हिंदी विवेक : we work for better world...

पुरुषोत्तमदास टंडन (1 अगस्त 1882 – 1 जुलाई 1962)

* उनका जन्म उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में हुआ था।

* भारत के स्वतंत्रता सेनानी थे।

* हिंदी को भारत की राष्ट्रभाषा के पद पर प्रतिष्ठित करवाने में उनका महत्वपूर्ण योगदान था।

भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन के अग्रणी पंक्ति के नेता तो थे ही, समर्पित राजनयिक, हिन्दी के  अयन्य सेवक, कर्मठ पत्रकार, तेजस्वी वक्ता और समाज सुधारक भी थे।

* 1950 में वे भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष बने।

* उन्हें भारत के राजनैतिक और सामाजिक जीवन मेें नयी चेतना, नयी लहर, नयी क्रान्ति पैदा करने वाला कर्मयोगी कहा गया।

* वे जन सामान्य में राजर्षि के नाम से प्रसिद्ध हुए।

This Post Has One Comment

  1. 👍

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu