हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...

दो हिस्सों में कैसे बंटा सूडान

 

नौ जुलाई 2011 को अफ्रीका का सूडान दो हिस्सों में बंट गया. दक्षिणी हिस्सा रिपब्लिक ऑफ साउथ सूडान बना.

कई देशों के बीच बसा दक्षिण सूडान मध्यपूर्व अफ्रीका का हिस्सा है और दुनिया का 193वां देश है. इसकी राजधानी जूबा है. इसके पूर्व में इथोपिया, दक्षिण पूर्व में केन्या और दक्षिण में यूगांडा है. दक्षिण पश्चिम में इसकी सीमा कांगो से, पश्चिम में सेंट्रल अफ्रीकी गणतंत्र और उत्तर में सूडान से लगी हुई है.

9 जुलाई 2011 को सूडान एक जनमत संग्रह के बाद अलग देश बनाया गया. 98.83 फीसदी लोगों ने अलग देश के समर्थन में वोट किया.

अनुमान के मुताबिक दक्षिण सूडान की जनसंख्या 82 लाख 60 हजार के करीब है. देश का क्षेत्रफल 6,19,745 वर्ग किलोमीटर है. क्षेत्रफल के आधार पर दक्षिण सूडान स्पेन और पुर्तगाल के कुल आकार से बड़ा है. ईसाई बहुल आबादी वाले दक्षिण सूडान में चार भाषाएं लिखी और बोली जाती है. अधिकारिक भाषा अंग्रेजी है, लेकिन दिनका, नुएर, बारी, मुरले, जांडे यहां की राष्ट्रीय भाषाओं में शामिल हैं.

प्राकृतिक संसाधनों के मामले में दक्षिण सूडान धनी है. वहां कच्चे तेल का अपार भंडार है. लेकिन पाइपलाइनों के जरिए उत्तर सूडान से होकर तेल का निर्यात किया जाता है. अत्यधिक पिछड़े दक्षिण सूडान में आधारभूत संरचना न के बराबर है. देश में प्रसव के दौरान मृत्यु की दर बहुत ज्यादा है. शिक्षा की हालत इतनी खराब है कि 13 साल तक की उम्र के ज्यादातर बच्चे स्कूल नहीं जाते हैं. 84 फीसदी महिलाएं निरक्षर हैं.

 

1= 1816 – दक्षिणी अमेरिकी देश अर्जेटीना ने स्पेन से स्वतंत्रता हासिल की.
 2= 1852 -कनाडा के मांट्रियल शहर में 1100 निर्माणाधीन स्थल भयानक आग की चपेट में आने से खाक हो गये. 

 3= 1875 – बम्बई स्टाॅक एक्सचेंज की स्थापना.

 4= 1951 – प्रथम पंचवर्षीय योजना (1951-56)की शुरुआत. 

 5= 1969 – वन्यजीव बोर्ड की तरफ से शेर को देश का राष्ट्रीय पशु चुना गया.

 6= 1972 – सोवियत संघ ने भूमिगत परमाणु परीक्षण किया.

 7= 1973 – ब्रितानी महारानी के प्रतिनिधि के रूप में राजकुमार चार्ल्स ने 300 साल पुराने उपनिवेश बहामास में आख़िरी रात बिताई.

 8= 1991 – दक्षिण अफ्रीका को ओलंपिक खेलों में दोबारा भाग लेने की अनुमति मिली.

 9= 2000 – फिजी में जार्ज स्पीट तथा सैन्य नेताओं के मध्य समझौता सम्पन्न.

 10= 2001 – भारत द्वारा पाक सीमा पर दो चौकियां स्थापित करने की घोषणा. 

 11= 2002 – आर्गेनाइजेशन आफ़ अफ़्रीकन यूनिटी का नाम बदलकर अफ़्रीकन यूनियन किया गया. 

 12= 2002 – इथोपिया की राजधानी आदिस अबाबा में अफ्रीकी संघ की स्थापना. 

 13=  2002 – दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति थाबो म्बेकी इसके पहले अध्यक्ष बने.

 14= 2004 – एशियाई विकास बैंक ने आतंकवाद से लड़ने हेतु अपने 42 सदस्य देशों के लिए एक कोष बनाया. 

 15= 2006 – साइबेरिया के इरकुर्त्सक हवाई अड्डे के रनवे पर शिबिर एयरलाइंस ए 310 के दुर्घटनाग्रस्त हो जाने से कम से कम 122 लोगों की मौत. 

16=2007 – भारतीय मूल के अमेरिकी वैज्ञानिक हिमांशु जैन को ग्लास साइंस के क्षेत्र में ध्यातत्व कार्य हेतु ओट्टो स्कॉट रिसर्च पुरस्कार प्रदान किया गया.

 17= 2008 – ईरान ने लम्बी एवं मध्यम दूरी तक प्रहार क्षमता वाले नौ प्रक्षेपास्त्रों का परीक्षण किया. 

 18= 2011 – दक्षिण सूडान ने सूडान से स्वतंत्रता हासिल की. 

 

 1= सिलाई मशीन के आविष्‍कारक एलायस हाउ का जन्‍म 1819 में हुआ था.

 2= 1905 से 1910 ई. तक भारत का वाइसराय तथा गवर्नर-जनरल रहे लॉर्ड मिण्टो द्वितीय का जन्‍म 1845 में हुआ था.

3= राष्ट्रीय कांग्रेस’ के राजनेता, संसदीय मामलों के मंत्री तथा मध्य प्रदेश के भूतपूर्व राज्यपाल सत्य नारायण सिन्हा का जन्‍म 1900 में हुआ था.

 4= दूसरी लोकसभा के सदस्य मानकभाई अग्रवाल का जन्‍म 1923 में हुआ था.

 5= प्रसिद्ध अभिनेता एवं निर्देशक हिंदी फ़िल्मों में गुरु दत्त के नाम से प्रसिद्द वसंतकुमार शिवशंकर पादुकोण  का जन्‍म 1925 में हुआ था .

6= प्रसिद्ध फिल्म अभिनेता संजीव कुमार का जन्म का जन्‍म 1938 में हुआ था. 

 7= फ़िल्म निर्माता निर्देशक और पटकथा लेखक – के. बालाचंदर का जन्‍म 1930 में हुआ था. 

 

 1= धार्मिक उपदेशक चैतन्य देव का निधन 1533 में हुआ था. 

2= सुप्रसिद्ध शायर शेरी भोपाली का निधन 1991 में हुआ था. 

 

 1= राष्ट्रीय विद्यार्थी दिवस

 2= गुरु पूर्णिमा 

 

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu

विगत 6 वर्षों से देश में हो रहे आमूलाग्र और सशक्त परिवर्तनों के साक्षी होने का भाग्य हमें प्राप्त हुआ है। भ्रष्ट प्रशासन, दुर्लक्षित जनता और असुरक्षित राष्ट्र के रूप में निर्मित देश की प्रतिमा को सिर्फ 6 सालों में एक सामर्थ्यशाली राष्ट्र के रूप में प्रस्तुत करने में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की अभूतपूर्ण भूमिका रही है।

स्वंय के लिए और अपने परिजनों के लिए ग्रंथ का पंजियन करें!
ग्रंथ का मूल्य 500/-
प्रकाशन पूर्व मूल्य 400/- (30 नवम्बर 2019 तक)

पंजियन के लिए कृपया फोटो पर क्लिक करें

%d bloggers like this: