हिंदी विवेक : we work for better world...

नई-नई हेयर स्टाइल हमारे मूड को काफी बदल देती है। इसलिए हमें समय-समय पर अपने हेयर स्टाइल को लेकर प्रयोग करते रहना चाहिए, जो कि अधिकतर महिलाएं और पुरुष करते ही हैं, एकदम अलग और आकषर्क दिखने के लिए...

हेयर स्टाइल हमारे पर्सनालिटी का एक बेहद अहम हिस्सा बन चुका है! हमारी लाइफ स्टाइल में आज जितना बदलाव आ चुका है, उसके साथ-साथ हेयर स्टाइल में भी काफी बदलाव आया है! आज हर व्यक्ति अपने व्यक्तित्व के अनुरूप ही हेयर स्टाइल रखना पसन्द करता है।

खासकर आज के आधुनिक युग में वह चाहे महिला हो या पुरुष दोनों अपने ड्रेसिंग और हेयर को लेकर काफी सोच-विचार करते हैं, और अपने ड्रेस के अनुरूप ही हेयर स्टाइल रखना पसन्द करते हैं। कुल मिलाकर हेयर स्टाइल आज फैशन का एक अहम हिस्सा बन चुका है। कुछ बेहतरीन हेयर स्टाइल के बारे में हम चर्चा करेंगे जो आज सबकी खास पसन्द बन चुका है।

बॉब कट-

अक्सर होता ये है कि कुछ लोग बिल्कुल छोटे बाल रखना पसन्द करते हैं। इसके पीछे मुख्य कारण अधिकतर यही होता है कि उन्हें इस व्यस्त जिंदगी में बाल संवारने तक का वक्त नहीं मिल पाता। इसमें खास बात ये है कि ये स्टाइल हर आकार के चेहरे पर सूट करती है, जिसे हम समय-समय पर मोडिफाइड करके डिफरेंट लुक पा सकते हैं।

ब्लांड कर्ली हेयर कट-

इस हेयर कट की खासियत ये है कि जिनके बाल पतले होते है, उनके लिए ये कट बेहद उपयुक्त होता है। इसमें पतले बालो को घना दिखाने के लिए उन्हें लेयर में काटा जाता है, ये हेयर स्टाइल हम मध्यम तथा लंबे दोनों ही बालों में ट्राई कर सकते हैं।

मेसी एंड लेयर्ड कट-

इसमे भी बालों को लेयर में काटा जाता है, लेकिन उनकी लंबाई कंधों तक रखी जाती है। बालों की टॉप लेयर छोटी और साइड लेयर कन्धे तक रखी जाती है, फोरहेड पर चौपी बैंग्स इस हेयर स्टाइल को आकर्षक बनाते हैं।

स्पाईक कट-

इस हेयर स्टाइल को आजकल युवा बेहद पसंद कर रहे हैं। इसमें बाल बिखरे हुए तथा फंकी लुक होता है जो बेहद आकर्षक लगता है।

बालों को बेहतरीन स्टाइल से रखना हमें और भी आकर्षक एवं सुंदर बनाता है। हम यही चाहते हैं कि जितने भी उत्सव आये हमारे कपड़ो से लेकर बालों की स्टाइल बेहद अच्छी और आकर्षक होनी चाहिए। ऐसे में हम सबसे सुंदर और अलग दिखने के लिए खुद में कई बदलाव भी करते हैं। कुछ बातों के बारे में यहां बताएंगे जिससे हम अपने बालों को और भी ज्यादा स्टाइलिश रख सकते हैं-

बाल मिट्टी-

बाल मिट्टी का प्रयोग हम बालों को मोल्ड करने के लिए कर सकते हैं। इसके उपयोग से हम अपने बालों को कुछ दिनों तक सीधे व मुलायम रख सकते हैं।

रंग-बिरंगे पिन-

अगर हमारे बाल ज्यादा छोटे हैं, तो हम अपने बालों में रंग-बिरंगे पिन और कल्चर लगाकर बालों को सुंदर लुक दे सकते हैं।

बाल स्प्रे

अपने बालों की हेयर स्टाइल को लंबे समय तक बनाए रखने के लिए हम बालों में स्प्रे कर सकते हैं। लेकिन इस बात का ध्यान रखना है कि हेयर स्टाइल कम्पलीट होने पर ही स्प्रे का प्रयोग करना है!

शार्ट मशरूम कट-

अगर हमारे बाल बहुत ही ज्यादा छोटे हैं, तो हम इसे शॉर्ट मशरूम कट देकर साथ ही इसे आकर्षक लुक देने के लिए छोटी क्लिप्स लगा सकते हैं।

महिलाओं की तुलना में पुरुषों के हेयर स्टाइल काफी कठिन होते हैं, क्योंकि उनके बाल बहुत ही छोटे होते हैं, लेकिन आजकल पुरुषों में भी लंबे बाल रखने का ट्रेंड चला है। कई सर्वे में भी यह बात कही गई है कि नई-नई हेयर स्टाइल हमारे मूड को काफी बदल देती है। इसलिए हमें समय-समय पर अपने हेयर स्टाइल को लेकर प्रयोग करते रहना चाहिए, जो कि अधिकतर महिलाएं और पुरुष करते ही हैं, एकदम अलग और आकषर्क दिखने के लिए…!!

गजरा

भारत मे गजरा सुंदरता एवं सौहार्द्र का प्रतीक माना जाता है। बालो में गजरा लगाना एक अलग ही लुक देता है। दुल्हन के बालों में गजरा उसकी खूबसूरती में एक अलग ही निखार लाता है। पहले महिलाएं सिर्फ जुड़े में ही गजरा लगाती थी, लेकिन अब गजरा हम कई तरीकों से अपने बालों पर  लगा सकते हैं जैसे हेवी गजरा, सिंगल लेयर्ड गजरा। आजकल लड़कियां भी गजरे का बेहद प्रयोग कर रही हैं। बदलते लाइफ स्टाइल में आज एक बार फिर गजरे का चलन काफी बढ़ गया है।

हाफ-मून गजरा स्टाइल-

हाफ-मून गजरा स्टाइल आजकल की लड़कियों की पहली पसंद बन गई है। इस लुक से लड़कियां खुद को काफी स्टाइलिश लुक देती हैं।

साइड स्टाइल गजरा

ये स्टाइल साउथ की लड़कियां करती हैं। इस स्टाइल में बाल खोलकर पिन की मदद से गजरे लगाए जाते हैं।

जूड़ा स्टाइल गजरा-

ये सबसे ज्यादा प्रयोग किए जाने वाला और बेहद फेमस स्टाइल है। शादी में दुल्हन, फैमिली फंक्शन में इसे लड़कियों और महिलाओं द्वारा बेहद पसंद किया जाता है। यह स्टाइल पूरे जूड़े को कवर करता है।

छोटे फूलों से बने गजरे-

ये लड़कियों का बेहद पसंदीदा गजरा स्टाइल है। इस स्टाइल में आपके ऊपर के एक साइड के पूरे बाल ढके रहते हैं।

कर्ली हेयर- 

घुंघराले बाल आपको न सिर्फ अलग लुक देते हैं, बल्कि आपकी पर्सनैलिटी में चार चांद भी लगाते हैं। कर्ली हेयर में दिखना है ट्रेंडी और फैशनेबल तो ये चार प्रकार के हेयर स्टाइल ट्राय करने चाहिए-

लॉन्ग कर्ल हेयर कट:

गर्दन तक के लॉन्ग कर्ल्स को टिप से हलका ट्रिम करने की ज़रूरत होती है। अगर बाल कंधे तक हैं या उनमें आसानी से पोनी बन जाती है तो ऐसे लंबे बाल फ्रीजी ज्यादा दिखते हैं। साथ ही नीचे से कमज़ोर होने लगते हैं। इसलिए इन्हें कंधे तक न रखें।

स्टाइल करें ऐसे:

सी-सॉल्ट हेयर स्प्रे करें। इससे कर्ल्स खुलेंगे नहीं और बाल मुलायम हो जाएंगे। ज्यादा कर्ल्स बनाने के लिए इनमें कम मात्रा में मैट क्ले क्रीम लेकर उंगली की मदद से पूरे बालों में लगाएं। इससे बाल ज्यादा कर्ली नज़र आने लगेंगे।कर्ली अंडरकट हेयर कट: इस कट के लिए फ्रंट के बाल बड़े व ज्यादा वॉल्यूमनाइज़ और साइड से पूरे बाल ट्रिम्ड हों तो बेहतर रहता है।

स्टाइल कैसे करें:

कर्ली अंडरकट लेने के बाद बालों को हेयर ड्रायर से सुखा लें। जब बाल पूरी तरह सूख जाएं तो इन्हें नया लुक देने के लिए पोमेड क्रीम लगाएं। इसके इस्तेमाल से आप बालों को टेक्सचर कॉर्प और बैक-कॉम्ड स्टाइल में सेट कर सकते हैं। यह मीडियम होल्ड डिसिप्लिन क्रीम है, जो घुंघराले बालों को ग्लॉसी और मुलायम बनाती है।

कर्ली और वेवी बॉब हेयर कट:

इसमें बालों के साइड में या नीचे यानी बालों की टिप पर हलकी कैंची चलाने की ज़रूरत होती है ताकि पूरा लुक एक समान लगे। अगर बाल अनइवन लगते हैं तो पूरे लुक को बिगाड़ देते हैं।

स्टाइल कैसे करें:

नैचरल ऑयल्स या लीव-इन कंडिशनर से बालों को मॉयस्चराइज़ करना न भूलें। इससे बाल उड़े-उड़े यानी फ्रीजी नहीं होते। इसके बाद मूस या हेयर स्प्रे के ज़रिये बालों को स्टाइल करना न भूलें।

वेवी फ्रिंज हेयर कट:

इस कट के लिए क्राउन एरिया के बालों को छोटा और फ्रंट के बालों को लंबा रखा जाता है। साइड और नीचे के बाल हलके ट्रिम ही अच्छे लगते हैं।

स्टाइल कैसे करें:

कम मात्रा में कर्ल एन्हैंसिंग मूस लेकर बालों में अप्लाई करें। अगर आपके बाल ज्यादा रूखे हैं तो टेक्सचर पाउडर से बेहतर और कोई प्रोडक्ट नहीं है। बालों को स्पोर्टी लुक के बजाय टक्सीडो लुक देने के लिए ये पाउडर अच्छा काम करता है। जिनके बाल ज्यादा रूखे हैं वे हेयर वैक्स के साथ अपने बालों में टेक्सचर पाउडर का इस्तेमाल कर सकते हैं।

स्ट्रेटनिंग:

बालो को स्ट्रेट करना आजकल का फैशन बन गया है, लेकिन बार-बार स्ट्रेट करना बालो को नुकसान पहुंचा सकता है, क्योंकि स्ट्रेटनिंग से ऐसे रसायन रिलीज होते हैं, जो हमारे बालो को नुकसान पहुंचा सकते हैं, स्ट्रेटनिंग के कुछ साइड इफेक्ट्स के बारे में हम बताएंगे-

रूखे बाल-

स्ट्रेटनिंग में ये सबसे आम समस्या है, बार-बार स्ट्रेट करने से उसके केमिकल और ज्यादा गर्म होने से बाल का नेचुरल ऑयल खत्म हो जाता है, और वे रूखे हो जाते हैं।

फिजिनेस-

बालो में रूखेपन की वजह से वे बिखरे हुए रह सकते हैं, जिससे आपका लुक पूरा खराब हो जाता है। इसलिए बालों को जल्दी-जल्दी स्ट्रेट करना बिल्कुल बन्द कर दीजिए और बीच-बीच मे कंडीशनर और हेयर मास्क का प्रयोग जरूर करना चाहिए।

बालों का टूटना-

ज्यादा स्ट्रेट करने से बाल रूखे व बेजान हो जाते हैं और रूखे बाल आसानी से टूटते, गिरते हैं। केमिकल व हीटिंग की वजह से बालों की जड़े कमजोर हो जाती हैं और बाल जल्दी-जल्दी गिरते हैं और दोमुंहे बालों की समस्या भी इसी से आती है।

चमक का खो जाना

स्ट्रेटनिंग से बाल रूखे होते है और रूखे बालों में नेचुरल ऑयल खो जाने की वजह से बालों की सारी चमक चली जाती है।

शरीर पर जलन-

स्ट्रेटनिंग करने से फोरमलडिहाइड गैस निकलती है और यही इसका सबसे बड़ा नुकसान है। फूड एंड ड्रग प्रशासन के अनुसार बालों को मुलायम बनाने वाले कुछ उत्पादों से फोरमलडिहाइड गैस निकलती है। ये गैस फ्लैट आयरन और ब्लो ड्रायर्स में होती है।

बार-बार स्ट्रेटनिंग करने से त्वचा, आंखें, नाक और फेफड़ों में जलन हो सकती है। इस केमिकल की वजह से दुर्लभ कैंसर जैसे नेसोफेरिंगियल कैंसर भी हो सकता है। इसलिए स्ट्रेटनर का इस्तेमाल सावधानी से करना बहुत जरूरी है।

बालों का गिरना-

स्ट्रेटनिंग केमिकल्स से बालों के रोमछिद्रों पर भी बुरा असर पड़ता है। इस वजह से आपको बाल झड़ने की गंभीर समस्या से गुज़रना पड़ सकता है। बालों के रोमछिद्र बहुत कमज़ोर हैं तो आपके बाल बड़ी आसानी से झड़ना शुरू हो जाएंगे। नियमित स्ट्रेटनिंग ट्रीटमेंट से बालों के रोमछिद्र नष्ट भी हो सकते हैं। उनमें और बाल नहीं आएंगे और इस तरह आप गंजेपन का शिकार भी हो सकती हैं।

सिर में खुजली-

स्ट्रेटनिंग का असर आपके स्कैल्प यानि सिर की त्वचा पर भी पड़ता है। स्ट्रेटनिंग की वजह से बालों के रोमछिद्र नष्ट होने लगते हैं और बालों को मॉइश्चराइज़ करने के लिए पर्याप्त ऑयल नहीं मिल पाता है। इस वजह से सिर में खुजली की समस्या होने लगती है। सिर के आसपास की जगह जैसे माथे और गर्दन पर भी इसका असर पड़ता है।

रोज या बहुत ज्यादा स्ट्रेटनिंग  करने वाले उपकरणों और केमिकल्स का प्रयोग ना करें। संभव हो तो बालों के सूखने पर ही स्ट्रेटनिंग करें। इससे बालों को कम नुकसान पहुंचता है। हेयर डाई और हेयर स्प्रे से भी दूर रहें।

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu