हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...

बर्फ का आया तूफान, गई 2 हजार लोगों की जान

आज ही के दिन 1962 में पेरू के उत्तर पश्चिम हिस्से में बर्फीले तूफान और चट्टान खिसकने से कम से कम 2,000 लोगों की मौत हुई.

    पेरू की सबसे ऊंची पहाड़ी श्रंखला एंडीस से अचानक लाखों टन बर्फ, चट्टानें, कीचड़ और मलबा नीचे की तरफ गिरने लगे. यह हादसा आधी रात को हुआ था. मलबे के नीचे रानराहिरका ग्राम समेत आठ और शहर दब गए. बर्फ और चट्टान के मलबे के नीचे आने से इन शहरों में भारी बर्बादी हुई. बर्फीले तूफान के कारण राहत और बचाव कार्य में दिक्कतें आई. मलबे में दबे कुछ लोगों को जिंदा बचा लिया गया.

पेरू की वायुसेना ने अपने दो जहाजों को राहत सामग्री और कुछ लोगों को लेकर भेजा जिन्हें क्षेत्र में जाने वाले रास्तों को खोलने का काम दिया गया था. पेरू में 1970 में एक और बर्फीले तूफान में करीब 20,000 लोग मारे गए थे. 1962 में आए बर्फीले तूफान और चट्टान खिसकने से सिर्फ 2,000 लोगों की मौत हुई थी लेकिन 1970 में इससे भी बड़ी तबाही सामने आई.

आज के इतिहास की अन्य प्रमुख घटनाएं

1922: डायबटीज के मरीजों को पहली इंसुलिन दी गई थी.

1954: बाल मजदूरी के खिलाफ आवाज उठाने वाले नोबल विजेता कैलाश सत्‍यार्थी का जन्‍म हुआ था.

1966: अपनी सादगी से दिल जीतने वाले लाल बहादुर शास्‍त्री का निधन ताशकंद में हुआ था.

1998: अल्जीरिया की सरकार ने दो गांवो पर हुए हमलों के लिए, जिसमें 100 लोगों की हत्या कर दी गई थी, इस्लामी चरमपंथियों को ज़िम्मेदार ठहराया था.

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu