हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...

जापान को हराकर फहराया विश्व विजयी झंडा

23 फरवरी को साल 1945 में जापान द्वारा नियंत्रित टापू ईवो जीमा पर अमरीका ने अपना झंडा फहराया था.

युद्ध के दौरान ये टापू कूटनीतिक दृष्टि से एक महत्तवपूर्ण कड़ी थी.

प्रशांत महासागर और टोक्यो के बीच 1,045 किलोमीटर की दूरी थी और जापान की राजधानी पर हमला बोलने के लिए ईवो जीमा अमरीकी सेना के लिए एक महत्तवपूर्ण जगह थी.

जापान की सेना और अमरीकी नौसेना के सैनिकों के बीच हुई भीषण लड़ाई के बाद अमरीकी सेना ने अंतत: टापू पर 26 मार्च को कब्ज़ा कर लिया.

इस युद्ध में अमरीकी नौसेना के 74,000 सैनिकों में से एक-तिहाई सैनिक या तो मारे गए या घायल हुए.

कब्ज़ा करने के बाद अमरीका ने इस टापू का इस्तेमाल जापान पर बम गिराने के लिए किया.

समाचार एजेंसी असोसिएटिड प्रेस के एक फोटोग्राफर जो रोज़नथल ने टापू पर अमरीकी झंडा फहराते हुए जो तस्वीर ली, उसे पुलित्ज़र पुरस्कार मिला.

युद्ध की समाप्ति के बाद 1948 में ईवो जीमा टापू को जापान को सौंप दिया गया.

 

आज के इतिहास की अन्य प्रमुख घटनाएं

1947: दुनिया को मानक में पिरोने वाले अंतरराष्‍ट्रीय मानकीकरण संगठन की स्‍थापना हुई थी.

1969: अभिनेत्री मधुबाला का निधन आज ही के दिन हुआ था.

1981: स्पेन में राजनीतिक अनिश्चितता की स्थिति पैदा हो गई थी, जब दक्षिणपंथी सेना ने प्रशासन का तख़्तापलट कर दिया था.

2006: ईराक में हुए जातीय हिंसा में लगभग 160 लोगों की जान गई थी.

1982: भारतीय राजनेता कर्ण सिंह का जन्म हुआ था.

2004: हिन्दी फिल्मों के एक अभिनेता, पटकथा-लेखक, निर्माता, निर्देशक और सम्पादक विजय आनंद का निधन हुआ था.

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu

विगत 6 वर्षों से देश में हो रहे आमूलाग्र और सशक्त परिवर्तनों के साक्षी होने का भाग्य हमें प्राप्त हुआ है। भ्रष्ट प्रशासन, दुर्लक्षित जनता और असुरक्षित राष्ट्र के रूप में निर्मित देश की प्रतिमा को सिर्फ 6 सालों में एक सामर्थ्यशाली राष्ट्र के रूप में प्रस्तुत करने में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की अभूतपूर्ण भूमिका रही है।

स्वंय के लिए और अपने परिजनों के लिए ग्रंथ का पंजियन करें!
ग्रंथ का मूल्य 500/-
प्रकाशन पूर्व मूल्य 400/- (30 नवम्बर 2019 तक)

पंजियन के लिए कृपया फोटो पर क्लिक करें

%d bloggers like this: