हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...
कश्मीर,कैराना के बाद अब मेरठ के मुस्लिम बहुल क्षेत्रों से भी  हिंदुओं का बड़ी संख्या में पलायन हो रहा है। स्थानीय लोगों के अनुसार मुस्लिम आबादी जान बूझकर सामूहिक रूप से एक षड्यंत्र के तहत गुंडागर्दी, अपराध,सरेआम महिलाओं से छेड़छाड़, फायरिंग,बीच सड़क पर बाइक स्टंट,स्नेचिंग,राह चलती महिलाओं के पल्लू और चुन्नी खिंची जाती है। हिंदुओं के घरों के सामने मांस और अन्य आपत्तिजनक वस्तुएं फेंकी जाती है। मारपीट,हत्या,रेप आदि वारदाते आम बात हो चली है। मेरठ के प्रह्लाद नगर,विकासपुरी, हरिनगर,पदमपुरी,रामनगर, आदि क्षेत्रों से करीबन 200 से अधिक हिन्दू परिवारों ने ‘मकान बिकाऊ है,प्लाट बिकाऊ है,’ का बोर्ड लगाकर घरबार छोड़कर पलायन कर चुके है।
ज्ञात हो कि एक समय था जब अखंड भारत की सीमाएं अफगानिस्तान-ईरान तक फैली हुई थी।जिहादी आक्रमणकारियों के चलते हिंदुओं ने पलायन करना शुरू कर दिया।जिन -जिन इलाकों से हिन्दू घटता गया, वह हिस्सा भारत से कटता चला गया।इसलिए कहा जाता है कि ‘जब- जब हिन्दू घटा,तब-तब देश बंटा’।देशविरोधी जिहादी मानसिकता और इस्लामिक राष्ट्र की स्थापना के लिए भारत देश के 3 टुकड़े किये गए।बावजूद इसके जिहादियों की भूख शांत नही हो रही।आजाद भारत में कश्मीरी हिंदुओं को खदेड़ने के बाद देश के अन्य मुस्लिम बहुल हिस्सों में भी हिंदुओं पर जुल्मों सितम जारी है।इसलिए हिंदुओं का पलायन लगातार जारी है।हालात बद से बदतर होते जा रहे है लेकिन सच्चाई जानते हुए भी राजनीतिक दल मूकदर्शक की भूमिका अदा कर रहे है और मुहं पर पट्टी बांधे हुए सेक्युलर खामोशी का प्रदर्शन कर रहे है।क्या समाज में विभाजन की लकीर खींचने वाले असामाजिक तत्वों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी ?

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu

विगत 6 वर्षों से देश में हो रहे आमूलाग्र और सशक्त परिवर्तनों के साक्षी होने का भाग्य हमें प्राप्त हुआ है। भ्रष्ट प्रशासन, दुर्लक्षित जनता और असुरक्षित राष्ट्र के रूप में निर्मित देश की प्रतिमा को सिर्फ 6 सालों में एक सामर्थ्यशाली राष्ट्र के रूप में प्रस्तुत करने में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की अभूतपूर्ण भूमिका रही है।

स्वंय के लिए और अपने परिजनों के लिए ग्रंथ का पंजियन करें!
ग्रंथ का मूल्य 500/-
प्रकाशन पूर्व मूल्य 400/- (30 नवम्बर 2019 तक)

पंजियन के लिए कृपया फोटो पर क्लिक करें

%d bloggers like this: