हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...

वर्ल्ड यूनिवर्सिटी गेम्स में भारत की महिला धावक दुती चंद ने १०० मीटर स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीत कर इतिहास रच दिया. इसके पहले यूनिवर्सिटी गेम्स के इतिहास में किसी भी भारतीय खिलाड़ी ने १०० मीटर स्पर्धा के फ़ाइनल में अपनी जगह नहीं बनाई थी. दुती चंद ने मात्र ११.३२ सेकेंड में १०० मीटर पार कर स्वर्ण पदक अपने नाम किया. स्विट्जरलैंड की डेल पोंट (११.३३ सेकेंड) दूसरे और जर्मनी की क्वायाई (११.३९ सेकेंड) तीसरे स्थान पर रहीं.

गौरतलब है कि पुरुष वर्ग में दुनिया के सबसे तेज धावक के रूप में जमैका के उसैन बोल्ट का नाम दर्ज है. उसी तरह अब महिला वर्ग में भारत की दुती चंद दुनिया की सबसे तेज धावक के रूप में अपना नाम दर्ज करा लिया है. क्रिकेट विश्वकप के सेमी फ़ाइनल से भारत के बाहर होने के बाद करोड़ो भारतीयों को निराशा हाथ लगी थी लेकिन महिला धावक दुती चंद ने स्वर्ण पदक जीतकर भारतीयों का दिल जीत लिया और भारत को गौरवान्वित किया. क्या क्रिकेट की तर्ज पर अन्य खेलों को सरकार प्राथमिकता देते हुए उसे बढ़ावा देंगी ? जिससे पूरे विश्व में भारत का नाम रोशन हो सके. अपनी बेबाक राय दें …

 

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu
%d bloggers like this: