हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...

हर दिन खूबसूरत दिखने के लिए हम क्या-क्या नहीं करते ! ख़ूबसूरत इसलिए नहीं कि दूसरों से बेहतर दिखें, ख़ूबसूरत इसलिए कि सबको पसंद आ सकें। और इस इच्छा के चलते काफी मेहनत करते हैं हम, काफी ख़र्चा भी। महंगे कॉस्मेटिक्स, महंगे  कपड़े, महंगे जूते-सैंडल्स, महंगे चश्में, महंगे कफलिंग्स, महंगे घड़ी, महंगे ईयररिंग्स, महंगे कंगन, फिर तरह-तरह के हेयरस्टाइल, और इस सबपे लगने वाला एक्स्ट्रा टाइम- सबकुछ  बस न्यौछावर…कि हम ख़ूबसूरत रहें, आकर्षित रहें, कामयाब रहें।

लेकिन क्या वाक़ई खूबसूरत और आकर्षक बनने के लिए इन्हीं चीजों की ज़रूरत होती है हमें? यदि हाँ, तो फिर ऐसा क्यों होता है कि हमारी इतनी तैयारियों के बावजूद भी जब हम किसी बच्चे के साथ होते  हैं तो इस आकर्षण और ख़ूबसूरती की प्रतियोगिता में वो हमें पछाड़ देता है। अगर कोई भी हमसे पूछे कि इस सम्पूर्ण विश्व में सबसे खूबसूरत क्या है- फूल, पक्षी, चाँद, तारे,  इत्यादि- इत्यादि तो क्या स्वतः ही हमारे मुख से नहीं निकलता – “बच्चे”। और इसमें कोई दो राय भी नहीं। एक मुस्कुराते हुए बच्चे से ज़्यादा खूबसूरत इस सृष्टि में कुछ भी नहीं।

लेकिन ये बच्चे तो जन्म लेते ही ऐसा कुछ भी नहीं करते – ना हेयरस्टाइल, ना कॉस्मेटिक्स- तो फिर ऐसा क्या है जो इन्हें इतना आकर्षक बनाता है। इतना ख़ूबसूरत कि ये सबपर भारी पड़ते हैं? तो इसका सीधा सा उत्तर है –  “मुस्कुराहट”।  मनुष्य की मुस्कुराहट ही है जो उसे वास्तविक खूबसूरती प्रदान करती है। और कैसी विडंबना है कि अपनी ज़िंदगी की दौड़ धूप में , क़ामयाबी के संघर्ष में, बेहतरीन जीवन की जद्दोजेहद में सबसे पहले जो हमारी ज़िंदगी में मुरझाता है वो है हमारी मुस्कुराहट का फूल

संघर्ष निश्चित ही हर मनुष्य के जीवन में है, हर पल है, लेकिन इस लड़ाई में कुछ अगर हमें जीवित रखने की क्षमता रखता है तो वह है हमारी मुस्कुराहट। और यही बनाती है हमें सबसे अलग, सबसे ख़ूबसूरत, सबसे आकर्षक, सबसे सफ़ल। मेडिकल साइन्स भी इस बात की पुष्टि कर चुकी है कि मुस्कुराहट के साथ अपने दिन की शुरुआत करने वाले लोगों को तनाव अपना शिकार नहीं बना पाता  लेकिन तनाव का आसान शिकार होते हैं वे लोग जिनको मुस्कुराने से परहेज़ है। तनाव ही क्यों, आस पास के लोग भी ऐसे लोगों से कतराते हैं, हर व्यक्ति खुशियों में जीना चाहता है ख़ुश रहने वालों के साथ रहना चाहता है। तो अगर आप स्वयं खुशियां बाँटने का बीड़ा उठाएंगे तो निश्चित ही अपना और दूसरों का जीवन बेहतर बना सकेंगे। आपकी मुस्कुराहट आपको उत्साह प्रदान करेगी, सकारात्मक सोच प्रदान करेगी। मुस्कुराहट के अपने स्वास्थ्य लाभ  भी हैं । जितना तेज आपके चेहरे पर किसी मेकअप को पहनकर आता है उससे कहीं अधिक तेज एक हल्की सी मुस्कुराहट आपके चेहरे को देती है। आप स्वतः ही ख़ूबसूरत और आकर्षक लगते हैं- बिना किसी ख़र्चे के !

आपका कार्यालय हो या घर, अगर मुस्कुराहट साथ रखकर आप हर कार्य करेंगे तो आपके ख़ूबसूरत  व्यक्तित्व की चर्चा तो हर जगह होगी ही, साथ ही, आप अपनी और दूसरों की मुश्किलों को आसान भी कर सकेंगे।

जैसे हर बात के पीछे एक वजह ज़रूरी होती है, वैसे ही मुस्कुराते रहने के लिए भी हम सबको कोई न कोई वजह चाहिए होती है- ऐसी दलीलें बहुत से लोग देते हैं। किन्तु आप इस सृष्टि की सबसे बहुमूल्य  और उत्तम रचना हैं, क्या ये एक वजह काफ़ी नहीं मुस्कुराने के लिए? अपने व्यक्तित्व को मुस्कुराहट का सौन्दर्य प्रदान तो कीजिये  और फिर देखिए, कितने चमत्कार होते हैं जीवन में। क्योंकि मुस्कुराहट से  सजीला कुछ भी नहीं।

 

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu

विगत 6 वर्षों से देश में हो रहे आमूलाग्र और सशक्त परिवर्तनों के साक्षी होने का भाग्य हमें प्राप्त हुआ है। भ्रष्ट प्रशासन, दुर्लक्षित जनता और असुरक्षित राष्ट्र के रूप में निर्मित देश की प्रतिमा को सिर्फ 6 सालों में एक सामर्थ्यशाली राष्ट्र के रूप में प्रस्तुत करने में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की अभूतपूर्ण भूमिका रही है।

स्वंय के लिए और अपने परिजनों के लिए ग्रंथ का पंजियन करें!
ग्रंथ का मूल्य 500/-
प्रकाशन पूर्व मूल्य 400/- (30 नवम्बर 2019 तक)

पंजियन के लिए कृपया फोटो पर क्लिक करें

%d bloggers like this: