हिंदी विवेक : we work for better world...

दुनिया के सबसे विध्वंसक लड़ाकू विमानों में से एक फ्रांस के अत्याधुनिक राफेल लड़ाकू विमान रक्षा सौदे से चीन – पाकिस्तान डरे सहमे से है.वही अमेरिका व रूस के साथ लड़ाकू विमानों की डील न होने से वह भी बिदके हुए है.बता दे कि अमेरिका – रूस जैसे देशो के लड़ाकू विमानों को पछाड़ कर फ्रांस राफेल ने अपनी तूफानी विध्वंसक मारक क्षमता के बलबूते यह डील हासिल की है.हाल ही में सीरिया युद्ध के दौरान राफेल लड़ाकू विमान ने ताबड़तोड़ आक्रमण कर दुनिया को चेता दिया कि दुनिया के आधुनिक लड़ाकू विमानों में वह किसी से कम नहीं है.

चीन – पाकिस्तान जैसे पड़ोसी दुश्मन देशो से निपटने हेतु मोदी सरकार ने रक्षा क्षेत्र में तेजी लाई है.ऐसे समय में विदेशियों के हाथो की कठपुतली बने विपक्षी पार्टियों का रक्षा क्षेत्र में हस्तक्षेप कितना जायज है ?

वही अब यह मामला सर्वोच्च न्यायालय में जाने से क्या राफेल की राह आसान होगी ?अपनी बेबाक राय दे.

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu