हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...

श्रीलंका से सिखे आतंकवाद का कैसे करे खात्मा

18 मई 2009 को श्रीलंका की सरकार ने 25 साल से तमिल विद्रोहियों के साथ हो रही जंग के खत्म होने का एलान किया. सेना ने देश के उत्तरी हिस्से पर कब्जा किया और लिट्टे प्रमुख वेलुपिल्लई प्रभाकरन को मार डाला गया.

सेना के मुताबिक अंतिम लड़ाई में 250 विद्रोही मारे गए. 72,000 लोग युद्ध से ग्रस्त इलाकों को छोड़कर सुरक्षित जगह पहुंचे. संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक 2009 में 20 जनवरी और 7 मई के बीच 7,000 लोग मारे गए थे. अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने वहां युद्ध अपराधों के जांच की मांग की है.
हाल ही में मानवाधिकार एमनेस्टी इंटरनेशनल ने अपनी एक रिपोर्ट में कहा कि श्रीलंका में मानवाधिकार की स्थिति काफी खराब है. रिपोर्ट में कुमार नाम के एक लड़के का अनुभव बताया गया है जिसे 16 साल की उम्र में लिट्टे का सैनिक बना दिया गया.
मई 2011 में उसने अपने वकील को बताया, “मुझे अपने परिवारवालों से संपर्क करने से रोका गया और हमसे कोई भी मिलने नहीं आता था.” लिट्टे बाल सैनिकों को शामिल करने के लिए जाना जाता था. लेकिन श्रीलंका की सरकार पर भी युद्ध अपराधों का साया है. लड़ाई के दौरान श्रीलंका की सरकार कई लोगों को बिना सबूत के अपनी हिरासत में ले लेती थी.
एमनेस्टी की रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि सरकार की आलोचना करने वाले ज्यादातर लोगों को सजा दी जाती है. सरकार आतंकवाद निरोधी कानून का भी इस्तेमाल करती है. इसके तहत लोगों को शक के आधार पर 18 महीने तक हिरासत में रखा जा सकता है. 2009 में पत्रकार जेएस तिस्सईनायगम को इस कानून के तहत 20 साल की सजा दी गई. उन्होंने लड़ाई के दौरान श्रीलंकाई सेना के बर्ताव की निंदा की थी. 2010 में उन्हें माफ कर दिया गया और वे देश से बाहर चले गए.

 

18 मई की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ –

  • जर्मनीमें पहली नेशनल एसेंबली का उद्घाटन 1848 में हुआ।
  • 1912 में आज ही के दिन पहली भारतीय फीचर लेंथ फिल्‍म श्री पुंडा‍लिक रिलीज हुई।
  • उत्तरी एटलांटिक संधि पर हस्ताक्षर करने के एक साल बाद 1950 में इसी दिन विश्व के 12 देशों ने अमरीका और यूरोप की रक्षा के लिए एक स्थाई संगठन पर
    सहमति दी थी।
  • 1974 में आज ही के दिनराजस्थान के पोख़रण में अपने पहले भूमिगत परमाणु बम परीक्षण के साथ भारत परमाणु शक्ति संपन्न देश बना था। इस परीक्षण को
    ‘स्माइलिंग बुद्धा’ का नाम दिया गया था।
  • नेपालनरेश को 2006 को कर के दायरे में लाया गया।
  • कजाकिस्तान के राष्ट्रपति नूर सुल्तान नजर वायेव का कार्यकाल 2007 को असीमित समय के लिए बढ़ा।
  • पार्श्वगायक नितिन मुकेश को 2008 में मध्य प्रदेश सरकार ने राष्ट्रीयलता मंगेशकर अलंकरण से सम्मानित किया।
  • भारतीय मूल के लेखक इन्द्रा सिन्हा को 2008 में उनकी किताब एनिमल पीपुल हेतु कामनवेल्थ सम्मान प्रदान किया गया।
  • श्रीलंकाकी सरकार ने 25 साल से तमिल विद्रोहियों के साथ हो रही जंग के खत्म होने का एलान किया। सेना ने देश के उत्तरी हिस्से पर 2009 में कब्जा किया और
    लिट्टे प्रमुख वेलुपिल्लई प्रभाकरन को मार डाला गया।

18 मई को जन्मे व्यक्ति 

दोस्तों आईये अब आगे जानते हैं की इतिहास में कौनसे महान व्यक्ति के आज के दिन यानी 18 मई के दिन इस दुनिया में जन्म लिया।

  • भारतीय रिज़र्व बैंक के दसवें गवर्नर एस. जगन्नाथन का जन्म 1914 में हुआ।
  • नार्वे में जन्मे मनोचिकित्सक जर्डा बोयेसन का जन्म 1922 में हुआ।
  • डेनमार्की संगीतकार काई वाइंडिंग का जन्म 1922 में हुआ।
  • भारतके बारहवें प्रधानमंत्री एच डी देवगौड़ा का जन्म 1933 में हुआ।

18 मई को हुए निधन

अब इसके आगे जानते हैं की इतिहास में कौनसे महान व्यक्ति ने आज के दिन यानी 18 मई के दिन इस दुनिया को अलविदा कहा।

  • भारत के सुप्रसिद्ध वनस्पति विज्ञानी पंचानन माहेश्वरी का निधन 1966 में हुआ।
  • प्रसिद्ध धार्मिक गुरु जय गुरुदेव का निधन 2012 में हुआ।
  • हिन्दी फ़िल्मों की शानदार अभिनेत्री रीमा लागू का निधन 2017 में हुआ।
  • भारत सरकार में पर्यावरण, वन तथा जलवायु परिवर्तन राज्यमंत्री अनिल माधब दवे का निधन 2017 में हुआ

18 मई के महत्त्वपूर्ण अवसर एवं उत्सव 

  • पोखरन परमाणु विस्फोट दिवस (1974)
  • संग्रहालय दिवस

 

 

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu
%d bloggers like this: