हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...

लालूप्रसाद यादव के बेटे और तथाकथित राजनीतिक उत्तराधिकारी तेजस्वी यादव के अनुसार उनके पिता विचार या वाद से काफी आगे बढ़कर ‘विज्ञान’ हो चुके हैं. उनका बड़बोलापन कितना सही हैं? अपनी बेबाक राय दें

This Post Has 7 Comments

  1. हिंन्दुस्तान में भोंकने की आजादी है भाई ।

  2. तेजस्वी में वे सारे गुण दिख रहा है जो नेताओं में होना चाहिए, तेजस्वी देश के भावी प्रधानमंत्री हो सकते हैं।

  3. विज्ञान के विशेषज्ञ हैं तभी तो पशुओं का चारा खाकर हजम कर गए। इस रहस्य की आज तक खोज जारी है।

  4. जी हाँ, वह सत्ता से बाहर रहने के कारण पगला गया है ।

  5. लालू और उसके बच्चे चारे का पैसा खाकर बड़े हुए हैं,उपर से पढ़े लिखे नहीं हैं और उपर से बिहार की राजनीति में लालू और राबड़ीदेवी के साथ सत्ता भोगे है, तो वो बडबोले अपने पिता की तरह होना स्वाभाविक है।

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu
%d bloggers like this: