हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...

आर्याव्रत पुस्तक में इस्लाम का सच 

श्री गंगाराम सम्राट का जन्म 1918 ई. में सिन्धु नदी के तट पर स्थित सन गाँव में हुआ था। उनके गाँव में शिक्षा की अच्छी व्यवस्था थी। पढ़ाई पूरी कर वे उसी विद्यालय में अंग्रेजी पढ़ाने लगे। इसी समय उनका सम्पर्क आर्य समाज से हुआ। आर्य संन्यासियों की अनेक पुस्तकों का अंग्रेजी में अनुवाद कर उन्होंने साहित्य की दुनिया में प्रवेश किया। इसके बाद नौकरी छोड़कर वे सिन्धी समाचार पत्र ‘संसार समाचार’ से जुड़ गये और अनेक वर्ष तक उसका संचालन किया।

कुछ समय बाद उनकी ‘आर्यावर्त’ नामक पुस्तक प्रकाशित हुई। इसमें आर्यों को भारत का मूल निवासी सिद्ध किया गया था। इससे उन्हें काफी प्रसिद्धि मिली। लोग उन्हें गंगाराम सम्राट कहने लगे। पुस्तक में इस्लाम के बारे में अनेक सच लिखे थे। मुसलमानों ने उसका विरोध किया। इस पर शासन ने पुस्तक पर प्रतिबन्ध लगा दिया; पर तब तक वह पूरी तरह बिक चुकी थी।

उनके लेखन का प्रमुख विषय इतिहास था। उनके पुस्तकालय में अंग्रेजी, हिन्दी, गुजराती, अरबी तथा फारसी की 4,000 पुस्तकें थीं। 1953 के बाद के भारत, पाकिस्तान तथा अमरीका के सरकारी गजट भी उनके पास थे। वे कभी तथ्यहीन बात नहीं लिखते थे तथा लिखते समय देशी-विदेशी तथ्यों की पूरी जानकारी देते थे। उन्होंने सिकन्दर की पराजय, सिन्धु सौवीर, भयंकर धोखा, शुद्ध गीता, मोहनजोदड़ो..आदि अनेक पुस्तकें लिखीं। इन पुस्तकों का अनेक भाषाओं में अनुवाद भी हुआ। उनके पत्रों में शीर्ष स्थान पर ‘गो बैक टु वेदास’ (वेदों की ओर लौट चलो) लिखा रहता था।

देश विभाजन के समय गंगाराम जी ने सिन्ध छोड़कर भारत आ रहे हिन्दुओं की बहुत सहायता की। इसके लिए उन्होंने कराची बन्दरगाह पर ही नौकरी कर ली; पर वे स्वयं अपनी जन्मभूमि में ही रहना चाहते थे। उनका विचार था कि पाकिस्तान में शायद अब शान्ति का माहौल रहे। अतः वे 1952 तक वहीं रुके रहे; पर जब उन्होंने वहाँ हिन्दुओं पर होने वाले अत्याचार क्रमशः बढ़ते देखे, तो वे अपना दोमंजिला मकान वहीं छोड़कर भारत आ गये। हाँ, वे अपनी पुस्तकों की पूँजी साथ लाना नहीं भूले।

भारत आकर वे कर्णावती, गुजरात में बस गये। यहाँ रहकर भी वे सतत लेखन एवं इतिहास के शोध में लगे रहे। 1969 में उन्होंने अपना मुद्रणालय प्रारम्भ किया और 1970 में वहाँ से ‘सिन्धु मित्र’ नामक साप्ताहिक पत्र निकाला। ‘लघु समाचार पत्र संघ’ के सहमन्त्री के रूप में भी उन्होंने अपनी सेवाएँ प्रदान कीं। इतिहास, पत्रकारिता तथा सिन्धी साहित्य के लिए उनकी सेवाओं को देखते हुए भारत में प्रायः सभी प्रान्तों में बसे सिन्धी समाज ने तथा राष्ट्रपति ज्ञानी जैलसिंह ने उन्हें सम्मानित किया। ‘राष्ट्रीय सिन्धी बोली विकास परिषद’ ने उन्हें 50 हजार रु. एवं शील्ड प्रदान की।

भारत आने के बाद भी उनका पाकिस्तान के सिन्धी बुद्धिजीवियों से सम्पर्क बना रहा। उनके लेख पाकिस्तानी पत्रों में नियमित प्रकाशित होते रहे। उनकी अन्तिम पुस्तक ‘मताँ असाँखे विसायो’ का प्रकाशन पाकिस्तान के सिन्धु विश्वविद्यालय ने ही किया। उन्हें सिन्धु विश्वविद्यालय ने भाषण के लिए भी आमन्त्रित किया; पर वे भारत आने के बाद फिर पाकिस्तान नहीं गये।

20 अगस्त, 2004 को इतिहासकार गंगाराम सम्राट का निधन हो गया। उनकी इच्छानुसार मरणोपरान्त उनके नेत्र दान कर दिये गये।

उत्तरी इजीरयली शहर अक्को में राजा रिचर्ड प्रथम ने 20 अगस्त 1191 में 3000 मुस्लिम कैदियों की हत्या करवाई।

  • पूर्वी एशिया से डच ईस्ट इंडिया कंपनी का पहला जहाज 1597 में वापस आया।
  • इंग्लैंड और स्कॉटलैंड के बीच 20 अगस्त 1641 में शांति समझौता हुआ।
  • राजा राम मोहन रायके ब्रह्म समाज के पहले सत्र का आयोजन 1828 में कलकत्ता (अब कोलकाता) में संपन्न हुआ।
  • रोनाल्ड रॉस ने 1897 में कलकत्ता(अब कोलकाता) के प्रेसिडेंसी जनरल हॉस्पिटल में काम करने के दौरान मलेरिया के कारक एनोफिलीज मच्छर की पहचान की।
  • फ्रांसके एडोल्फ 1913 में पेगोड पैराशूट के जरिए विमान से उतरने वाले पहले पाइलट बने।
  • मोप्ला् विद्रोह 1921 में केरल के मालाबार क्षेत्र् में शुरू हुआ।
  • यूरोपीय देश हंगरी में संविधान को 1949 में अंगीकार किया गया।
  • फ्रांसीसी सेनाओं ने 1953 में मोरक्को के सुल्तान सीदी मोहम्मद बिन यूसुफ को गददी से हटाया।
  • मोरक्को और अल्जीरिया में 1955 कोफ्रांस-विरोधी दंगों में सैकडों लोग मारे गए।
  • ओहियो में विल्बरफोर्स यूनिवर्सिटी की स्थापना 1856 में हुई।
  • सोवियत संघ ने 1962 में नोवाया जेमल्या में परमाणु परीक्षण किया।
  • तत्कालीन सोवियत रुस ने 1972 में भूमिगत परमाणु परीक्षण किया।
  • अमेरिकाके वोयागेर दो अंतरिक्षयान को 1977 में प्रक्षेपित किया गया।
  • प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह ने 1979 में अपने पद से इस्तीफा दिया।
  • पाकिस्तानके राष्ट्रपति जनरल जिया उल हक का 1988 में हवाई दुर्घटना में निधन एवं सीनेट के सभापति ग़ुलाम इशहाक ख़ान राष्ट्रपति बने।
  • भारत औरनेपालमें 1988 को 6।5 की तीव्रता वाले भूकंप से एक हजार लोगों की मौत हुई।
  • उत्तरी यूरोपीय देश इस्तोनिया ने 1991 में तत्कालीन सोवियत रुस संघ से अलग होने की घोषणा की।
  • सं.रा.अमेरिकाद्वारा क्यूबा के शरणार्थियों को 1994 में आश्रय देने की 28 वर्ष की पुरानी नीति को समाप्त करने की घोषणा।
  • पुरूषोत्तम एक्सप्रेस और कालिंदी एक्सप्रेस के आमने सामने की टक्कर में 1995 को 350 लोगों की मौत हो गई।
  • लिएंडर पेस ने 1998 में पीट सम्प्रास को हराकर पायलेट पेन अंतर्राष्ट्रीय टेनिस प्रतियोगिता जीता।
  • स्पेन में भारतीय चैम्पियन विश्वनाथन आनन्द ने 2001 में स्पेन के अलेक्सेई शिरोव को शिकस्त देकर विलारोडेज शतरंज चैम्पियनशिप का ख़िताब जीता।
  • फ़िलिस्तीन छापामार नेता अबू निदाल 2002 में मरा पाया गया।
  • फ़ोर्ब्स पत्रिका ने 2004 में विश्व की सर्वाधिक शक्तिशाली महिलाओं की सूची जारी की उनमे अमेरिका की कोंडोलीजा राइस, चीन की वू यी तथा भारत की सोनिया गांधी क्रमश: प्रथम तीन स्थानों पर।
  • भारतीय शास्त्रीय संगीत की प्रसिद्ध कलाकार अरुणा साई राम को 2008 में अमेरिका में विशिष्ट सम्मान से नवाजा गया।
  • रसायन व उर्वरक मंत्री राम विलास पासवान ने 2008 में खाद उद्योग को चालू वित्त वर्ष में 22,000 करोड़ रुपये की अतिरिक्त सब्सिडी देने की घोषणा की।
  • वेनेजुएला की राजधानी काराकस में 2012 को दंगे में 20 लोग मरे।
  • भारत के प्रसिद्ध इतिहासकार राम शरण शर्मा की मृत्यु 2011 में हो गई।
  • उत्तरी काकेशस में 2013 को रूसी पुलिस की कार्रवाई में नौ आतंकवादी मारे गए।

20 अगस्त को जन्मे व्यक्ति –

  • कर्नाटक के 8वें मुख्यमंत्री डी. देवराज अर्स का जन्म 1915 में हुआ
  • प्रगतिशील काव्य धारा के प्रसिद्ध कवि त्रिलोचन शास्त्री का जन्म 20 अगस्त 1917 को हुआ था।
  • भारत के नौवें प्रधानमंत्री राजीव गाँधी का जन्म 1944 को हुआ था।
  • इंफ़ोसिस कंपनी के संस्थापक एन. आर. नारायणमूर्ति का जन्म 1946 को हुआ था।
  • अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चर्चित प्रसिद्ध पर्यावरणविद राजेन्द्र कुमार पचौरी का जन्म 1940 को हुआ था।
  • मुग़ल वंश के अजीमुश्शान का पुत्र फ़र्रुख़सियर का जन्म 1685 में हुआ।
  • भारत की महिला शतरंज खिलाड़ी तानिया सचदेव का जन्म 20 अगस्त 1986 को हुआ था।

20 अगस्त को हुए निधन –

  • उड़िया भाषा के प्रसिद्ध साहित्यकार गोपीनाथ मोहंती का निधन 20 अगस्त 1991 को हुआ था।
  • इतिहासकार गंगाराम सम्राट का निधन 2004 में हुआ।
  • भारत के प्रसिद्ध इतिहासकार और शिक्षाविद राम शरण शर्मा का निधन 20 अगस्त 2011 को हुआ था।
  • प्रसिद्ध भारतीय योग गुरु बी. के. एस. आयंगर का निधन 20 अगस्त 2014 को हुआ था।

20 अगस्त के महत्त्वपूर्ण अवसर एवं उत्सव

  • सद्भावना दिवस (राजीव गाँधी का जन्म दिवस)

 

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu

विगत 6 वर्षों से देश में हो रहे आमूलाग्र और सशक्त परिवर्तनों के साक्षी होने का भाग्य हमें प्राप्त हुआ है। भ्रष्ट प्रशासन, दुर्लक्षित जनता और असुरक्षित राष्ट्र के रूप में निर्मित देश की प्रतिमा को सिर्फ 6 सालों में एक सामर्थ्यशाली राष्ट्र के रूप में प्रस्तुत करने में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की अभूतपूर्ण भूमिका रही है।

स्वंय के लिए और अपने परिजनों के लिए ग्रंथ का पंजियन करें!
ग्रंथ का मूल्य 500/-
प्रकाशन पूर्व मूल्य 400/- (30 नवम्बर 2019 तक)

पंजियन के लिए कृपया फोटो पर क्लिक करें

%d bloggers like this: