हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...

अंतर्राष्ट्रीय अदालत (आईसीजे) ने पाकिस्तानी जेल में बंद कुलभूषण जाधव की मौत की सजा पर रोक लगा दी है. आईसीजे के १६ जजों में से १५ जजों ने भारत के पक्ष में अपना निर्णय दिया. केवल पाकिस्तान के एडहोक जज जिलानी ने इस पर अपना विरोध जताया. पाकिस्तान द्वारा वियना समझौते का उल्लंघन करने के कारण अदालत ने पाकिस्तान को फटकार लगाई और निर्देश दिया है कि वह फांसी की सजा की समीक्षा करें और तुरंत प्रभाव से कुलभूषण जाधव को उनके अधिकारों के बारे में बताये एवं उन्हें भारतीय अधिकारीयों से मिलने की इजाजत दें. भारत के पक्ष में अंतर्राष्ट्रीय अदालत का फैसला आने पर  कुलभूषण जाधव मामलें में पाकिस्तान के खिलाफ भारत की अंतर्राष्ट्रीय जीत माना जा रहा है. प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय अदालत में सच्चाई और न्याय की विजय हुई. कोर्ट ने तथ्यों पर अपना फैसला सुनाया है. मुझे विश्वास है कि जाधव को न्याय मिलेगा. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी इसे भारत की बड़ी जीत बताया है. बता दें कि देश के प्रसिद्ध वकील हरीश साल्वे ने महज एक रुपया बतौर अपनी फिस ली, वहीं पाकिस्तान के वकील खावर कुरैशी ने इस मामले में २० करोड़ रूपये लिए. क्या पाकिस्तान के विरुद्ध मोदी सरकार के नेतृत्व में भारत की यह अंतर्राष्ट्रीय जीत है ? अपनी बेबाक राय दें

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu

विगत 6 वर्षों से देश में हो रहे आमूलाग्र और सशक्त परिवर्तनों के साक्षी होने का भाग्य हमें प्राप्त हुआ है। भ्रष्ट प्रशासन, दुर्लक्षित जनता और असुरक्षित राष्ट्र के रूप में निर्मित देश की प्रतिमा को सिर्फ 6 सालों में एक सामर्थ्यशाली राष्ट्र के रूप में प्रस्तुत करने में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की अभूतपूर्ण भूमिका रही है।

स्वंय के लिए और अपने परिजनों के लिए ग्रंथ का पंजियन करें!
ग्रंथ का मूल्य 500/-
प्रकाशन पूर्व मूल्य 400/- (30 नवम्बर 2019 तक)

पंजियन के लिए कृपया फोटो पर क्लिक करें

%d bloggers like this: