हिंदी विवेक : we work for better world...

 

एक-दूसरे पर निर्भर हैं ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड
1 जून से शुरू हुई चैंपियंस ट्रॉफी अपने बीच के पड़ाव पर पहुच चुकी है।टूर्नामेंट में शामिल हर टीम सबसे सेमीफाइनल में जगह बनाने को कोशिशों में लगी हुई है।लेकिन इस टूर्नामेंट में दो ऐसी टीमें भी हैं जिनके सेमीफाइनल में पहुचने के रास्ता एक दूसरे की हार पर निर्भर करता है।ये टीमें हैं ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड।इस तरह की स्थिति कल इंग्लैंड के हाथों न्यूजीलैंड की हार के बाद बनी है।ग्रुप ए के मैच में इंग्लैंड ने कल न्यूजीलैंड को 86 रनों से हरा दिया।इस जीत से इंग्लैंड का सेमीफाइनल में पहुचना लगभग तय है।इस ग्रुप से सेमीफाइनल में पहुचने वाली दूसरी टीम कौन होगी,इस पर ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बीच कड़ी टक्कर है।ऑस्ट्रेलिया ने अब तक दो मैच खेले हैं,लेकिन दोनों बारिश के भेंट चढ़ गए।इसके चलते ऑस्ट्रेलिया के पास 2 अंक हैं।न्यूजीलैंड ने भी अभी तक 2 मैच खेला है,जिसमें से एक बारिश की वजह से रद्द हो गया था,जबकि दूसरे में उसे हार का सामना करना पड़ा।न्यूजीलैंड एक अंक के साथ ग्रुप ए में तीसरे स्थान पर है।दोनों टीमों के पास एक-एक मैच है।न्युजीलैंड को कमजोर बांग्लादेश से खेलना है तो ऑस्ट्रेलिया को इंग्लैंड जैसी मजबूत टीम के साथ।अगर ऑस्ट्रेलिया इंग्लैंड के खिलाफ जीत दर्ज करती है तो वह सेमीफाइनल में पहुच जाएगी,लेकिन अगर वह इंग्लैंड से हार गई और न्यूजीलैंड बांग्लादेश से जीत गया तो ज्यादा अंकों के आधार पर वह सेमीफाइनल में पहुच जाएगा।अगर दोनों मैचों में बारिश ने ख़लल डाला और दोनों मैच रद्द हुए तो ऑस्ट्रेलिया के अंक ज्यादा होंगे और वह सेमीफाइनल में पहुच जाएगा।जबकि इस ग्रुप की चौथी टीम बांग्लादेश लगभग टूर्नामेंट से बाहर हो चुकी है।ऐसे में ऑस्ट्रेलिया येही दुआ कर रही होगी कि बांग्लादेश या तो न्यूजीलैंड को हरा दे या फिर बारिश मैच को रद्द करा दे।वही दूसरी तरफ न्यूजीलैंड भी येही दुआ कर रही होगी कि इंग्लैंड की टीम ऑस्ट्रेलिया को हरा दे।

आज का मैच : साउथ अफ्रीका वर्सेज पाकिस्तान

पाकिस्तान की हार, करेगी उसे टूर्नामेंट से बाहर
चैंपियंस ट्रॉफी 2017 में आज एक महत्वपूर्ण मुकाबला चल रहा है।यह मुकाबला साउथ अफ्रीका और पाकिस्तान के बीच होना है।यह मैच पाकिस्तान के करो या मरो की स्थिति वाला होगा,क्योंकि अगर पाकिस्तान इस मैच में साउथ अफ्रीका से हार जाता है तो वह टूर्नामेंट से बाहर हो जाएगा,जबकि साउथ अफ्रीका जीत के साथ सेमीफाइनल में पहुच जाएगा।पाकिस्तान अपना पिछला मैच भारत के हाथों हार चुका है,जबकि साउथ अफ्रीका ने पिछले मैच में श्रीलंका को हरा चुका है।इस टूर्नामेंट में पाकिस्तान की सबसे बड़ी समस्या उसकी बल्लेबाज़ी रही है।बदलाव के दौर से गुज़र रही पाकिस्तानी टीम की बात करे तो 3-4 खिलाड़ी ही ऐसे हैं,जिन्हें अंतर्राष्ट्रीय मैच खेलने का अनुभव है,बाकी अन्य खिलाड़ी बिल्कुल नए हैं और उनमें अनुभव की कमी है,जो भारत के खिलाफ मैच में भी देखने को मिला और पाकिस्तानी बल्लेबाजी ताश के पत्तो को तरह बिखर गई थी।पाकिस्तान का मजबूत पक्ष उसकी गेंदबाजी है।पिछले मैच में शुरुवात में मोहमद आमिर और वहाब रियाज ने अच्छी गेंदबाजी की थी,लेकिन बाद में भारतीय बल्लेबाजों को कमाल की बैटिंग के आगे बेबस हो गए थे।ऐसे में अगर पाकिस्तान को साउथ अफ्रीका जैसी मजबूत टीम के खिलाफ मैच जीतना है तो उसे अपनी बल्लेबाजी और गेंदबाजी में काफी सुधार करना होगा।पाकिस्तानी गेंदबाजों को शुरुवात से ही अच्छी गेंदबाजी करके कुछ विकेट झटक अफ्रीका को दबाव में लाना होगा।

साउथ अफ्रीका जीता तो पहुच जाएगा सेमीफाइनल के करीब
इन मैच में पाकिस्तान के मुकाबले साउथ अफ्रीका की टीम बहुत ही संतुलित और मजबूत नज़र आ रही है।श्रीलंका के खिलाफ पिछले मैच में जिस तरह से अफ्रीका बल्लेबाजों और गेंदबाजों ने प्रदर्शन किया है,उसे देखते हुए साउथ अफ्रीका के इस मैच को जीतने के आसार ज्यादा नज़र आ रहे हैं।अगर साउथ अफ्रीका इस मैच को जीत जाता है तो वह सेमीफाइनल के बहुत करीब पहुच जाएगा।साउथ अफ्रीका के बल्लेबाज हाशिम अमला,दी कॉक,फॉफ दु प्लेसिस,एबी डिबिलिअर्स और डुमिनी बहुत ही अच्छी फॉर्म में चल रहे हैं।अमला ने पिछले मैच में शानदार शतक और दु प्लेसिस ने अर्धशतक जमाया है।अंतिम ओवरों में डुमिनी और मोर्ने मोर्कल के तेज़ी से रन बटोरने की क्षमता से सभी वाकिफ है।वही अफ्रीकी गेंदबाजों का प्रदर्शन भी पिछले मैच में काफी अच्छा रहा था।

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu