हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...

आपकी अलमारी तरह -तरह के डिजाइनर और कैजुअल कपड़ों से भरी है,फिर भी जैसे ही आप कोई नयी ड्रेस या जूलरी देखती हैं आपका मन उसे खरीदने के लिए कुलबुलाने लगता है | पता है इसे खरीदने के बाद महीने का बजट गड़बड़ा जाएगा, फिर भी उस चीज को खरीद कर आपको एक तरह की तृप्ति मिलती है | तब सचमुच आप खरीदने की आदी यानी शॉपोहोलिक बनती जा रही हैं, यह भी नशे की तरह की एक लत है |  जिससे छुटकारा पाने के लिए कभी-कभी मनोचिकित्सक के पास भी जाना पड़ता है | यदि आप समय पर अपने आप पर काबू पा लें तो इस आदत से जल्दी छुटकारा पा लेंगी | इस संबंध में कुछ बातें ध्यान देने योग्य है-

क्या आप अकेलेपन की शिकार हैं ?

कई बार व्यक्ति अकेलेपन से उत्पन्न तनाव को शॉपिंग के द्वारा दूर करना चाहता है | विभिन्न वस्तुएँ उसके खालीपन को भरती हैं और क्षणिक देर के लिए ही सही उसे आनंद की प्राप्ति होती है | इस अकेलेपन को अपनी किसी हॉबी को अपनाकर दूर किया जा सकता है | आपके बचपन में जो भी शौक थे उन्हें फिर से अपनाए,मसलन चित्रकला,नृत्य,गायन ,लेखन, पठन इत्यादि | आप अपनी हॉबी में इतनी ज्यादा मशगूल हो जाएंगी कि शॉपिंग की आदत धीरे-धीरे कम हो जाएगी |

ऑनलाइन शॉपिंग से बनाए दूरी –

आजकल ऑनलाइन शॉपिंग से सुविधा तो हुई है पर खामी यह है कि शॉपोहोलिक लोग इस पर कई बार वे वस्तुएं भी मँगा लेते हैं जिनकी अभी उन्हें जरूरत नहीं | विज्ञापन का आकर्षण कुछ इस तरह का होता है कि लगता है कम पैसों में बेहतर वस्तु आ रही है तो क्यों न खरीदें ,इसी चक्कर में कई फालतू चीजों से घर भर जाता है | ऑनलाइन यदि आप हैं तो शॉपिंग के स्थान पर कुछ अच्छे लेखकों की रचनाएँ पढ़ें, कुछ स्वादिष्ट व्यंजन बनाने के तरीके सीखें, स्वास्थ्य संबंधी जानकारी लें न कि बिना वजह शॉपिंग करें |

अपनी पुरानी ड्रेस ,साड़ी से कुछ नया डिजाइन करें – शॉपिंग से मन हटाने का यह अच्छा तरीका है | अपनी पुरानी साड़ी ,दुपट्टे या ड्रेस से कुछ नये डिजाइन की ड्रेस बनाने की सोचें और अच्छे से टेलर को सिलने दे दें, कम पैसों में बढ़िया काम हो जाएगा,आपकी रचनात्मकता भी दिखेगी और इस ड्रेस को पहनकर आप खुश भी हो जाएंगी |

अपने कुछ कपड़े और सामान दान में दें –  यदि शॉपिंग करके आपने ढेरों कपड़े और सामान इकट्ठा किया है तो ध्यान रखें हमारे देश में ऐसे गरीब भी हैं जो पहनने के लिए एक कपड़ा भी मुश्किल से बनवा पाते हैं | आपके द्वारा दिया हुआ दान इनके बहुत काम आएगा और आपको भी समाजसेवा कर संतोष प्राप्त होगा|

यदि आप सचमुच शॉपिंग की आदी हो गई हैं तो वक्त रहते इन नुस्खों पर अमल करें | जब जरूरत हो तभी शॉपिंग करें, इसे लत न बनाए | उन वस्तुओं का भी उपयोग करें जो हमें बिना खरीदे मिलती है, जैसे सूरज की किरणें,चाँदनी,सृष्टि की हरियाली, हवा,  इन मुफ्त की चीजों पर तो हम ध्यान ही नहीं देते | इनको अनुभव करें, शॉपिंग से ज्यादा प्रसन्नता मिलेगी |

 

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu