हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...
हिंदी विवेक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमोल पेडणेकर तथा कार्यकारी सम्पादक पल्लवी अनवेकर ने दिनांक ३० अक्टूबर २०१९ को महाराष्ट्र के राज्यपाल मा. श्री भगतसिंह कोश्यारी जी से सदिच्छा भेंट की तथा हिंदी विवेक द्वारा प्रकाशित महात्मा गाँधी ग्रन्थ व नया भारत विशेषांक प्रदान किए. भेंट के दौरान यह जानकर अत्यंत प्रसन्नता तथा गौरव की अनुभूति हुई की वे हिंदी विवेक के नियिमत पाठक हैं. हिंदी विवेक द्वारा प्रकाशित विशेषांकों के नाम लेकर मा. राजयपाल जी ने बताया कि उत्तराखंड के उनके गृहनगर में हिंदी विवेक नियिमत पहुँचता है. साथ ही उन्होंने  मुंबई के राजभवन में भी एक प्रति प्राप्त करने की इच्छा जताई, जिससे उनका हिंदी विवेक पढ़ने का क्रम न टूटे.
चर्चा में हिंदी विवेक के दस वर्ष के प्रवास तथा भविष्य की योजनाओं के संदर्भ में भी मा. राजयपाल महोदय जी आत्मीयता से जानकारी प्राप्त की तथा भविष्य के लिए हिंदी विवेक को शुभकामनाएं प्रदान की.
भेंट के दौरान महाराष्ट्र के उत्तराखंड प्रकोष्ठ प्रमुख उर्बा जोशी भी उपस्थित थे.

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu

विगत 6 वर्षों से देश में हो रहे आमूलाग्र और सशक्त परिवर्तनों के साक्षी होने का भाग्य हमें प्राप्त हुआ है। भ्रष्ट प्रशासन, दुर्लक्षित जनता और असुरक्षित राष्ट्र के रूप में निर्मित देश की प्रतिमा को सिर्फ 6 सालों में एक सामर्थ्यशाली राष्ट्र के रूप में प्रस्तुत करने में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की अभूतपूर्ण भूमिका रही है।

स्वंय के लिए और अपने परिजनों के लिए ग्रंथ का पंजियन करें!
ग्रंथ का मूल्य 500/-
प्रकाशन पूर्व मूल्य 400/- (30 नवम्बर 2019 तक)

पंजियन के लिए कृपया फोटो पर क्लिक करें

%d bloggers like this: