हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...

चीन लगातार भारत को अस्थिर करने के लिए षड्यंत्र कर रहा है. यह बात किसी से छुपी नहीं है कि चीन का आक्रामक रवैया और पडौसी देशों के आंतरिक मामलों में उसकी दखलअंदाजी क्षेत्र के लिए गंभीर खतरा है. इसकी पुष्टि नगालैंड के विद्रोही गुट ने एक इंटरव्यू के दौरान की है. विद्रोही गुट एनएससीएन के अध्यक्ष यंग ओंग ने कहा है कि शुरूआती दिनों से ही चीन से नगा विद्रोहियों को मदद मिली है. इसके लिए हम हमेशा उनके शुक्रगुजार रहेंगे. उम्मीद है कि हमें जब जरुरत होगी तब चीन से मदद मिलेगी. बता दें कि कांग्रेस के राज में ही दशकों से चीन के समर्थन से विद्रोही गुट को फलने फूलने का अवसर मिला और उन्होंने सशस्त्र संघर्ष तेज किया. उनकी मांग है कि नगालैण्ड को आजाद किया जाए. अलग आजाद देश की मांग के साथ कई दशकों से यह संघर्ष चल रहा था. मोदी सरकार आने के बाद शांति समझौता किया गया था, बावजूद इसके फिर से देश विरोधी ताकतों ने संघर्ष करने का ऐलान किया है. चीन के समर्थन से ही फिर से विद्रोहियों ने अपना फन उठाना शुरू किया है. चीन के भारत विरोधी रुख को देखते हुए तत्काल इसका तोड़ निकालना जरुरी है और चीन को उसकी ही भाषा में जवाब देना जरुरी है. क्या मोदी सरकार जम्मू – कश्मीर की तर्ज पर नगालैंड की दशकों पुरानी समस्या का समाधान कर पाएगी और देश विरोधी ताकतों का समूल नाश करेगी ? अपनी बेबाक राय दें.

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu

विगत 6 वर्षों से देश में हो रहे आमूलाग्र और सशक्त परिवर्तनों के साक्षी होने का भाग्य हमें प्राप्त हुआ है। भ्रष्ट प्रशासन, दुर्लक्षित जनता और असुरक्षित राष्ट्र के रूप में निर्मित देश की प्रतिमा को सिर्फ 6 सालों में एक सामर्थ्यशाली राष्ट्र के रूप में प्रस्तुत करने में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की अभूतपूर्ण भूमिका रही है।

स्वंय के लिए और अपने परिजनों के लिए ग्रंथ का पंजियन करें!
ग्रंथ का मूल्य 500/-
प्रकाशन पूर्व मूल्य 400/- (30 नवम्बर 2019 तक)

पंजियन के लिए कृपया फोटो पर क्लिक करें

%d bloggers like this: