हिंदी विवेक : we work for better world...

 

सबुज सैकिया एवं कौस्तव मोनी मलाकर, कक्षा 12महर्षि विद्यामंदिर सीनियर सेकेंडरी स्कूल, कामरूप, असम

सबुज और कौस्तव ने दिव्यांगों के लिए पैरों से उपयोग में लाया जाने वाली एक चाय बनाने वाली मेज का निर्माण किया है। उन्होंने ध्यान दिया कि दिव्यांगों की सहायता के लिए कुछ सहायक उपकरण हैं पर वे उन्हें आर्थिक रूप से सुदृढ़ करने में सहायक नहीं हैं। असम में बड़े पैमाने पर चाय की खेती होती है तथा सड़कों के किनारों पर तमाम छोटी-छोटी चाय की दुकानें हैं जो बहुत सारे लोगों की आय का जरिया हैं।

 

 

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu