हिंदी विवेक : we work for better world...

क्रांतिकारी हैं नक्सली   – राज बब्बर 

 

बीते दिनों हिंसक नक्सलियों द्वारा दूरदर्शन के एक पत्रकार एवं तीन जवानों की निर्ममता से हत्या की गई थी, जिसका देशभर के पत्रकार संगठनों ने धरना प्रदर्शन कर विरोध दर्शाया था और कश्मीर में चलाए जा रहे ऑपरेशन ऑल आउट की तर्ज पर नक्सलियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी। यह मामला अभी ठंडा भी नहीं हुआ था कि इसी बीच छत्तीसगढ़ में विधानसभा के चुनाव प्रचार के दौरान उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर ने नक्सलियों के बचाव में एक बड़ा बयान दिया है। उन्होंने नक्सलियों को क्रांतिकारी करार दिया और उनके समर्थन में आगे कहा कि न्याय व अधिकार हेतु लड़ रहे हैं। बंदूक की गोली से डराकर या लालच देकर उन्हें नहीं रोका जा सकता। इसके समाधान के लिए उनसे चर्चा करनी ही पड़ेगी।

ज्ञात हो कि इसके पूर्व नक्सलियों द्वारा किये गए उक्त हमलों के विरोध में कांग्रेस पार्टी ने अपना विरोध जताया था। चुनाव आते ही छत्तीसगढ़ में दिए गए राज बब्बर के उक्त बयान से कांग्रेस पार्टी के दोहरे चरित्र की हकीकत को आसानी से समझा जा सकता है। हालांकि राज बब्बर के इस बयान से देश भर में बवाल मच गया है और इस पर प्रतिक्रियाओं का दौर शुरू हो गया है।

मुख्यमंत्री रमन सिंह ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि राजनीतिक लाभ हेतु कांग्रेस पार्टी हमेशा से नक्सलियों माओवादियों को प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष समर्थन दिया है और उनके प्रति सहानभूति जताती रही है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने सीधे कांग्रेस पार्टी पर निशाना साधते हुए नक्सलियों की पैरवी करने का आरोप लगाया और इस मामले पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से जवाब मांगा है। इसके अलावा नक्सली मामलों की विशेषज्ञ के.स्मिता गायकवाड़ ने कहा कि कांग्रेस नेता महेंद्र कर्मा की निर्मम हत्या नक्सलियों ने की। इस पर राज बब्बर का क्या मत है?  बंदूक की गोली से समाधान नहीं होता, यह बात राज बब्बर हिंसा करने पर आमादा नक्सलियों से कहें।

इस मामले पर अपनी कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए महाराष्ट्र के विधायक व भाजपा प्रदेश सचिव अतुल भातखलकर ने कहा कि कांग्रेस ने सदैव नक्सलियों को गुप्त रूप समर्थन दिया है। चुनाव के दौरान अब उन्हें खुला समर्थन भी कोंग्रेस करने लगी है। कांग्रेस पार्टी हर मुद्दे को एक ‘वोट बैंक’ की नजर से ही देखती है। बीते दिनों ही नक्सलियों द्वारा किये गए हमलों में सुरक्षा बल के जवान मारे गए थे। इस  वेदनादायक घटना के ताजा होते हुए भी कोंग्रेसी नेता द्वारा दिया गया बयान शहीदों का अपमान है और उनके जख्मों पर नमक डालने का प्रयास है।

 

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu