देश के अलग अलग स्थानों पर मस्जिद के बाहर पुलिस पर हुए हमले, मस्जिद में चल रही थी नमाज

  • यूपी के बहराइच में मस्जिद के बाहर पुलिस पर हमला
  • नमाज पढ़ने से रोका तो पुलिस पर किया पथराव
  • पुलिस ने मौलाना सहित 20 लोगों को किया गिरफ्तार
  • सरकार के निर्देश के बाद भी मस्जिद में नमाज पर नहीं लग रही रोक  

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बार बार देशवासियों से अपील करते हुए कहा है कि सोशल डिस्टेंसिग का ध्यान जरुर रखे यह ना सिर्फ आप के लिए जरुरी है बल्कि इससे समाज में भी कोरोना का खतरा कम होगा। पीएम ने सभी धर्मगुरुओं से भी अपील की थी कि वह अपने अपने लोगों को समझाएं की वह धार्मिक स्थलों पर ना जाएं और पूजा या नमाज घर से ही करें।

सरकार के बार बार निवेदन करने के बाद भी मस्जिद में नमाज का पढ़ने का सिलसिला लगातार जारी है अलग अलग राज्यों से यह घटनाएं सामने आ रही है जहां मस्जिद में नमाज अदा की जा रही है जिससे कोरोना का संक्रमण बढ़ने की संभावना लगातार बढ़ती जा रही है। प्रशासन की तरफ से लगातार इस बात की सूचना दी जा रही है कि सभी लोग अपने घरों में रहे और बाहर ना निकले।

उत्तर प्रदेश के बहराइच में ऐसी ही एक घटना सामने आयी है जहां एक मस्जिद में नमाज अदा की जा रही थी। सूचना मिलने पर मौके पर पहुची पुलिस ने नमाज के लिए आए लोगों को यह समझाना चाहा कि यह सही नहीं है इससे संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है जिसके बाद नमाजिओं ने पुलिस पर ही हमला कर दिया जिसमें कई पुलिसकर्मी घायल हो गये। ऐसी ही एक और घटना जिले मे हुई जहां दोपहर में भीड़ में नमाज पढ़ा जा रहा था जिस पर पुलिस ने विरोध किया तो पुलिस पर नामाजियों ने पथराव शुरु कर दिया जिसमें दो दरोगा सहित कई सिपाही घायल हो गये। वहीं घटना के बाद पुलिस ने दोनों घटनाओं ने करीब मौलाना सहित 20 से अधिक लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

 झारखंड के गोड्डा जिले में भी ऐसी ही एक घटना सामने आयी है जहां मुस्लिम समुदाय के लोगों ने नमाज के दौरान पुलिस पर हमला कर दिया जिसमें कई पुलिसकर्मी घायल हो गये। नमाजियों ने पुलिस की पेट्रोलिंग कार को भी क्षतिग्रस्त कर दिया। घटना के बाद पुलिस ने 5 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर उन्हे गिरफ्तार कर लिया है। जानकारी के मुताबिक गोड्डा जिले की एक मस्जिद में कुछ लोग नमाज पढ़ रहे थे जिस पर पुलिस ने उन्हे रोका और कहा कि मस्जिद में एक साथ भीड़ में नमाजपढ़ने पर रोक लगी हुई है अन्यथा आप सभी लोग घरों से ही नमाज पढ़ें। नमाजियों को पुलिस की बात नागवार गुजरी और उन्होने पुलिस पर हमला कर दिया।

 लॉक डाउन के बाद यह कोई पहली घटना नहीं है बल्कि देश के अलग अलग हिस्सों ने ऐसी घटनाएं प्रतिदिन सामने आ रही है जहां पुलिस और स्वास्थ्य कर्मियों पर हमले हो रहे है। मस्जिद के बाहर नमाज के दौरान भी हमले की घटना लगातार जारी है।

आपकी प्रतिक्रिया...