हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...

मोदी ने दी अंतर्राष्ट्रीय मंच पर पाकिस्तान को पटखनी ?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की मुलाकात पूरे विश्व की मीडिया जगत में सुर्ख़ियों में रहीं. मोदी ने अपनी सूझबूझ से कश्मीर मामले में किसी तीसरे पक्ष की मध्यस्थता की कोई गुंजाईश नहीं होने की हामी भरवा कर डोनाल्ड ट्रंप को उनके ही बयान से पीछे हटने पर मजबूर कर दिया और अपनी बात भी मनवा ली. इसके साथ ही उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पाकिस्तान को पटखनी भी दे दी. बता दें कि ट्रंप ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से मुलाकात के दौरान पहली बार जम्मू – कश्मीर मामले में मध्यस्थता करने की पेशकश की थी. ट्रंप ने अनुच्छेद ३७० हटाये जाने के बाद हालातों का हवाला देकर फिर से दूसरी बार मध्यस्थता करने की बात की थी. जिस पर काफी बवाल मचा था. दुनिया भर के सामने मोदी ने डोनाल्ड ट्रंप को अपनी पिछली विवादित टिप्पणियों से पीछे हटने को बाध्य कर दिया. मोदी ने इमरान खान की बौखलाहट पर नमक छिडकते हुए कहा कि १९४७ से पहले भारत और पाकिस्तान एक ही था. हम आपसी बातचीत के जरिए मामले को सुलझा सकते है. मेजबान फ्रांस के विशेष आमन्त्रण पर जी – ७ सम्मेलन में हिस्सा लेने पहुंचे मोदी ने यहां कई देशों के प्रमुखों से मुलाकात की. यह अंतर्राष्ट्रीय मंच पर भारत के बढ़ते कद को दर्शाता है. क्या मोदी राज में अंतर्राष्ट्रीय पटल पर भारत को शक्तिशाली देश के रूप में देखा जा रहा है ? अपनी बेबाक राय दें …

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu

विगत 6 वर्षों से देश में हो रहे आमूलाग्र और सशक्त परिवर्तनों के साक्षी होने का भाग्य हमें प्राप्त हुआ है। भ्रष्ट प्रशासन, दुर्लक्षित जनता और असुरक्षित राष्ट्र के रूप में निर्मित देश की प्रतिमा को सिर्फ 6 सालों में एक सामर्थ्यशाली राष्ट्र के रूप में प्रस्तुत करने में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की अभूतपूर्ण भूमिका रही है।

स्वंय के लिए और अपने परिजनों के लिए ग्रंथ का पंजियन करें!
ग्रंथ का मूल्य 500/-
प्रकाशन पूर्व मूल्य 400/- (30 नवम्बर 2019 तक)

पंजियन के लिए कृपया फोटो पर क्लिक करें

%d bloggers like this: