हिंदी विवेक : we work for better world...

यह गीत, गीत कम और शायरी ज्यादा है। साहिर लुधियानवी कि यह विशेषता रही। असल जिन्दगी में पहले शायर और फिर गीतकार बने साहिर लुधियानवी का यह गीत महबूबा के बिछडने के बाद आशिक के दिल का दर्द बयां करता है। सुनील दत्त और मीनाकुमारी पर चित्रित इस गीत को मदन मोहन ने अपने संगीत से सजाया है. मोहम्मद रफी की रूहानी आवाज ने गीत में जो करिश्माई अंदाज डाला है, वह आशिकों के लिए ईश्वरी देन से कम नहीं।

This Post Has One Comment

  1. सर्वांगसुंदर एवं परिपूर्ण कृति!!

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu