हिंदी विवेक : we work for better world...

मोतीलाल मुकेश को प्रसिद्ध संगीतकार अनिल विश्वास के पास लेकर गए और उनसे अनुरोध किया कि वह अपनी फिल्म में मुकेश से कोई गीत गवाएं. 1945 में प्रदर्शित फिल्म ‘पहली नजर’ में अनिल विश्वास के संगीत निर्देशन में ‘दिल जलता है तो जलने दे’ गीत के बाद मुकेश कुछ हद तक अपनी पहचान बनाने में कामयाब हो गए थे.

मुकेश ने इस गीत को सहगल की शैली में ही गाया था. सहगल ने जब यह गीत सुना तो उन्होंने कहा, “अजीब बात है, मुझे याद नहीं आता कि मैंने कभी यह गीत गाया है.” इसी गीत को सुनने के बाद सहगल ने मुकेश को अपना उत्तराधिकारी घोषित कर दिया था.

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu