हिंदी विवेक : we work for better world...

 

चैंपियंस ट्रॉफी के पहले सेमीफाइनल में कल पाकिस्तान ने इंग्लैंड को चौकाते हुए 8 विकेट से हराकर फाइनल में जगह बना ली,जहां उसका मुकाबला 18 जून को आज भारत और बांग्लादेश के बीच होने वाले दूसरे सेमीफाइनल के विजेता से होगा।अब तक टूर्नामेंट में अपने बल्लेबाजों की जबरदस्त बल्लेबाजी के दम पर अपराजित रही इंग्लैंड को इस मैच में उन्ही बल्लेबाजों ने धोखा दिया और गैरजिम्मेदाराना शॉट खेलकर अपना विकेट गवाते रहे।इंग्लैंड के बल्लेबाजों की इसी लापरवाही भारी बल्लेबाज़ी के चलते वह इस महत्वपूर्ण मुकाबले में बड़ा स्कोर खड़ा नही कर पाया और पाकिस्तान ने मिले आसान से लक्ष्य का पीछा करते हुए फाइनल में खेलने का मौका पा लिया।मैच शुरू होने से पहले येही उम्मीद जताई जा रही थी कि इंग्लैंड की मजबूत बल्लेबाजी के चलते उसका पलड़ा भारी रहेगा।टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी इंग्लैंड की सलामी जोड़ी जॉन बीएररेस्टो और हॉल्स ने अच्छी शुरुआत की।लेकिन हॉल्स का विकेट गिरते ही पतझड़ शुरू हो गया और नियमित अंतराल पर विकेट गिरते रहे।वो तो भला हो वेन स्टोक्स का,जिन्होंने अंत मे अच्छी बल्लेबाजी करते हुए 36 रन बनाए और अपनी टीम के स्कोर को 200 के पार पहुचाया।उनके आउट होने के कुछ देर बाद ही इंग्लैंड की पूरी टीम 49.5 ओवरों में 211 रनों पर सिमट गई।पाकिस्तान की तरफ से हसन अली ने सबसे ज्यादा तीन और रईस ने 2 विकेट लिए।211 रनों के पीछा करने उतरी पाकिस्तानी टीम ने जबरदस्त और तेज़ शुरुवात की।सलामी जोड़ी फखर और अज़हर अली ने पहले विकेट के 118 रन जोड़े।फखर ने 57 और अज़हर 76 रन बनाकर आउट हुए।इसके बाद बाबर और हाफिज ने पाकिस्तान को कोई और नुकसान नही होने दिया और जीत की मंजिल तक ले गए।बाबर 38 और हफीज 31 रन बनाकर नाबाद रहे।इस मैच में इंग्लैंड के गेंदबाज विकेट के लिए तरसते नज़र आए।इस मैच में ऐसा लग ही नही रहा था कि यह वही इंग्लैंड की टीम खेल रही है,जिसने तीनों लीग मैचों में शानदार प्रदर्शन किया था और न्यूजीलैंड,ऑस्ट्रेलिया जैसी टीमों को मात देकर शीर्ष पर रही थी।

दो एशियाई टीमों के बीच फाइनल मुकाबला
इंग्लैंड के हार जाने के बाद यह साफ हो गया है कि चैंपियंस ट्रॉफी 2017 का 18 जून को होने वाला फाइनल मुकाबला दो एशियाई टीमों के बीच होगा।एक एशियाई टीम पाकिस्तान फाइनल में पहुच चुकी है। दूसरा सेमीफाइनल मुकाबला भी दो एशियाई टीमों भारत और बांग्लादेश के बीच होना है।इसमें से एक टीम फाइनल में जाएगी और पाकिस्तान के साथ खेलेगी।इस समीकरण से यह भी तय हो गया है कि इस बार भी चैंपियंस ट्रॉफी एशिया में ही आएगी।

दूसरा सेमीफइनल : भारत वर्सेज बांग्लादेश
दुनिया की नंबर एक वनडे टीम साउथ अफ्रीका को हराकर “विराट सेना” चैंपियंस ट्रॉफी के सेमीफाइनल में है। आज सेमीफाइनल में टीम इंडिया का मुकाबला अपने से कमजोर बांग्लादेश से है, लेकिन इसी टीम के खिलाफ विराट कोहली को सबसे ज्यादा सावधान रहने की जरुरत है। इस मैच को जीतने वाली टीम फाइनल में पहुंचेगी। जानकारों का कहना है कि मैच में पलड़ा भारत का ही भारी है,मगर बांग्लादेश की टीम उलटफेर में माहिर है। ज्यादातर बड़ी टीमें इस टीम को कमजोर आंकती हैं और इसका खामियाजा भुगतती हैं। विराट कोहली की टीम को अगर फाइनल में जगह बनानी है तो उन्हें बांग्लादेश को कमजोर नहीं समझना नहीं होगा, क्योंकि कई मौकों पर भारत सहित कई टीमों बांग्लादेश ने उलटफेर कर शिकार होना पड़ा है। 2007 के विश्वकप के मुकाबले में पोर्ट ऑफ स्पेन के क्वींस पार्क ओवल में खेले गए ग्रुप-बी के मुकाबले में भारत और बांग्लादेश आमने-सामने थे। भारत ने उस मैच में टॉस जीतकर बल्लेबाजी का फैसला किया था. सौरव गांगुली 66 और युवराज सिंह 47 के अलावा कोई बल्लेबाज बांग्लादेशी गेंदबाजी आक्रमण के आगे नहीं टिक पाया। भारत की पूरी टीम 49.3 ओवर में पवेलियन लौट गई। 192 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी बांग्लादेश की टीम ने 9 गेंद रहते यह मैच 5 विकेट से जीत लिया था। बांग्लादेश की तरफ से तमीम इकबाल ने 51, मुश्फिकुर रहीम ने 56 और शाकिब अल हसन ने 53 रनों की पारी खेली थी. बांग्लादेश ने ही इस वर्ल्ड कप में भारत को बाहर करने में अहम भूमिका निभाई।विश्वकप में बांग्लादेश और अफ्रीका के बीच सुपर 8 का मुकाबला गुयाना के प्रोविडेंस स्टेडियम में खेला गया था। अफ्रीका के कप्तान ग्रीम स्मिथ ने टॉस जीतकर बांग्लादेश को बल्लेबाजी के लिए कहा। बांग्लादेश ने निर्धारित 50 ओवर में 8 विकेट के नुकसान पर 251 रन बनाए। दबाव में अफ्रीका की बल्लेबाजी बांग्लादेश के गेंदबाजी आक्रमण के सामने बिखर गई। उसके बल्लेबाज पूरे 50 ओवर भी नहीं खेल पाए और 48.4 ओवर में पूरी टीम पवेलियन लौट गई। साल 2011 के विश्वकप में ग्रुप-बी का मुकाबला बांग्लादेश और इंग्लैंड के बीच चटगांव में खेला गया। बांग्लादेश के कप्तान शाकिब अल हसन ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया। इंग्लैंड की पूरी टीम 49.4 ओवर में 225 रन बनाकर आउट हो गई। बांग्लादेश ने 226 रनों के लक्ष्य का पीछा बड़े ही रोमांचक तरीके से किया। टीम ने 49 ओवर में 8 विकेट खोकर यह मैच जीत लिया और इंग्लैंड को हार का स्वाद चखाया। ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में खेले गए पिछले विश्व कप में भी बांग्लादेश ने इंग्लैंड को पटखनी दी। एडिलेड ओवल में खेले गए इस मुकाबले में इंग्लैंड के कप्तान ऑइन मोर्गन ने टॉस जीता और बांग्लादेश को बल्लेबाजी का न्योता दिया। बांग्लादेश ने 50 ओवरों में 7 विकेट खोकर 275 रन बनाए। जवाब में इंग्लैंड लक्ष्य के करीब तो पहुंचा, लेकिन उसे पार करने से पहले ही उसके सभी बल्लेबाज पवेलियन लौट गए। इंग्लैंड की पूरी टीम 48.3 ओवर में 260 रन ही बना पाई और बांग्लादेश ने यह मुकाबला 15 रन से जीत लिया।

भारत का पलड़ा है भारी
आईसीसी के किसी भी टूर्नामेंट में ये पहला मौका है जब भारतीय टीम बांग्लादेश के खिलाफ सेमीफाइनल मुकाबला खेलेगी। हालांकि इस मैच में टीम इंडिया का पलड़ा काफी भारी नजर आ रहा है। इससे पहले 2015 वर्ल्ड कप क्वार्टरफाइनल में भारत ने बांग्लादेश को 109 रन के बड़े अंतर से रौंदा था। अभी तक भारत और बांग्लादेश के बीच कुल 32 वनडे हुए हैं जिसमें से 26 भारत ने जीते हैं,जबकि बांग्लादेश ने सिर्फ 5 मैच अपने नाम किए हैं। भारतीय टीम में चोट से वापसी करने वाले ओपनर रोहित शर्मा फॉर्म में हैं। इसके अलावा शिखर धवन भी बल्ले से रन बरसा रहे हैं। तीन लीग मुकाबलों में धवन अभी तक दो अर्धशतक और 1 शतक लगा चुके हैं। दोनों ही बल्लेबाज टीम को मजबूत शुरुआत देने में कामयाब हुए हैं। अब बांग्लादेश के खिलाफ भी दोनों बल्लेबाजों को टीम को एक मजबूत शुरुआत देने का दारोमदार रहेगा।ओपनिंग जोड़ी के बाद टीम की बल्लेबाजी में मजबूती देने के लिए कप्तान विराट कोहली, युवराज सिंह, महेंद्र सिंह धोनी, केदार जाधव और ऑल राउंडर हार्दिक पांड्या विरोधी खेमे की गेंदबाजों की नाक में दम करने के लिए काफी हैं। मध्यक्रम के इन बल्लेबाजों पर बांग्लादेश के खिलाफ भी रन बरसाने की जिम्मेदारी रहेगी। टीम की गेंदबाजी में उमेश यादव, जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर कुमार विरोधी खेमे की कमर तोड़ने के लिए काफी हैं। इसके अलावा स्पिनर रवींद्र जडेजा भी अपनी फिरकी से कमाल दिखा सकते हैं,वहीं अश्विन भी अपनी फिरकी से विराधी खेमे को समेटने में काफी हैं। दूसरी तरफ बांग्लादेश की टीम को भी टीम इंडिया हल्के में लेने के गलती नहीं कर सकती है। बांग्लादेश की टीम कई बार उलटफेर कर कई बड़ी टीमों का समीकरण बिगाड़ चुकी है। बांग्लादेश की ओर से तमीम इकबाल, शाकिब अल हसन जैसे खिलाड़ी शानदार फॉर्म में हैं। न्यूजीलैंड के खिलाफ मुकाबले में जिस तरह से शाकिब उल हसन और महमुदुल्लाह ने जिस तरह की बल्लेबाजी की,उससे भारत को इनसे भी सावधान रहना होगा।

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu