हिंदी विवेक : we work for better world...

 

क्या आप मंहगी दवाइयां खा खाकर उसके साइड इफेक्ट से परेशान हो चुके हो तो आप को राहत दिला सकती है ‘‘ न्यूरोथेरेपी ’’. बिना कोई दवाई लिये बिना किसी साइड इफेक्ट के 100 प्रतिशत प्राकृतिक न्यूरोथेरेपी आपकी बीमारी के लिये वरदान साबित हो सकती है .

न्यूरोथेरेपी एक नई उभरी हुई भारतीय पद्धति है जिसमें रोगी के शरीर पर प्रेशर देकर उन्हें ठीक किया जाता है . जब शरीर के अंगो की कार्य प्रणाली बिगड़ जाती है तब उनके बनने वाले अन्जाइम केमिकल या हारमोस नहीं बनते जिसके कारण हम बी मार होते हैं . प्रेशर के द्वारा उन अंगों को उकसाया जाता है, रक्त का प्रवाह ठीक किया जाता है जिसके कारण वो कार्य प्रणाली वापस कार्यरत हो जाती है और रोगी ठीक हो जाता है

पिछले 26 सालों से न्यूरोथेरेपी प्रैक्टिस कर रही श्रीमती कमलेश चव्हाण का कहना है कि इसमें असाध्य और पुराने से पुराने रोगों का निदान भी आसानी से हो जाता है . जैसे किसी भी प्रकार का शारीरिक दर्द, कमर दर्द, घुटना दर्द, गर्दन दर्द या आरथराइटिस हो, ब्लड प्रेशर ज्यादा हो या कम हो, डायबीटीज हो या हायपोग्लायसिमीया हो, क्रानिक फटीग हो या थायराइड की तकलीफ हो, और तो की माहवारी की तकलीफें, पी . सी . ओ . डी . ओवरी सिस्ट, फाइबराइड या इनफरटीलिटी ; सभी में न्यूरोथेरेपी कारगार है ऐसे कई पेंशट ठीक हो चुके हैं पारकिन्सन, मस्कयूलर डिस्ट्राकी, न्यूरोपथी, पुराने जखम, हार्ट की बिमारी, किडनी स्टोन या किडनी फेलयूर हार्ट के रोगी यहां आकर राहत पाते हैं .

आप्टीजम का पेशंट जो न तो सुन सकता था न ही समझ सकता था यहां तक कि उसका आई-कान्टेक भी नहीं था ; न्यूरोथेरेपी के उपचार के बाद उसका आप्टीजम पूरी तरह ठीक हो गया. ऐसे अनगिनत केस हैं जिनमें इस पद्धति से उपचार के उपरांत मरीज पूरी तरह स्वस्थ हो गए . न्यूरोथेरेपी के मुंबई में अंधेरी के वर्सोवा और लोखंडवाला में तथा नवी मुंबई में वाशी में सेन्टर हैं.

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu