हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...

शौर्य और वीरता की मिशाल

आज कश्मीर का जो हिस्सा भारत के पास है, उसका श्रेय जिन वीरों को है, उनमें से मेजर सोमनाथ शर्मा का नाम अग्रणी है। 31 जनवरी, 1922 को ग्राम डाढ (जिला धर्मशाला, हिमाचल प्रदेश) में मेजर जनरल अमरनाथ शर्मा के घर में सोमनाथ का जन्म हुआ। इनके गाँव से कुछ दूरी पर ही प्रसिद्ध तीर्थस्थल चामुण्डा नन्दिकेश्वर धाम है। सैनिक परिवार में जन्म लेने के कारण सोमनाथ शर्मा वीरता और बलिदान की कहानियाँ सुनकर बड़े हुए थे। देशप्रेम की भावना उनके खून की बूँद-बूँद में समायी थी।

इनकी प्रारम्भिक शिक्षा नैनीताल में हुई थी। इसके बाद इन्होंने प्रिन्स अ१फ वेल्स र१यल इण्डियन मिलट्री कॉलेज, देहरादून से सैन्य प्रशिक्षण लिया। 22 फरवरी 1942 को इन्हें कुमाऊँ रेजिमेण्ट की चौथी बटालियन में सेकण्ड लेफ्टिनेण्ट के पद पर नियुक्ति मिली। इसी साल इन्हें डिप्टी असिस्टेण्ट क्वार्टर मास्टर जनरल बनाकर बर्मा के मोर्चे पर भेजा गया। वहाँ इन्होंने बड़े साहस और कुशलता से अपनी टुकड़ी का नेतृत्व किया।

15 अगस्त, 1947 को भारत के स्वतन्त्र होते ही देश का दुखद विभाजन भी हो गया। जम्मू कश्मीर रियासत के राजा हरिसिंह असमंजस में थे। वे अपने राज्य को स्वतन्त्र रखना चाहते थे। दो महीने इसी कशमकश में बीत गये। इसका लाभ उठाकर पाकिस्तानी सैनिक कबाइलियों के वेश में कश्मीर हड़पने के लिए टूट पड़े।

वहाँ सक्रिय शेख अब्दुल्ला कश्मीर को अपनी जागीर बनाकर रखना चाहता था। रियासत के भारत में कानूनी विलय के बिना भारतीय शासन कुछ नहीं कर सकता था। जब राजा हरिसिंह ने जम्मू कश्मीर को पाकिस्तान के प॰जे में जाते देखा, तब उन्होंने भारत के साथ विलय पत्र पर हस्ताक्षर किये।

इसके साथ ही भारत सरकार के आदेश पर सेना सक्रिय हो गयी। मेजर सोमनाथ शर्मा की कम्पनी को श्रीनगर के पास बड़गाम हवाई अड्डे की सुरक्षा की जिम्मेदारी दी गयी। वे केवल 100 सैनिकों की अपनी टुकड़ी के साथ वहाँ डट गये। दूसरी ओर सात सौ से भी अधिक पाकिस्तानी सैनिक जमा थे। उनके पास शस्त्रास्त्र भी अधिक थे; पर साहस की धनी मेजर सोमनाथ शर्मा ने हिम्मत नहीं हारी। उनका आत्मविश्वास अटूट था। उन्होंने अपने ब्रिगेड मुख्यालय पर समाचार भेजा कि जब तक मेरे शरीर में एक भी बूँद खून और मेरे पास एक भी जवान शेष है, तब तक मैं लड़ता रहूँगा।

दोनों ओर से लगातार गोलाबारी हो रही थी। कम सैनिकों और गोला बारूद के बाद भी मेजर की टुकड़ी हमलावरों पर भारी पड़ रही थी। 3 नवम्बर, 1947 को शत्रुओं का सामना करते हुए एक हथगोला मेजर सोमनाथ के समीप आ गिरा। उनका सारा शरीर छलनी हो गया। खून के फव्वारे छूटने लगे। इस पर भी मेजर ने अपने सैनिकों को सन्देश दिया – इस समय मेरी चिन्ता मत करो। हवाई अड्डे की रक्षा करो। दुश्मनों के कदम आगे नहीं बढ़ने चाहिए….। यह सन्देश देतेे हुए मेजर सोमनाथ शर्मा ने प्राण त्याग दिये।

उनके बलिदान से सैनिकों का खून खौल गया। उन्होंने तेजी से हमला बोलकर शत्रुओं को मार भगाया। यदि वह हवाई अड्डा हाथ से चला जाता, तो पूरा कश्मीर आज पाकिस्तान के कब्जे में होता। मेजर सोमनाथ शर्मा को मरणोपरान्त ‘परमवीर चक्र’ से सम्मानित किया गया। शौर्य और वीरता के इस अलंकरण के वे स्वतन्त्र भारत में प्रथम विजेता हैं। सेवानिवृत्त सेनाध्यक्ष जनरल विश्वनाथ शर्मा इनके छोटे भाई हैं।

3 नवंबर क्रिस्टोफर कोलंबस ने 1493 में डोमिनिका द्वीप की खोज की।

  • इंग्लैंड औरफ्रांस ने 1655 में सैन्य और आर्थिक समझौतों पर हस्ताक्षर किये।
  • ब्रिटेन और स्पेन के बीच 1762 में पेरिस की संधि हुई।
  • जॉन एडम्स 1796 में अमेरिका के राष्ट्रपति चुने गये।
  • नानाराव की मथुरा स्थित संपत्ति को ध्वस्त करने के लिये 1857 में आदेश।
  • कनाडामें 1869 में हैमिल्टन फुटबाॅल क्लब अस्तित्व में आया।
  • पनामा को 1903 में कोलंबिया से आजादी मिली।
  • ‘असम हिन्दी प्रचार समिति’ नामक एक संस्था 1938 में कायम की गई।
  • भारत के तत्कालीन प्रधानमंत्रीजवाहर लाल नेहरू ने 1948 में संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपना पहला भाषण दिया।
  • सोवियत संघ ने 1957 में लाइका नाम के कुत्‍ते को अंतरिक्ष में भेजा था. वो पहला कुत्ता जानवर था जिसने अंतरिक्ष यान में सवार होकर आसमान में पहुंचा और पृथ्वी के चक्कर लगाए.
  • तत्कालीन सोवियत संघ ने 1958 में परमाणु परीक्षण किया।
  • चीन के हमले के मद्देनजर भारत में 1962 में गोल्ड बाॅन्ड स्कीम की घाेषणा की गयी।
  • भारत में 1984 में हुए सिख विरोधी दंगों में तीन हजार से ज्यादा लोग मारे गए।
  • वायु सेना ने 1988 में आगरा से एक पैराशूट बटालियन समूह को लिया।
  • जी-15 समूह का सातवां शिखर सम्मेलन 1997 में कुआलालम्पुर में प्रारम्भ।
  • भारत सरकार द्वारा 2000 में डायरेक्ट टू होम प्रसारण सेवा सभी के लिये शुरू की गयी।
  • अमेरिकाने 2001 में लश्कर व जैश-ए-मोहम्मद पर प्रतिबंध लगाया।
  • नखोम पाथोम की बैठक में लिट्टे ने 2002 में राजनीति की मुख्य धारा में शामिल होने की इच्छा व्यक्त की।
  • पाकिस्तान और चीन के बीच 2003 में बीजिंग में आठ समझौतों पर हस्ताक्षर।
  • अमरीका के राष्ट्रपति जॉर्ज बुश तीन नवंबर 2004 को दूसरी बार अमरीका के राष्ट्रपति चुने गए थे.
  • पाकिस्तानपीपुल्स पार्टी की प्रमुख बेनजीर भुट्टो को 2007 में उनके घर में नजरबन्द किया गया।
  • यूनियन बैंक ऑफ़ इंडिया ने 2008 में अपनी उधारी दरों में 5 प्रतिशत की कमी की।
  • फ्रांसके कैन्स में 2011 में जी-20 शिखर सम्मेलन शुरू हुआ जिसमें यूरोजोन ऋण संकट पर चर्चा की गई।
  • अमेरिकामें हुए आतंकवादी हमले में वर्ल्ड ट्रेड सेंटर गिराये जाने के 13 साल बाद 2014 में उसी जगह पर एक वर्ल्ड ट्रेड सेंटर खोला गया।

3 नवंबर को जन्मे व्यक्ति 

  • आमेर का वीर और बहुत ही कूटनीतिज्ञ राजा सवाई जयसिंह  का जन्म 1688 में हुआ।
  • मुम्बई में ‘पृथ्वी थिएटर’ स्थापित करनेवाले हिंदी फ़िल्म और रंगमंच अभिनय के इतिहास महापुरुष पृथ्वीराज कपूर का जन्म 1906 में हुआ।
  • स्‍वतंत्रता सेनानीऔर महिला अधिकारों की पैरवी करने वाली अन्‍नापूर्णा महाराणा का 1917 में जन्‍म हुआ था.
  • अर्थशास्त्रीअमर्त्य सेन का जन्म 1933 में हुआ।
  • हिन्दी सिनेमा के प्रसिद्ध संगीतकार लक्ष्मीकांत का जन्म 1937 में हुआ।
  • भारतीय निशानेबाज़ मानवजीत सिंह संधू का जन्म 1976 में हुआ।

3 नवंबर को हुए निधन –

  • तमिल भाषा के विद्वान् और प्रख्यात समाज-सुधारक चिदंबरम पिल्लई  का 1936 में निधन।
  • ‘परमवीर चक्र’ पाने वाले प्रथम भारतीय शहीद सोमनाथ शर्मा का 1947 में निधन।
  • केंद्रीय अफ़्रीक़ी गणराज्य के क्रूर तानाशाह जान बेडेल बोकासा का 1996 में निधन हुआ।
  • प्रसिद्ध लोक गायिका रेशमा का 2013 में निधन हुआ।

 

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu

विगत 6 वर्षों से देश में हो रहे आमूलाग्र और सशक्त परिवर्तनों के साक्षी होने का भाग्य हमें प्राप्त हुआ है। भ्रष्ट प्रशासन, दुर्लक्षित जनता और असुरक्षित राष्ट्र के रूप में निर्मित देश की प्रतिमा को सिर्फ 6 सालों में एक सामर्थ्यशाली राष्ट्र के रूप में प्रस्तुत करने में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की अभूतपूर्ण भूमिका रही है।

स्वंय के लिए और अपने परिजनों के लिए ग्रंथ का पंजियन करें!
ग्रंथ का मूल्य 500/-
प्रकाशन पूर्व मूल्य 400/- (30 नवम्बर 2019 तक)

पंजियन के लिए कृपया फोटो पर क्लिक करें

%d bloggers like this: