हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...

 फेसबुक के जनक मार्क जुकेरबर्ग

आज फेसबुक पूरी दुनिया में काम में ली जाती है ।क्या आप जानते हैं कि फेसबुक कैसे बनी और उसके संस्थापक कौन है? तो हम आपको बताते हैं फेसबुक बनाने वाले कोई और नहीं फेसबुक के सीईओ मार्क ज़ुकेरबर्ग है। 14 मई 1984 को उनका जन्म विएत प्लेन्स न्यूयॉर्क में हुआ। उनका जन्म एक यहूदी परिवार में हुआ मार्क ज़ुकेरबर्ग की तीन बहने हैं उनके पिता एडवर्ड ज़ुकेरबर्ग एक मनोचिकित्सक थे ।मार्क जुकरबर्ग ने प्रोग्रामिंग तभी से शुरू कर दी थी जब वह मिडिल स्कूल में थे। उनकी रुचि कंप्यूटर प्रोग्राम, संचार उपकरण और खेल में थी। हाई स्कूल में उन्होंने ग्रीक रोमनिय भाषा का अध्ययन किया और माध्यमिक शिक्षा के लिए उन्हें फिलिप्स एक्सेटर अकादमी हैम्पशायर भेजा गया ।उन्हें विज्ञान, साहित्य अभ्यास में कई पुरस्कार मिले।

हाई स्कूल की शिक्षा पास कर फिर वह हार्वर्ड विश्वविद्यालय गए वहां से उन्होंने एडुआर्डो , डस्टिन मॉस्कोविट्ज़, मैकालाम और हाज के साथ मिलकर फेसबुक की स्थापना की। मार्क जुकरबर्ग ने अपने हार्वर्ड छात्रालय के कमरे से फेसबुक का प्रारंभ 4 फरवरी 2004 को किया। बाद में फेसबुक को यूनिवर्सिटी के दूसरे लोगों तक पहुंचाया । फिर धीरे-धीरे लोग इससे जुड़ने लगे और पसंद करने लगे। 2012 तक एक मिलियन से भी ज्यादा लोग फेसबुक का उपयोग करने लगे ।नवंबर 2017 तक उनकी व्यक्तिगत संपत्ति 74.2 बिलियन डॉलर बताई गई है।
मार्क ज़ुकेरबर्ग ने दिसंबर 2012 में अपनी पत्नी प्रिसिला चान  के साथ मिलकर घोषणा की थी कि वह अपनी संपत्ति का ज्यादा से ज्यादा भाग मानवता और समानता को बढ़ाने के लिए देंगे। 2010 में टाइम्स पत्रिका ने मार्क ज़ुकेरबर्ग के नाम दुनिया के सबसे अमीर एवं प्रतिभावान सौ व्यक्तियों की सूची में शामिल किया। साथ में वे पर्सन ऑफ द ईयर भी रह चुके हैं।
मार्क ज़ुकेरबर्ग भारत की यात्रा पर आ चुके हैं ।अक्टूबर 2015 में भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निमंत्रण पर वह भारत आए। भारत यात्रा पर उन्होंने आगरा में ताजमहल देखा और अपनी उम्मीद से कहीं ज्यादा सुंदर भी बताया। मार्क ज़ुकेरबर्ग फेसबुक के साथ इंस्टाग्राम और व्हाट्स अप के सिइओ भी बन चुके हैं।

14 मई की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ –

  • फ्रांसमें 1610 में हेनरी IV की हत्या और लुईस XIII फ्रांस की गद्दी पर बैठा।
  • नीदरलैंड और इंग्लैंड ने 1702 में स्पेन औरफ्रांस के खिलाफ़ युद्ध की घोषणा की।
  • पराग्वे 1811 में स्पेन की पराधीनता से मुक्त हुआ।
  • थॉमस एडिसन1879 में यूरोप की एडिसन टेलीफोन कंपनी से जुड़े।
  • सन 1908 में पहली बार किसी व्यक्ति ने हवाई जहाज में उड़ान भरी।
  • 36,000 परशियन यहूदी को 1941 में गिरफ्तार किया गया।
  • ब्रिटिश सैनिकों ने 1944 में कोहिमा पर कब्जा किया।
  • इजराइल ने 1948 में ब्रिटेन से स्वतंत्रता की घोषणा की।
  • कुवैत 1963 में संयुक्त राष्ट्र का 111 वां सदस्य बना।
  • अमेरिकाके सुप्रीम कोर्ट ने 1973 में सेना में महिलाओं के समान अधिकार को मंजूरी दी।
  • नासा ने 1981 में स्पेश व्हिकल S-192 लांच किया।
  • सदी का आखिरी विश्व कप क्रिकेट की लॉडर्स (इंग्लैंड) में 1999 में शुरुआत।
  • भारत और मलेशिया में 2001 में सात समझौते।
  • न्यूयार्क टाइम्स के प्रबंध सम्पादक और पुलित्जर पुरस्कार विजेता ए.एम.रोसेंथल का 2006 में निधन।
  • जापानने 2007 में अपने शांतिवादी संविधान में संशोधन सम्बन्धी विधेयक को मंजूरी दी।
  • टाइम्स एनआईई ने 2008 में इंटरनेशनल न्यूजपेपर मार्केटिंग एसोसियेशन (इनमा) अवार्ड-2008 जीता।
  • भारत-रूस के बीच 2010 में रक्षा, परमाणु ऊर्जा, अंतरिक्ष, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, हाइड्रोकार्बन, व्यापार एवं निवेश आदि में 22 समझोते हुए।
  • इजरायल की जेलों में बंद 1500 फिलीस्तीनी कैदी 2012 में भूख हड़ताल समाप्त करने पर सहमत हुए।
  • ब्राजील2013 में समलैंगिक विवाह को मान्यता देने वाला 15वां देश बना।

14 मई को जन्मे व्यक्ति 

  • शिवाजी के ज्येष्ठ पुत्र और उत्तराधिकारी संभाजी का 1657 को जन्म हुआ।
  • प्रसिद्धस्वतंत्रता सेनानी और राजनीतिक कार्यकर्ता अरुण चन्द्र गुहा का 1892 में जन्म हुआ।
  • प्रसिद्ध न्यायविद, अधिवक्ता और शिक्षाशास्त्री अल्लादि कृष्णास्वामी अय्यर का 1883 में जन्म हुआ।
  • क्रोएशिया के राष्ट्रपति फ़्रांजो टडमैन का 1922 में जन्म हुआ।
  • भारतीय फ़िल्मों के प्रसिद्ध निर्माता व निर्देशक मृणाल सेन का 1923 में जन्म हुआ।
  • भारतीय आविष्कारक और कंप्यूटर वैज्ञानिक प्रणव मिस्त्री का 1981 में जन्म हुआ।
  • फेसबुक के संस्थापकमार्क जुकरबर्ग का 1984 में आज ही के दिन जन्म हुआ।

14 मई को हुए निधन 

  • भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष एन.जी.चन्दावरकर का निधन 1923 में हुआ।
  • अल्ला बख़्श का निधन 1943 में हुआ अंग्रेज़ी शासन के दौरान एक जमींदार, सरकारी ठेकेदार, स्वतंत्रता संग्राम सेनानी एवं राजनेता थे।
  • प्रख्यात विद्वान् तथा राजनीतिक नेता डॉक्टर रघुवीर का निधन 1963 में हुआ।
  • प्रसिद्ध नाटककार जगदीशचन्द्र माथुर का निधन 1978 में हुआ।
  • ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित मराठी कवि वृंदा करंदीकर का निधन 2010 में हुआ।
  • किसान नेता महेन्द्र सिंह टिकैत का निधन 2011 में हुआ।
  • तमिल विद्वान् एवं लेखक कंडासामी कुप्पुसामी का निधन 2016 मे हुआ।

 

 

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu

विगत 6 वर्षों से देश में हो रहे आमूलाग्र और सशक्त परिवर्तनों के साक्षी होने का भाग्य हमें प्राप्त हुआ है। भ्रष्ट प्रशासन, दुर्लक्षित जनता और असुरक्षित राष्ट्र के रूप में निर्मित देश की प्रतिमा को सिर्फ 6 सालों में एक सामर्थ्यशाली राष्ट्र के रूप में प्रस्तुत करने में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की अभूतपूर्ण भूमिका रही है।

स्वंय के लिए और अपने परिजनों के लिए ग्रंथ का पंजियन करें!
ग्रंथ का मूल्य 500/-
प्रकाशन पूर्व मूल्य 400/- (30 नवम्बर 2019 तक)

पंजियन के लिए कृपया फोटो पर क्लिक करें

%d bloggers like this: