हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...

मैं बर्लिन वाला हूं ” – अमेरिकी राष्ट्रपति

अमेरिका के राष्ट्रपति जॉन एफ केनेडी ने 1963 में आज के दिन पश्चिम बर्लिन में ऐतिहासिक भाषण दिया था. इस भाषण में उन्होंने कहा था ‘इष बिन आइन बर्लिनर’. इसे याद किए जाने के दो कारण हैं.

पहला कारण तो यह कि “मैं बर्लिन वाला हूं”, ऐसा कह कर वे दीवारों में घिरे पश्चिम बर्लिन के लोगों के साथ एकजुटता दिखाना चाहते थे और बताना चाहते थे कि वे अपने को अकेला महसूस न करें. दूसरे यह कि जर्मन भाषा में बर्लिनर एक तरह के ब्रेड का नाम है. इस कारण यह बात मजाक बन गई.

द्वितीय विश्व युद्ध के बाद जर्मनी अमेरिका, फ्रांस, ब्रिटेन और सोवियत यूनियन के कब्जे में था. 1963 में अपने इस भाषण से अमेरिका ने स्पष्ट रूप से यह संदेश सामने रखा था कि वह लोकतांत्रिक बर्लिन के साथ है. सोवियत संघ के प्रभाव वाले पूर्वी जर्मनी की कम्युनिस्ट पार्टी ने 1961 में पूर्वी जर्मनी से बर्लिन की ओर लोगों के पलायन को रोकने के लिए बर्लिन की दीवार खड़ी कर दी. हालांकि उन्होंने इसका कारण यह बताया था कि वे पश्चिमी जर्मनी से हो रही जासूसी से बचने के लिए ऐसा कर रहे हैं, लेकिन असल कारण काफी स्पष्ट था.

अमेरिका पर इस बात का भी दबाव था कि वह बर्लिन दीवार को बनने से रोकने में कोई भूमिका नहीं निभा पाया. इस समय आधिकारिक तौर पर बर्लिन चारों विजयी ताकतों के प्रभाव में था. केनेडी के इस भाषण ने यह भी स्पष्ट कर दिया कि पूर्वी बर्लिन जर्मनी के दूसरे पूर्वी हिस्सों की तरह सोवियत संघ के अधिकार में है और अमेरिका का समर्थन पश्चिमी बर्लिन को है.

26 जून की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ 

  • चीन में पहला टूथ ब्रश 1498 में बनाया गया। पहली बार आधुनिक टूथब्रश के पहले मॉडल का चीन के एक राजा ने पेटेंट करवाया था।
  • स्पेन और नीदरलैंड ने 1714 में व्यापार एवं शांति समझौते पर हस्ताक्षर किये।
  • जर्मनीके कार्ल बेन्ज़ ने 1894 में गैस से चलने वाले ऑटो का अमेरिकी पेटेंट हासिल किया।
  • पहली ग्रां प्री का आयोजन 1906 में हुआ था। यह प्रतिस्‍पर्द्धा 12 घंटे चली थी।
  • लंदन में विक्टोरिया और अल्बर्ट संग्रहालय 1909 मे खोले गये।
  • अमेरिकामें न्यूयॉर्क डेली न्यूज का प्रकाशन 1919 में शुरू हुआ।
  • संवाद सिनेमा ने 1927 को अपना जीवन आरंभ किया। फ़िल्म निर्माण का काम आरंभ होने से ही निरंतर इस बात का प्रयास किया गया कि ऐसी फ़िल्में बनाई जाएं जिसमें संवाद भी हो।
  • द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान फिनलैंड ने 1941 में रूस के खिलाफ मोर्चा खोला।
  • सेन फ्रांसिस्को में 50 देशों ने 1945 में संयुक्त राष्ट्र घोषणा पत्र पर हस्ताक्षर किये।
  • बेल्जियम के संसदीय चुनाव में 1949 को पहली बार महिलाओं को मतदान का अधिकार मिला।
  • नेल्सन मंडेलाऔर 51 अन्य लोगों ने 1952 में दक्षिण अफ्रीका में कर्फ्यू का उल्लंघन किया।
  • फ़्रांसके उपनिवेश मेडागास्कर को 1960 में स्वतंत्रता प्राप्त हुई। हर वर्ष आज का दिन इस देश में राष्ट्रीय दिवस के रुप में मनाया जाता है।
  • अमेरीकी राष्ट्रपति जॉन एफ़ कैनेडी ने 1963 में पश्चिमजर्मनी के शहर बर्लिन एक बहुत बड़ी भीड़ को संबोधित किया था। उन्होंने बर्लिन को शीत युद्ध के दौरान
    विश्व में स्वतंत्रता का प्रतीक बताया था।
  • भारत की प्रथम महिला प्रधानमंत्रीइंदिरा गांधी ने 1975 को देश में आपातकाल की घोषणा की।
  • एयर इंडिया का पहला बोइंग गौरीशंकर 1982 को मुंबई में दुर्घटनाग्रस्त हुआ।
  • पीएलओ नेता यासिर अराफात 1994 में 27 साल बाद गाजा लौटे।
  • बुडापेस्ट (हंगरी) में विश्व विज्ञान सम्मेलन की शुरुआत 1999 में हुई।
  • अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल द्वाराबांग्लादेश को 2000 में टेस्ट का दर्जा दिया गया।
  • पाकिस्तानके प्रधानमंत्री जमाली के इस्तीफे के बाद 2004 में शुजात हुसैन नये कार्यवाहक प्रधानमंत्री बने।
  • बहुर्राष्ट्रीय कम्पनी रियोरिटो ने 2008 में मध्य प्रदेश के बुन्देलखण्ड क्षेत्र में छतरपुर ज़िले के तहत हीरा खनन के लिए खनिज पट्टा माइनिंग लीज हासिल कर बंदर
    डायमंड प्रोजेक्ट शुरू करने की घोषणा की।
  • उत्तराखंडमें 2013 को एक बचाव हेलीकॉप्टर के दुर्घटनाग्रस्त होने से 20 लोग मारे गये।
  • कुवैत की शिया इमाम अल सादिक मस्जिद में 2015 को एक आत्मघाती हमले में 27 लोगों की मौत हो गयी तथा 227 लोग घायल हो गये।

26 जून को जन्मे व्यक्ति 

  • इटली के विख्यात नाविक और पर्यटक मार्को पोलो का वीनस में 1254 को जन्म हुआ।
  • नक्सबंदी पंथ के उलेमा शेख अहमद सरहिंदी का जन्म 1564 में हुआ।
  • मराठी रंगमंच के महान् नायक और प्रसिद्ध गायक बाल गन्धर्व का जन्म 1888 में हुआ।
  • परमवीर चक्र से सम्मानित भारतीय सैनिक सेकेंड लेफ्टिनेंट रामा राघोबा राणे का जन्म 1918 में हुआ।

26 जून को हुए निधन 

  • कनाडाकी ग्यारहवें प्रधानमंत्री रिचर्ड बेनेट का निधन 1947 में हुआ।
  • प्रसिद्ध साहित्यकार गोविंद शास्त्री दुगवेकर का निधन 1961 में हुआ।
  • भारतीय फ़िल्म निर्माता यश जौहर का निधन 2004 में हुआ।

 

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu

विगत 6 वर्षों से देश में हो रहे आमूलाग्र और सशक्त परिवर्तनों के साक्षी होने का भाग्य हमें प्राप्त हुआ है। भ्रष्ट प्रशासन, दुर्लक्षित जनता और असुरक्षित राष्ट्र के रूप में निर्मित देश की प्रतिमा को सिर्फ 6 सालों में एक सामर्थ्यशाली राष्ट्र के रूप में प्रस्तुत करने में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की अभूतपूर्ण भूमिका रही है।

स्वंय के लिए और अपने परिजनों के लिए ग्रंथ का पंजियन करें!
ग्रंथ का मूल्य 500/-
प्रकाशन पूर्व मूल्य 400/- (30 नवम्बर 2019 तक)

पंजियन के लिए कृपया फोटो पर क्लिक करें

%d bloggers like this: