जानिए, कोरोनावायरस की वजह से किन किन मंदिरों में लगे ताले?

कोरोनावायरस का प्रभाव लगातार बढ़ता जा रहा है आर्थिक मंदी के बाद अब कोरोनावायरस का प्रभाव धीरे-धीरे मंदिरों की तरफ भी बढ़ाने लगा है अगर ताजा हालात की बात करें, तो अब कोरोना वायरस की वजह से कई मंदिरों के दरवाजे बंद हो गए है साथ ही पूजा पाठ और आरती पर भी रोक लगा दी गई है।

*वैष्णो देवी यात्रा पर लगी रोक*

विश्व विख्यात वैष्णो देवी यात्रा पर बुधवार से ही तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी गई है जम्मू में स्थित वैष्णो माता मंदिर पर अब किसी को भी दर्शन नहीं मिल सकेगा। वर्तमान हालात को देखते हुए मंदिर के ट्रस्ट ने इस पर रोक लगाने का फैसला लिया है इसके साथ ही जम्मू कश्मीर अंतर्राज्यीय बस सेवा को भी पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। जम्मू कश्मीर में अब तक कोरोनावायरस के 3 पॉजिटिव केस पाए गए हैं।

*वाराणसी गंगा आरती पर लगी रोक*

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अथक प्रयासों के चलते पूरी दुनिया में विख्यात हुई बनारस की गंगा आरती भी बंद कर दी गई है। आपको बता दें कि आरती में बड़ी संख्या में भीड़ इकट्ठा होती है लेकिन लोगों की सुरक्षा को देखते हुए इस आरती को तत्काल प्रभाव से बंद कर दिया गया है। यहां अब 7 पंडितों की जगह एक ही पंडित आरती करेंगे लेकिन इस दौरान कोई भी भीड़ इकट्ठा नहीं होगी।

*शिर्डी साईं- सिद्धिविनायक के दर्शन बंद*

महाराष्ट्र की धरती पर आने वाला हर व्यक्ति शिर्डी के साईं बाबा और दादर के सिद्धिविनायक के दर्शन जरूर करता है लेकिन अब उनकी इच्छा अगले कुछ समय तक पूरी नहीं होगी क्योंकि चीन से शुरू हुए इस कोरोना वायरस की वजह से शिर्डी के साई बाबा मंदिर और सिद्धिविनायक मंदिर दोनों को दर्शन के लिए बंद कर दिया गया है दोनों मंदिरों के ट्रस्ट बोर्ड ने फैसला लिया है कि लोगों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए दर्शन और आरती को बंद किया जाएगा फिलहाल अगले आदेश आने तक दोनों ही मंदिरों को बंद कर दिया गया है।

इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट अलग-अलग राज्यों के हाईकोर्ट और सरकारी कार्यालयों में या तो छुट्टी कर दी गई है या फिर कामकाज में कटौती कर कार्यालय में कम लोगों को बुलाया जा रहा है सरकार की हर तरफ से यह कोशिश है कि कम से कम लोग घरों से बाहर निकले ताकि यह संक्रमण ज्यादा लोगों तक ना फैले। सरकार के लिए कोरोनावायरस से निपटना एक बड़ी चुनौती है क्योंकि सरकार आर्थिक मंदी के दौर से गुजर रही है बाहरी की हालात पहले से ही खराब है शेयर बाजार निचले स्तर पर काम कर रहा है ऐसे में अगर इस वायरस की वजह से भारत के हालात भी चीन जैसे हो जाएंगे तो सरकार को इससे उबरने में बहुत समय लग जाएगा और देश का विकास रुक जाएगा जिससे सरकार इसे रोकने का हर अथक प्रयास कर रही है।

आपकी प्रतिक्रिया...