हिंदी विवेक : we work for better world...

 

युवी की तेज तर्रार पारी रही मैच का “टर्निंग पॉइंट”
चैंपियंस ट्रॉफी के सबसे रोमांचक और हाई वोल्टेज मैच में कल भारत ने चिर प्रतिद्वंदी पाकिस्तान को 124 रन से करारी शिकस्त दी।भारत की इस जीत में वैसे तो कई खिलाड़ियों की शानदार पारियां शामिल थी,लेकिन युवराज सिंह द्वारा खेली गई तेज़तर्रार अर्धशतकीय पारी इस हाई वोल्टेज मैच की “टर्निंग पॉइंट” साबित हुई।ऐसा अगर हम कहें तो गलत नही होगा,क्योंकि युवी की उस धमाकेदार पारी के बाद से ही पाकिस्तान 50 फीसदी मैच से बाहर हो गया था।171 के स्कोर पर रोहित शर्मा के रूप में तीसरा विकेट गिरने के बाद युवराज सिंह क्रीज पर आए।उस समय रनों की गति को तेज करने को दरकार भारत को थी।युवराज ने उसे भांपते हुए शुरुवात से ही आक्रामक रुख अपनाया और ताबड़तोड़ बल्लेबाज़ी करते हुए सिर्फ 32 गेंदों में 8 चौके और एक छक्के की मदद से 53 रन ठोंक डाले और भारत को 250 के पार पहुचाया।इस तूफानी पारी से पाकिस्तानी गेंदबाजी एकदम बिखर गई और भारत ने 319 रन का एक विशाल स्कोर खड़ा कर दिया।युवी की इस पारी के बाद ही रन गति ने जो रफ्तार पकड़ी,उसे कोहली और पंड्या ने अंत तक आखिर तक बनाये रखा।

रोहित-धवन-कोहली ने की पाक गेंदबाजों की जमकर क्लास
मोहम्मद आमिर और वहाब रियाज के पाकिस्तानी टीम में होने से उसकी गेंदबाजी थोड़ी मजबूत नज़र आ रही थी।लेकिन भारतीय सलामी जोड़ी रोहित शर्मा और शिखर धवन ने बड़ी ही सूझबूझ से शानदार बल्लेबाजी करते हुए न सिर्फ विकेट के लिए पाकिस्तानी गेंदबाजों को तरसाया,बल्कि पहले विकेट के लिए 24 ओवरों में 136 रन की शतकीय साझेदारी कर डाली।इस साझेदारी के चलते पाकिस्तानी गेंदबाज पूरे मैच में लाइन लेंथ के लिए जूझते नज़र आए।धवन ने 68 और रोहित ने शानदार 91 रन बनाए।धवन के आउट होने के बाद आये कप्तान विराट कोहली ने भी रोहित के साथ मिलकर पाक गेंदबाजों की क्लास लेनी जारी रखी।कोहली 64 गेंदों पर 81 रन बनाकर नाबाद रहे।जबकि पंड्या ने आखिरी ओवर में धमाल मचाते हुए लगातार तीन छक्के जड़े और 7 गेंदों में 20 रन बना डाले।

गेंदबाजों ने किया पाक बल्लेबाज़ी का काम तमाम
320 रनों के पहाड़ जैसे लक्ष्य का पीछा करने उतरी पाक टीम कभी भी उस लक्ष्य तक पहुचते नही दिखी।अहमद शहजाद और अज़हर अली की सलामी जोड़ी ने कुछ देर तक संघर्ष जरूर किया,लेकिन शहजाद का विकेट गिरते ही विकेटों का पतझड़ होना शुरू हो गया।भारतीय गेंदबाजों की सधी गेंदबाजी के सामने सिर्फ अजहर अली 50 रन और मोहम्मद हफीज 33 रन ही कुछ संघर्ष कर पाए। पूरी पाकिस्तानी टीम 164 रन पर आल आउट हो गई।भारतीय तेज़ और स्पिन गेंदबाजों दोनों ने शानदार गेंदबाजी की।भारत की तरफ से सबसे ज्यादा 3 विकेट उमेश यादव ने लिए,जबकि पंड्या और जडेजा को 2-2 और भुवी को एक विकेट मिला।

भारत में फूटे पटाखे तो पाकिस्तान में टीवी
भारत और पाकिस्तान के बीच जब भी मैच होता है तो स्थिति बिल्कुल आर-पार वाली बनी रहती है।अगर उस मैच में भारत की विजय होती है तो जीत की खुशी में हिंदुस्तानी पटाखे जलाकर सेलिब्रेशन करते हैं तो पाकिस्तान में हार के गम में टीवी फूटते हैं।कुछ ऐसा ही नज़र कल के मैच के बाद भी देखने को मिला।भारत की जीत के बाद मुम्बई सहित पूरे देश मे पटाखे जलाकर जीत की खुशियां लोगों ने मनाई,वही पाकिस्तान में टीवी तोड़कर हार का गम।

बारिश ने भी नही दिया पाकिस्तानियों का साथ
भारत और पाकिस्तान के बीच होने वाले चैंपियंस ट्रॉफी मैच से पहले तेज़ बारिश होने की संभावना होने और मैच पर उनका असर पड़ने की संभावना मौसम विशेषज्ञों ने जताई थी।मैच के दौरान कई बार बारिश ने खलल भी डाला,लेकिन पाकिस्तानियों को हार से वह भी नही बचा पाई।बारिश होने के चलते मैच को पहले 48-48 ओवरों का किया गया और पाकिस्तान को 48 ओवरों में 324 रन का लक्ष्य डकवर्थ लुइस नियम ने तहत दिया गया।पाकिस्तानी पारी के दौरान फिर से बारिश ने खलल डाला तो नियम के मुताबिक पाकिस्तान को 41 ओवरों में 245 रन म लक्ष्य दिया गया,जहाँ वह पहुच नही सके और 34 ओवरों में ही पूरी टीम पवेलियन वापस पहुच गई।

 

मैच : ऑस्ट्रेलिया वर्सेस बांलादेश
तारीख : ५ जून
स्थान : ओवल,इंग्लैंड

चैंपियन ट्रॉफी २०१७ में पांचवें मैच में ५ जून को ऑस्ट्रेलिया और बांग्लादेश आमने सामने होंगे। दोनों टीमों के लिए यह मैच जितना बहुत जरुरी होगा और यह जीत दोनों टीमों की आगे की राह को तह करेगी। ऑस्ट्रेलिया को जहाँ बारिश से धुले मैच में १ अंक से संतोष करना पड़ा था तो बांग्लादेश एक बड़ा स्कोर बनाने के बावजूद इंग्लैंड के हाथों ८ विकेट से मैच हार गई थी। इंग्लैंड के खिलाफ मैच में बांग्लादेश की कमजोर गेंदबाजी ३०८ रनो के स्कोर को भी नहीं बचा पाई थी। इसी को देखते हुए अब ऑस्ट्रेलिया भी बांग्लादेश की इसी कमजोर गेंदबाजी को निशाना बनाने की रणनीति बना रही है। इसका खुलासा खुद ऑस्ट्रेलियाई खिलाडी ग्लेन मैक्सवेल भी कर चुके हैं। पिछले मैच में ३०८ रनों के बावजूद बांग्लादेशी गेंदबाजों ने जिस तरह से अनुशासनहीन गेंदबाजी करके रन लुटाये,उससे उनकी अनुभवहीनता खुलकर सामने आ गई थी। बांग्लादेश के लिए ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच करो या मारो वाली स्थिति वाला होगा,क्योंकि अगर वह इस मैच को हार गई तो उसके टूर्नामेंट से बाहर होने का खतरा मंडराने लगेगा। जीत दर्ज करने के लिए उसे अपनी गेंदबाजी में पिछले मैच में की गई गलतियों से सबक लेते उसमें सुधार करना होगा और ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों डेविड वार्नर,स्टीव स्मिथ,ग्लेन मैक्सवेल पर अंकुश लगाना होगा। वही बल्लेबाजी में उसे एक बार फिर से तमीम इक़बाल,इमरुल कायेस,शाकिब उल हसन से अच्छे प्रद्रशन की कप्तान मुस्फिकुर रहीम को होगी और इस टूर्नामेंट में अपना खाता खोलना चाहेगी।

वही दूसरी तरफ ख़िताब के प्रबल दावेदारों में शामिल ऑस्ट्रेलियाई टीम भी इस मैच को जीत कर टूर्नामेंट में अपनी स्थिति मजबूत करने की कोशिश करेगी।पिछले मैच में शानदार गेंदबाजी करने वाले जोश हेज़लवुड से कप्तान स्मिथ को इस मैच में शानदार प्रदर्शन की उम्मीद होगी। ऑस्ट्रेलियाई टीम की बल्लेबाजी के बात करे तो इस वक़्त डेविड वार्नर,स्टीव स्मिथ और मैक्सवेल जबरदस्त फॉर्म में हैं और वह बांग्लादेश के सामने एक विशाल स्कोर खड़ा करके उसे दबाव में लाना चाहेगी। हालाँकि पिछले मैच में वार्नर जल्दी आउट हो गए थे,उसकी भरपाई वह इस मैच में करना चाहेंगे।

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu