हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...

 

3.5*/5

किसी   फ़िल्म की कमियां कब पता चलती हैं ? जब वह बोर करने लगती है, सीन कुछ लंबे लगने लगते हैं, सीन दर सीन दोहराव नज़र आने लगता है और अंत के पहले अच्छा – खासा इंतज़ार करना पड़ता है।

अभिनव देव की फ़िल्म ब्लैकमेल इन सबसे अछूती नहीं है। लेकिन इन कमियों पर फ़िल्म की अच्छाई और ईमानदारी भारी पड़ती है। फ़िल्म की कहानी टॉयलेट पेपर कंपनी में काम करने वाले देव ( इरफ़ान खान ) की है। एक रात ऑफिस से घर आने पर वह अपनी पत्नी ( कीर्ति कुल्हारी ) को उसके प्रेमी रंजीत ( अरुणोदय सिंह ) के साथ पाता है। देव उन्हें सबक सिखाने का निर्णय लेता है, लेकिन उसका बदला लेने का तरीका अनूठा होता है। होम लोन और कुछ अन्य हिसाब चुकता करने के लिए वह इन दोनों को ब्लैकमेल करना शुरू कर देता है। यहां से कहानी आगे बढ़ने लगती है और देव अपने द्वारा बुने गए जाल में स्वयं को फंसा पाता है। क्या देव इस जाल से निकल पाएगा ? क्या देव का बदला पूरा होगा ? आगे फ़िल्म इन्हीं सवालों के ज़वाब देती है।

फ़िल्म की कमियां –

फ़िल्म की शुरुआत धीमी है। कुछ सीन लंबे हैं, जो बोर करने लगते हैं। इरफ़ान के बॉस बने ओमी वैद्य ज़्यादा प्रभावित नहीं कर पाते। कहीं – कहीं फ़िल्म नीरस सी लगने लगती है। मध्यांतर के बाद फ़िल्म को ज़्यादा खींचा गया प्रतीत होता है। दर्शक को यह खलता है। फ़िल्म के संवादों पर और काम किया जा सकता था।

फ़िल्म की ख़ासियत –

। फ़िल्म का बैकग्राउंड स्कोर काफी अच्छा है। अमित त्रिवेदी और डिवाइन की जुगलबंदी से तैयार गीत ” बदला ” फ़िल्म की जान है। कहानी का अंत दर्शकों को अच्छा लगेगा। गुरू रंधावा का गीत ” पटोला ” मध्य में रखा जाना चाहिये था। फिर भी कई दर्शक पूरा गीत देखने के बाद ही कुर्सी छोड़ते हैं।

अभिनय :- फ़िल्म में इरफ़ान खान ने बेहतरीन अदाकारी की है। कीर्ति कुल्हारी खूबसूरत लगती हैं। इरफ़ान के बाद काफी हद तक फ़िल्म अरुणोदय सिंह के कंधों पर टिकी हुई थी। उन्होंने अपने अभिनय से फ़िल्म को बेहतर ही किया है। दोस्त के किरदार में प्रद्युम्न सिंह लाज़वाब हैं। दिव्या दत्ता के अभिनय में नुक्स निकालना ही गलत होगा। गजराज राव, अतुल काले, अनुजा साठे ने अच्छा काम किया है। राइटर परवेज शेख ने कहानी में अच्छी सिचुएशन रची है। बस कहीं – कहीं बोरियत होती है। अंत में अभिनव देव का निर्देशन प्रभाव छोड़ता है”

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu
%d bloggers like this: