हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...

फिटनेस का अर्थ है पूरी तरह से स्वस्थ रहना। फिटनेस दो प्रकार की होती है- फिजिकल फिटनेस और मेंटल फिटनेस अर्थात शारीरिक स्वास्थ्य और मानसिक स्वास्थ्य। फिजिकल फिटनेस का अर्थ है शरीर का पूरी तरह से स्वस्थ रहना और बीमारियों को खुद से दूर रखना। दूसरे शब्दों में कहें, तो फिट होने का मतलब शरीर बीमारियों से बचने में सक्षम होना है।

अब समझते हैं फैशन की परिभाषा. ’जर्नल ऑफ ड्रेस, बॉडी एंड कंटूर’ के अनुसार सामाजिक सभ्यता और संस्कृति के अनुसार कपड़ों से अपनी पहचान बनाना ही फैशन है। दूसरे शब्दों में कहें, तो फैशन सामनेवाले व्यक्ति की नजर में हमारे व्यक्तित्व को चित्रित करने में मदद करता है। हमारे कपड़े चुनने, उन्हें पहनने और उनके बारे में हमारी जानकारी आदि दुनिया को हमारे दृष्टिकोण का आरंभिक परिचय देता है।

कपड़ों के अलावा हमारा फर्नीचर, लक्जरी आइटम्स तथा हमारे द्वारा दिन-प्रतिदिन उपयोग में लाई जानेवाली अन्य वस्तुएं भी लोगों को हमारे फैशन सेंस का परिचय देती हैं। कहने का तात्पर्य यह है कि फैशन सिर्फ हमारे कपड़ों के जरिए हमारी कहानी नहीं कहता, बल्कि इसका विस्तार उससे कहीं आगे है।

अक्सर लोग फैशन और स्टाइल में कन्फ्यूज हो जाते हैं। आपको पता होना चाहिए कि फैशन और स्टाइल भले ही सुनने में एक जैसे शब्द लगते हों, लेकिन इन दोनों में बेहद बारीक अंतर है और वह यह कि फैशन समय के साथ बदलता है और स्टाइल लंबे समय में एक ही रहता है।

लोगों की फिटनेस चाहत पर है बाजार की पैनी नजर

फिजिकल फिटनेस के साथ-साथ आज के जमाने में मेंटल फिटनेस उतनी ही आवश्यक और लोकप्रिय है जितना कि किताबी ज्ञान। फिट है तो हिट है यह नारा लोगों के दिलोदिमाग पर छाया है। लोग फिटनेस के लिए अलग-अलग उपाय अपना रहे हैं और बाजार ने हमेशा की तरह लोगों की इस चाहत को समझते हुए अपना जाल फैला दिया है।

पुराने जमाने में स्वस्थ्य रहने के लिए लोग अपने खान-पान, कसरत, टहलने, समय पर सोने-जागने आदि जैसे क्रियाकलापों का अनुसरण करते थे। आज जिंदगी की बढ़ती भागदौड़, प्रदूषण, समयाभाव आदि की वजहों से कई बार हम लोग अपनी दैनिक दिनचर्या का अनुसरण नहीं कर पाते। नतीजा बैठे-बिठाए मोटापा, रक्तचाप, दिल की बीमारियां, मधुमेह आदि कई तरह की बीमारियों से ग्रस्त हो रहे हैं। ऐसी स्थिति में जब वे इलाज के लिए डॉक्टर के पास जाते हैं, तो वे उन्हें फिट रहने और उचित खान-पान अपनाने की सलाह देते हैं। बस यही से आपके जीवन में फिटनेस बाजार की घुसपैठ शुरू हो जाती है।

फिट ही नहीं, हिट भी रहना है

आज हम इस बात से इंकार नहीं कर सकते कि हमारी जिंदगी का एक बहुत बड़ा हिस्सा बाजार द्वारा संचालित होता है। वैसे तो खुद को फिट रखने के लिए हमारे पास योग-ध्यान, नृत्य, कसरत जैसे कई विकल्प मौजूद हैं, लेकिन बाजार कहता है कि जिम जाना एक बेहतरीन विकल्प है। इससे न सिर्फ फैट कम होता है, बल्कि हम कई बीमारियों से भी दूर रहते हैं। इस वजह से कई लोग जिम जाने लगे। इंटरनेट के इस जमाने में कई बॉलिवुड हस्तियां भी आए दिन अपनी जिम ट्रेनिंग और फिटनेस के फोटोज-वीडियोज आदि शेयर करके इसका प्रचार करती रहती हैं। शिल्पा शेट्टी, करीना कपूर, दीपिका पादुकोण, सलमान खान, जॉन अब्राहम आदि ऐसी बॉलिवुड हस्तियों को फिटनेस आइकॉन माना जाता है। उन्हें देख कर आज कई युवा ’जीरो साइज फिगर’ या एब्स पाने के लिए दिन-रात जिम में खून-पसीना बहाते दिखते हैं। इस ’फिटनेस रिवॉल्यूशन’ का असर फैशन इंडस्ट्री पर भी बखूबी हुआ है।

यहां तक कि योगगुरु स्वामी रामदेव ने भी जब भारत में योगासन की पुनर्वापसी करवाई, तो वहां भी बाजार ने अपना वर्चस्व जमा ही लिया। योगा मैट, ट्रैक सूट, हेयर बैंड्स, हैंड बैंड आदि आज योग-ध्यान करनेवाले लोगों की जरूरत में शामिल हो गए हैं।

फिटनेस प्रॉडक्ट्स के प्रकार

पहले लोग जिम वेयर या स्पोर्ट्स वेयर को उतना महत्व नहीं देते थे, लेकिन बाजार ने बताया कि अगर आप जिम में कसरत करने जाते हैं, तो शर्ट-पैंट, कुर्ता-पैजामा, सलवार-कमीज आदि वहां कुछ भी पहन कर तो नहीं जा सकते, क्योंकि अगर आप आराम महसूस ही नहीं करेंगे तो कसरत भी सही तरीके से नहीं कर पाएंगे। इस कारण अब हर शारीरिक कसरत के लिए अलग तरह के कपड़े और सहायक उत्पाद बाजार में उपलब्ध हैं।

जिम वेयर :

आमतौर पर जिम के लिए शॉर्टस या फ्लेक्सिबल पैंट्स और हल्के रंग के टॉप जैसे- योगा पैंट्स, बाइसिकल शॉर्ट्स आदि पहने जाते हैं। इसमें कई फेमस ब्रांडस हैं- एडिडास, लूसी, चैंपियन, द नॉर्थ फेस, बर्टन, एथलेटा, नाइक, पैटेगोनिया आदि।

ट्रैक सूट :

ट्रैक पैंट्स या स्वेट पैंट्स पॉलिएस्टर के बने हुए होते हैं, जिसे अधिकतर खेल कूद आदि के लिए पहना जाता हैं।

एरोबिक कॉस्ट्यूम :

मल्टीलेयर कॉस्ट्यूम जिसे ऐरोबिक्स और जुम्बा के लिए पहनते हैं।

जिमनास्टिक कॉस्ट्यूम :

इन्हें लियोटार्ड कहते हैं। ये नायलॉन या लैटेक्स के फिटिंग कपड़े होते हैं, ताकि जिमनास्टिक करने में परेशानी न हो।

स्विम वेयर :

ये स्विमिंग अर्थात तैराकी करने के दौरान पहने जानेवाले ड्रेसेज होते हैं । स्विम वेयर अमूमन नायलॉन या लैटेक्स के बने कपड़े होते हैं, जो स्वीमिंग या अंडरवाटर एक्टिविटीज में पहने जाते है।

एरोबिक शूज :

एरोबिक्स शूज या स्नीकर्स मोटे और लचीले जूते होते हैं जो पैरों के मूवमेंट में सहायता करते हैं।

स्पोर्ट्स शूज :

स्नीकर्स के मुकाबले स्पोर्ट्स शूज सख्त और अधिक मोटे होते हैं, लेकिन यह अच्छे शॉक एब्जौर्बर्स होते हैं। इससे आप हर तरह का हेवी से हेवी वर्कआउट कर सकते हैं।

फिटनेस बैंड :

हाथों में पहने जाने वाले इस बैंड में घड़ी के साथ साथ हार्ट बीट, ब्लड प्रेशर को भी चेक करने की तकनीक होती है।

हेड बैंड :

इलास्टिक हेड बैंड बालों को एक जगह रखने के लिए पहनते हैं।

फिटनेस प्रॉडक्ट्स के विभिन्न ब्रांड

इन सब चीजों के लिए बाजार में कई ब्रांड्स भी उपलब्ध हैं,

  1. नाइकी : अमेरिका का नामी ब्रांड नाइकी आमतौर पर खिलाड़ी और हिप हॉप सिंगर्स के बीच मशहूर है।

प्रॉडक्ट्स : फुटवियर, टिशर्ट, ट्रैक पैंट्स, जैकेट, बैग्स इत्यादि।

वेबसाइट : एमेजॉन, फ्लिपकार्ट,कूव्स, स्नैपडील, मिंत्रा, जैबॉन्ग, वूनिक, शॉपक्लुज।

विशेषता : एथलेटिक शूज, जिमवेयर इत्यादि।

  1. प्यूमा : जर्मन ब्रांड प्यूमा एडिडास और नाइकी के बाद दुनिया के सबसे मशहूर ब्रांड्स में से एक है।

प्रोडक्ट्स : शूज, फ्लोटर्स, टी-शर्ट, ट्रैक पैंट्स, ट्रैक सूट इत्यादि।

वेबसाइट : जाबोंग, मिंत्रा, फ्लिपकार्ट, एमेजॉन, स्नैपडील, वूनिक, कूव्स ।

विशेषता : जर्सी, फुटबॉल बूट्स, स्पोर्ट्स शूज।

  1. एडिडास : इस मल्टी बिलियनेयर जर्मन कंपनी की शुरुआत जूते की डिजाइन के साथ हुई थी। स्पोर्ट्स वेयर बनाने वाली यह दुनिया में दूसरी सबसे बड़ी कंपनी है। कई लोग अक्सर यह सोचते हैं कि इस कंपनी के नाम का मतलब ऑल डे आई ड्रीम अबाउट स्पोर्ट्स हैं, जबकि इस कंपनी का नाम इसके फाउंडर एडॉल्फ डॉजियर के नाम से रखा गया है – एडि (एडोल्फ) और डास (डासियर)।

प्रॉडक्ट्स : कैप्स, योगा मैट्स, हेड बैंड, स्नीकर्स आदि।

वेबसाइट : शॉप.एडिडास.को.इन, जैबोंग, फ्लिपकार्ट, एमेजॉन, स्नैपडील, मिंत्रा।

विशेषता : शूज, एपरैल, बैग्स।

  1. रिबॉक : इस जर्मन कंपनी की शुरुआत स्पाईक्ड शूज बनाने से हुई थी। यह कंपनी एडिडास की सहायक कंपनी है और इन दोनों ने साथ मिलकर आईपीएल और इंडियन फुटबॉल टीम के लिए स्पोर्ट्स किट स्पोंसर किया है। हाल ही में इन्होंने विबौक नामक किड्स फैशन ब्रांड लॉन्च किया है।

प्रॉडक्ट्स : शौप4रिबौक.कॉम, एमेजॉन, मिंत्रा, फ्लिपकार्ट, जैबॉन्ग, स्नैपडील वूनिक कूव्स ।

विशेषता : एथलेटिक शूज, स्पोर्ट्स एपैरल, स्पोर्ट्स किट।

  1. एच.आर.एक्स. : साल 2013 में बौलिवुड स्टार ऋतिक रोशन ने अपनी लाइफ स्टाइल ब्रांड एच.आर.एक्स की शुरुआत की। इस ब्रैंड का मकसद लोगों को फिटनेस के तरफ रूझान बढ़ाना है। यह ब्रैंड अपने स्टाइलिश और कंफर्टेबल कलेक्शन के लिए मशहूर है। ये सारे कपड़े और सहायक उत्पाद कसरत को आरामदायक और रोमांचक बनाते हैं। शारीरिक हलचलों में अच्छी क्वालिटी के कपड़ों की जरूरत होती है इसलिए कई नेशनल और इंटरनेशनल ब्रांड्स फिटनेस फैशन के क्षेत्र में काम कर रहे हैं।

 

 

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu
%d bloggers like this: