हिंदी विवेक : we work for better world...

ओम पुरी एक असाधारण नायक जिन्होंने अपनी दमदार अदाकारी से कई दशकों तक बॉलीवुड में राज किया, आज ओम हमारे बीच नहीं रहे। अभाव और संघर्ष में बचपन और जवानी गुजारने वाले ओमपुरी की जिंदगी सभी के लिए प्रेरणा है।
महान अभिनेता और पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित ओम पुरी का शुक्रवार, 6 जनवरी 2017 सुबह दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। वह 66 साल के थे। बॉलीवुड फिल्म निर्माता अशोक पंडित ने उनके निधन की जानकारी ट्विटर के जरिए दी।

Embeded Object

ओम पुरी को पहली बार 1982 में “आरोहण” के लिए और दूसरी बार 1984 में “अर्ध सत्य” फिल्म के लिए बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड मिला। माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने महान अभिनेता के निधन पर शोक जताया है। वहीं ओम पुरी के निधन पर बॉलीवुड में मातम छा गया है। उन्होंने 100 से ज्यादा हिंदी और 20 हॉलीवुड फिल्मों में काम किया था। उन्हें अर्ध सत्य और आरोहण फिल्म के किरदार के लिए बेस्ट एक्टर के नेशनल अवॉर्ड से नवाजा गया। 1990 में पद्मश्री भी मिला था। बता दें कि इन दिनों वे सलमान के साथ ट्यूबलाइट की शूटिंग में बिजी थे। जून में ईद पर रिलीज होने वाली कबीर खान की इस फिल्म में ओम एक गांधीवादी नेता का रोल कर रहे थे।

ओम पुरी का पूरा नाम ओम राजेश पूरी है। इनका जन्म 18 अक्टूबर 1950 को अंबाला में हुआ था उनकी पढ़ाई पटियाला में हुई थी। ओमपुरी के पिता आर्मी में थे, इसलिए वो भी फौज में जाना चाहते थे, लेकिन उनकी किस्मत में तो बॉलीवुड के रंगीन पर्दे पर चमकना लिखा था। पुरी पुणे के फिल्म एंड टेलिविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के छात्र थे। एक्टर ने 1973 के बैच में नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा से नसीरुद्दीन शाह के साथ पढ़ाई की थी। उन्होंने अपने करियर की शुरुआत मराठी फिल्म घासीराम कोतवाल से की थी।

ओम पुरी न सिर्फ बॉलीवुड सिनेमा, बल्कि पाकिस्तानी, ब्रिटिश और हॉलिवुड फिल्मों में भी अपनी बेमिसाल अदाकारी के लिए जाने जाते रहे। ओमपुरी ने कॉमिडी से लेकर गंभीर किरदारों को बखूबी निभाया। ओमपुरी उन चंद कलाकारों में से एक थे जिन्होंने समानांतर सिनेमा से लेकर कमर्शियल सिनेमा तक में कामयाबी हासिल की। आक्रोश, आरोहन, अर्धसत्य, माचिस उनकी बेहतरीन फिल्मों में शुमार की जाती हैं। ओम पुरी ने सीरियल “भारत एक खोज”, “कक्काजी कहिन”, “सी हॉक्स”, “अंतराल”, “मि. योगी”, “तमस” और “यात्रा” में भी काम किया।

ओम् पुरी का निधन सिनेमा जगत की एक अपूर्णीय क्षति है, भगवान ओम पुरी जी की आत्मा को शांति व उनके परिवार को इस दुखद घड़ी में धैर्य दे।
पद्मश्री ओम् पुरी जी को विवेक परिवार की ओर से श्रद्धांजलि।

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu