हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...

जब से सत्ता की कुर्सी पर नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री के रुप में विराजमान हुए है तब से ही पूरी दुनिया में उनकी तूती बोल रही है। राजनीति, कूटनीति, सामरिक नीति और विदेश नीति में मोदी का कोई जवाब नहीं है। भारत की थल, जल, नभ और अब अंतरिक्ष में बढ़ती सैन्य ताकत तथा दुनिया भर में भारत को मिल रहे समर्थन से चीन का रूख अब नरम पड़ता दिखाई दे रहा है। चीन ने पहली बार अपने नक्शे में अरुणाचल प्रदेश और पीओके को भारत का हिस्सा दिखाया है। इसके पूर्व तक चीन द्वारा जारी नक्शों में वह पीओके को पाकिस्तान और अरुणाचल प्रदेश को चीन का हिस्सा बताता रहा है। डोकलाम विवाद के बाद से ऐसा लग रहा है कि चीन की अक्ल ठिकाने आ रही है और धीरे-धीरे ही सही चीन की नीति में बदलाव आ रहा है। बावजूद इसके चीन की चालाकी से भारत चौकन्ना है। क्या नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत की बढ़ती साख और सैन्य शक्ति का लोहा मानकर चीन का रुख भारत के प्रति नरम हो रहा है ? अपनी बेबाक राय दे 

This Post Has 2 Comments

  1. अस्पष्टता पूर्ण दावा है, ऐसा सोच। आलेख के साथ ऊपर दिया गया नक्शा मात्र चीन की OBR को दिखा रहा है। उसमें किसी भी देश की अन्तर्राष्ट्रीय सीमा रेखा, यहां तक कि चीन की भी,नही दिखाई गयी है।

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu

विगत 6 वर्षों से देश में हो रहे आमूलाग्र और सशक्त परिवर्तनों के साक्षी होने का भाग्य हमें प्राप्त हुआ है। भ्रष्ट प्रशासन, दुर्लक्षित जनता और असुरक्षित राष्ट्र के रूप में निर्मित देश की प्रतिमा को सिर्फ 6 सालों में एक सामर्थ्यशाली राष्ट्र के रूप में प्रस्तुत करने में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की अभूतपूर्ण भूमिका रही है।

स्वंय के लिए और अपने परिजनों के लिए ग्रंथ का पंजियन करें!
ग्रंथ का मूल्य 500/-
प्रकाशन पूर्व मूल्य 400/- (30 नवम्बर 2019 तक)

पंजियन के लिए कृपया फोटो पर क्लिक करें

%d bloggers like this: