हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...

 

अब जल्दी ही बच्चों के स्कूल खुलने वाले हैं। स्कूल खुलने के साथ ही मांओं की टेंशन शुरू हो जाती है। वो टेंशन पढ़ाई से ज्यादा इस बात की होती है कि बच्चों के टिफिन बॉक्स में ऐसा  क्या दें कि बच्चा टिफिन वापस ना लाए। वह बड़े चाव से पूरा टिफिन खाए और दूसरे दिन इस बात का इंतजार करे कि आज टिफिन में क्या हैं ? जी हां! ऐसा संभव है। कैसे?…… आइए जानते हैं।

*पावभाजी स्टफ पराठा....

जब भी पराठे कि बात आती है। मांए टिफिन में हमेशा आलू, पनीर या मेथी का पराठा दे देती हैं। बच्चे इससे जल्दी ही बोर हो जाते हैं और टिफिन वापस ले आते हैं। इसलिए पराठे में वैरायटी का ध्यान रखें। कभी आलू मेथी पराठा, आलू मटर पराठा, मिक्स वेजीटेबल पराठा या गोभी पराठा दें। बच्चे खुश हो जाएंगे। पावभाजी स्टफ पराठा बनाने के लिए, पावभाजी खूब गाढ़ी कर लें, अब इसे आटे में स्टफ करके पराठा बनाएं। इसका स्वाद बच्चों को बहुत भाता है। वे बार बार इसकी मांग करेंगे।

*दोसा सैंडविच

आपने बच्चों को चीज सैंडविच, चटनी सैंडविच, मिक्स वेजिटेबल सैंडविच तो बहुत दिए होंगे, अब दोसा सैंडविच देकर देखिए, बच्चे उंगलियां चाटते  रह जाएंगे। इसके लिए ब्रेड को अपने मनपसंद आकार में काट लें, दोसे के घोल में नमक स्वादानुसार, लहुसन पेस्ट इच्छानुसार लाल मिर्च और हरा धनिया अच्छी तरह मिला लें। नॉनस्टिक पैन गर्म करें। पैन में थोंड़ा तेल डालें। ब्रेड के टुकड़े को दोसे के घोल में डुबोकर पैन में शैलो फ्राय कर लें। यह सॉस के साथ या सॉस के बिना भी बहुत स्वादिष्ट लगते हैं।

*मसाला इडली

यह बहुत ही सरल है, बची हुई इडलियों को छोटे चौकोर टुकड़ों में काट लें। पैन में तेल डालें। हल्दी, स्वादानुसार लाल मिर्च और नमक डालें।  अब इडली डालकर 5 मिनिट चलाएं हरी। धनिया से सजाएं। इसे भी बच्चे बहुत पंसद करते हैं।

*रोटी सब्जी रोल

रोटी में तरह तरह की सब्जियां जैसे आलू, पनीर, गोभी या मिक्स वेजीटेबल रखकर उनका रोल बनाकर टिफिन में दिया जा सकता है। यह बेहद हेल्दी विकल्प है परंतु बच्चे इसे कम ही पसंद करते हैं। इसलिए ध्यान रहे कि हर बार सब्जी का स्वाद पहले से अलग हो, तभी बच्चे पसंद करेंगे। इसके लिए हर बार अलग गरम मसाला डालें। रोल के साथ कभी बच्चों की पसंद का लड्डू, फरसाण या चिप्स भी रख दें, इससें बच्चे खुशी पूरा टिफिन खत्म करेंगे।

 

This Post Has 7 Comments

Leave a Reply to Neha Cancel reply

Close Menu

विगत 6 वर्षों से देश में हो रहे आमूलाग्र और सशक्त परिवर्तनों के साक्षी होने का भाग्य हमें प्राप्त हुआ है। भ्रष्ट प्रशासन, दुर्लक्षित जनता और असुरक्षित राष्ट्र के रूप में निर्मित देश की प्रतिमा को सिर्फ 6 सालों में एक सामर्थ्यशाली राष्ट्र के रूप में प्रस्तुत करने में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की अभूतपूर्ण भूमिका रही है।

स्वंय के लिए और अपने परिजनों के लिए ग्रंथ का पंजियन करें!
ग्रंथ का मूल्य 500/-
प्रकाशन पूर्व मूल्य 400/- (30 नवम्बर 2019 तक)

पंजियन के लिए कृपया फोटो पर क्लिक करें

%d bloggers like this: