हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...

पश्चिम बंगाल में लगातार जारी राजनीतिक हिंसा थमने का नाम नहीं ले रहा है। ममता बैनर्जी के राज में कानून व्यवस्था चरमरा गई है। सिलसिलेवार ढंग से भाजपा कार्यकर्ताओं की हो रही हत्या के विरोध में कल पार्टी ने बंद पुकारा और पुरे बंगाल में यह दिन ब्लैक डे के तौर पर मनाया गया। बंगाल सहित पूरे देश से यह मांग उठ रही है कि जल्द से जल्द यहां राष्ट्रपति शासन लगाया जाए वरना बंगाल में इसी प्रकार हिंसा, हत्या का खूनी खेल चलता रहेगा। इसी दौरान गृह मंत्री अमित शाह ने आतंरिक सुरक्षा और बंगाल में फैली हिंसा को लेकर कल बैठक बुलाई। जिसमें एनएसए अजीत डोभाल भी मौजूद थे। इसके अलावा बंगाल के राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भेंट की। सुरक्षा पर बैठक को लेकर भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा है कि बंगाल में जारी हिंसा को रोकने के लिए वहां राष्ट्रपति शासन लग सकता है। क्या ममता बनर्जी के संरक्षण में हो रही राजनीतिक हिंसा और हत्याओं के क्रम को रोकने के लिए मोदी सरकार को बंगाल में तत्काल राष्ट्रपति शासन लगाना चाहिए ? अपनी बेबाक राय दें…

This Post Has One Comment

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu