हिंदी विवेक के सफल पांच वर्ष

****भव्य स्थापना दिवस समारोह****
एप्रैल २०१० में अपने प्रथम अंक के साथ हिंदीपत्रकारिता जगत में कदम रखनेवाले ‘हिंदी विवेक’ ने इस क्षेत्र में अपने पांच वर्ष सफलतापूर्वक पूर्ण कर लिये हैं। पाठकों की नब्ज को पहचानकर, उनकी रुचियों को जानकर, उन्हें विचारशील बनाने हेतु हिंदी विवेक सदैव प्रयत्नशील रहा है। पांच वर्षों की अपनी इस सफल यात्रा को हिंदी विवेक ने ६ अप्रैल २०१५ को एक भव्य कार्यक्रम में ‘राष्ट्रपुरुष डॉ.बाबासाहब आंबेडकर’ विशेषांक का लोकार्पण करते हुए मनाया।
कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह मा. भैयाजी जोशी, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री मा. देवेन्द्र फडणवीस मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे।
हिंदी विवेक तथा श्री भागवत परिवार के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित इस कार्यक्रम में साप्ताहिक विवेक(मराठी) द्वारा डॉ.बाबासाहब आंबेडकर पर प्रकाशित विशेषांक भी प्रकाशित किया गया। साथ ही हिंदुस्थान प्रकाशन संस्था के अध्यक्ष तथा वरिष्ठ लेखक मा. रमेश पतंगे द्वारा लिखित ‘सामाजिक न्याय एवं डॉ. बाबासाहब आंबेडकर’ पुस्तक के मराठी संस्करण का भी विमोचन किया गया।
कार्यक्रम के दौरान मंच पर मा. भैयाजी जोशी तथा मा. देवेन्द्र फडणवीस के साथ ही उद्योगपति सुरेश हावरे, संदीप आसोलकर तथा विवेक व भागवत परिवार के मान्यवर उपस्थित थे। लगभग ६०० लोगों की क्षमतावाला सभागृह पूरा भरा था। लोग मंत्रमुग्ध होकर डॉ. बाबासाहब आंबेडकर जी के विषय में मान्यवरों द्वारा प्रस्तुत किये जा रहे विचारों को सुन रहे थे।
कार्यक्रम में हिंदी विवेक की सदैव सहायता करनेवाले कुछ व्यक्तियों तथा हिंदी विवेक की पाठक संख्या वृद्धि अभियान में उत्कृष्ट कार्य करनेवाले प्रतिनिधियों का भी सम्मान किया गया।

कार्यक्रम में हिंदी विवेक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमोल पेडणेकर ने हिंदी विवेक की पांच वर्ष की उपलब्धियों तथा भविष्य की योजनाओं पर प्रकाश डाला। हिंदुस्थान प्रकाशन संस्था के अध्यक्ष तथा वरिष्ठ लेखक मा. रमेश पतंगे द्वारा डॉ. आंबेडकर के जीवन पर विशेषांक तथा पुस्तक प्रकाशित करने की भूमिका स्पष्ट की गयी। श्री भागवत परिवार की ओर से वीरेन्द्र याज्ञिक द्वारा आभार प्रदर्शन किया गया। कार्यक्रम का सूत्र संचालन हिंदी विवेक की कार्यकारी संपादक पल्लवी अनवेकर ने किया।
 

आपकी प्रतिक्रिया...