवालों के सामने बच्चे की शिकायत ना करें। इससे उनमें हीन भावना आती है, हमेशा उसकी तारीफ करे।
 
* अपना व्यवहार हमेशा सकारात्मक रखें इससे बच्चा आपसे अपनी हर बात शेयर करेगा। उसका आत्मविश्वास भी बढ़ेगा।

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu