हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा में विपक्षी पार्टी कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए आपातकाल की याद दिलाई और कहा कि सिर्फ सत्ता कायम रखने के लिए 25 जून की रात को देश की आत्मा को कुचल दिया गया था। उन्होंने आगे कहा कि हिंदुस्थान में लोकतंत्र संविधान के पन्नों से पैदा नहीं हुआ था, हिंदुस्थान में लोकतंत्र सदियों से हमारी आत्मा रहा है। उस आत्मा को कुचल कर, मीडिया को दबोच कर देश के महापुरुषों को सलाखों के पीछे बंद कर दिया गया था। देश को जेलखाना बना दिया गया था। न्यायपालिका का कैसे अनादर होता है उसका जीता जागता उदाहरण है आपातकाल। उस समय के जो भी इस पाप के भागीदार थे,ये दाग कभी मिटनेवाला नहीं है। इसका स्मरण करना भी जरूरी है ताकि फिर कोई पैदा न हो जिसे इस रास्ते पर जाने की इच्छा हो जाए। पीएम मोदी ने आईना दिखाकर लोकसभा में कांग्रेस को उसकी  करतूतों से रूबरू कराया। क्या सदैव सत्ता में कायम रहने के उद्देश्य से कांग्रेस ने भारत में आपातकाल लगाया था ? अपनी बेबाक राय दें.

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu
%d bloggers like this: