हिंदी विवेक : we work for better world...

 

जिस चीज का डर था वही कल घटित हुआ। चैंपियंस ट्रॉफी में कमजोर मानी जा रही श्रीलंका की टीम ने आखिर एक बड़ा उलटफेर कर दिया और खुद के सेमीफाइनल में पहुचने की उम्मीदों को जिंदा रखा है।गुरुवार को ओवल में खेले गए एक महत्वपूर्ण मुकाबले में श्रीलंकाई टीम ने भारत को 7 विकेट से हराकर ग्रुप ए को और भी कठिन बना दिया । भारत को इस हार के पीछे बल्लेबाजों द्वारा बीच के ओवरों में की गई धीमी बल्लेबाजी और बाद में गेंदबाजों द्वारा की गई घटिया और अनुशासनहीन गेंदबाजी है, जिसकी वजह से भारत के सेमीफाइनल में पहुचने की डगर थोड़ी मुश्किल हो गई है। पहले बल्लेबाजी करते हुए भारतीय सलामी जोड़ी रोहित और धवन ने जबरदस्त शुरुवात की और 23 ओवरों में 138 रन जोड़ दिए। लेकिन रोहित के बाद क्रीज पर कप्तान कोहली भी शून्य पर आउट हो गए।विराट के बाद युवराज क्रीज पर आए, लेकिन जब तक खड़े रहे, लय पाने के लिए संघर्ष करते नज़र आये। यही वजह थी कि एक समय 400 रनों के करीब पहुचती नज़र आ रही टीम की रनगति लगातार धीमी होती गई और 23 ओवरों में 138 रन का आंकड़ा छूने वाली भारतीय टीम ने 200 का आंकड़ा छूने में 40 ओवर लगा दिए। यानी 17 ओवरों में भारतीय बल्लेबाजों ने सिर्फ 62 रन बनाए और स्कोर 321 तक ही पहुच सका। धीमी बल्लेबाजी को देख ऐसा लग रहा था, जैसे भारतीय बल्लेबाज किसी मजबूत गेंदबाजी आक्रमण के सामने बल्लेबाजी कर रहे हैं और दबाव में हैं, जबकि श्रीलंका गेंदबाजों की तरफ से ऐसी कोई स्थिति नही थी। भारत की हार की दूसरी वजह उसकी घटिया और अनुशासनहीन गेंदबाजी रही, जिसका फायदा श्रीलंकाई बल्लेबाजों खासकर नए बल्लेबाजों ने उठाया और जमकर रन बटोरे। पाकिस्तान के खिलाफ शानदार गेंदबाजी करने वाले भारतीय गेंदबाज एकदम बिखरे-बिखरे से नज़र आये। 321 रनों के विशाल लक्ष्य और श्रीलंका का शुरुआती विकेट मिलने के बाद भी वह उस लय को बरकार नही रख पाए। भुवनेश्वर कुमार को छोड़ उमेश यादव, जसप्रीत बुमराह, रविन्द्र जडेजा ने दिशाहीन गेंदबाजी की और खूब रन लुटाए। इस मैच में भारतीय टीम विकेट चटकाने के लिए संघर्ष करती नज़र आई। धनुष्का 76 रन,कुशल मेंडिस 89 रन,कुशल परेरा 47 रन और कप्तान एंजिलों मैथेउज 52 रन ने जमकर भारत की दिशाहीन गेंदबाजी पर रन बटोरे और 48.4 ओवरों में ही जीत दर्ज कर ली।

सेमीफाइनल की राह मुश्किल
श्रीलंका के हाथों मिली हार के बाद भारत के सेमीफाइनल में पहुचने की राह मुश्किल हो गई है।11 जून को भारत को मजबूत और फॉर्म में चल रही साउथ अफ्रीका से भिड़ना है।साउथ अफ्रीका को भी सेमीफाइनल में पहुचने के लिए जीत बेहद जरूरी है और ऐसे में वह भारत के खिलाफ जीत दर्ज करने की पूरी कोशिश करेगी।भारत और साउथ अफ्रीका दोनों के ही दो मैचों से दो अंक हैं।11जून को होने वाले मैच में जो भी टीम जीत दर्ज करेगी,उसे ही सेमीफाइनल का टिकट मिलेगा।

ग्रुप बी बना कन्फ्यूजन
चैंपियंस ट्रॉफी टूर्नामेंट की शुरुवात में ग्रुप बी में शामिल टीमों को देखकर येही माना जा रहा था कि इस ग्रुप से भारत और साउथ अफ्रीका की टीमें सेमीफाइनल में जगह बनाएंगी।पाकिस्तान और श्रीलंका की गिनती खिताब के दावेदारों में नही हो रही थी।अब येही ग्रुप कन्फ्यूजन का ग्रुप बन चुका है और अब यह अंदाजा लगाना मुश्किल है कि इस ग्रुप से कौन सी दो टीमें सेमीफाइनल में पहुचेंगी।चारों ही टीमों में दो- दो मैचों से 2- 2 अंक हैं और इनका एक- एक मैच बचा हुआ है।पाकिस्तान को श्रीलंका से भिड़ना है तो भारत को साउथ अफ्रीका से।ऐसे में जो टीम अच्छा प्रदर्शन करेगी और जीत दर्ज करने में कामयाब होगी,वही सेमीफाइनल को टिकट पाएगी।लेकिन अभी यह कह पाना बहुत मुश्किल है कि वह दो टीमें कौन होंगी।

आज का मुकाबला : न्यूजीलैंड वर्सेज बांग्लादेश

बांग्लादेश पर जीत और ऑस्टेलिया की हार न्यूजीलैंड को देगी सेमीफाइनल का टिकट

चैंपियंस ट्रॉफी 2017 में आज न्यूजीलैंड और बांग्लादेश एक दूसरे के सामने होंगे।यह मैच न्यूजीलैंड के नजरिये से बहुत महत्वपूर्ण है और वह इसे हर हाल में जीतना चाहेगा।जबकि बांग्लादेश इस टूर्नामेंट से भले ही बाहर हो चुका है और वह भी इस मैच को जीत वह सम्मानजनक विदाई लेना चाहेगा।न्यूजीलैंड के दृष्टिकोण से यह मैच इसलिए बेहद महत्वपूर्ण है क्योंकि अगर वह इस मैच में जीत दर्ज करता है तो सेमीफाइनल में पहुचने की उसकी उम्मीदें बरकरार रहेंगी।बांग्लादेश पर जीत और इंग्लैंड के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया की हार ही उसे सेमीफाइनल का टिकट देगी।हालांकि यह इतना आसान भी नही है।आज के मैच की बात करें तो बांग्लादेश के सामने न्यूजीलैंड के पलड़ा भारी जरूर है,लेकिन वह बांग्लादेश को बिल्कुल भी हल्के में नही लेना चाहेगा।बांग्लादेश के पास खोने के लिए कुछ नही बचा है और ऐसे में वह बिना किसी दबाव के मैच में उतरेगी।इस टूर्नामेंट में न्यूजीलैंड की किस्मत अभी तक बहुत ही खराब रही है।उसका एक मैच बारिश की भेंट चढ़ गया तो पिछले मैच में उसे इंग्लैंड के हाथों हार झेलनी पड़ी।न्यूजीलैंड के दो मैचों से एक अंक हैं,जबकि ऑस्ट्रेलिया के इतने ही मैचों से 2 अंक हैं।अगर इंग्लैड के खिलाफ मैच में ऑस्ट्रेलिया ने जीत दर्ज की तो ज्यादा अंकों के आधार पर वह सेमीफाइनल में पहुच जाएगा और न्यूजीलैंड की उम्मीदों पर पानी फिर जाएगा।आज के मैच में न्यूजीलैंड को एक बार फिर अपने कप्तान विलियमसन,रोंची,टेलर और मार्टिन गुप्टिल से अच्छी बल्लेबाजी की उम्मीद होगी।विलियमसन ने दोनों मैचों में शानदार प्रदर्शन किया है और 100 और 87 रन की पारियां खेली है।रोस टेलर का भी प्रदर्शन अच्छा रहा है।बांग्लादेशी बल्लेबाजों की बात करे तो तमीम इकबाल को छोड़ बाकी ने पूरे टूर्नामेंट में निराश किया है।तमीम इकबाल ने दोनों ही मैचों में शानदार बल्लेबाजी की है और न्यूजीलैंड को उनसे सावधान रहना होगा।न्यूजीलैंड के गेंदबाजों टिम साउथी,बोल्ट और मिल्ने को तमीम को जल्दी आउट करना होगा।वही दूसरी तरफ बांग्लादेश को अपनी गेंदबाजी में काफी सुधार करने की जरूरत है।पूरे टूर्नामेंट में उसकी गेंदबाजी बेहद खराब रही है और इसी का नतीजा है कि वह टूर्नामेंट से बाहर हो चुकी है।

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu