कोरोना संक्रमितों की संख्या पहुंची एक लाख के पार, जानिए प्रमुख 5 राज्यों के हाल

  • पूरे देश में संक्रमित लोगों की संख्या 1लाख 6 हजार 750
  • पिछले 24 घंटे में 5611 पॉजिटिव केस आये सामने
  • कुल 3303 की मौत, 24 घंटे में 140 की मौत  
  • मंगलवार को पॉजिटिव केस सबसे ज्यादा हुए दर्ज 
समय के साथ साथ देश में कोरोना वायरस का संक्रमण भी बढ़ता जा रहा है। पिछले 24 घंटे में रिकॉर्ड सबसे बड़ी बढ़ोतरी देखने को मिली है। स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक 5611 लोग संक्रमित हुए हैं। अब तक का यह सबसे बड़ा आंकड़ा है और इसके साथ ही पूरे देश में संक्रमित लोगों की संख्या 1 लाख 6 हजार से अधिक हो चुकी है। पिछले 1 सप्ताह में संक्रमण का खतरा तेजी से बढ़ा है क्योंकि सरकार की तरफ से लॉक डाउन के तीसरे चरण के साथ ही लोगों को छूट मिलनी शुरू हो गई है जिससे लोग घरों से बाहर निकल रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए सरकार ने टेस्टिंग का काम भी तेज कर दिया है जिससे संक्रमित लोगों की पहचान होने लगी है और संख्या में इजाफा होने लगा है लेकिन लगातार बढ़ते संक्रमण की वजह से एक बार फिर से सरकार चिंता में है हालांकि सरकार की तरफ से यह साफ कर दिया गया है कि अब हमें इस महामारी के साथ जीने की आदत डालनी होगी क्योंकि लॉक डाउन और अर्थव्यवस्था को एक साथ आगे नहीं बढ़ाया जा सकता इसलिए सरकार ने लॉक डाउन को खत्म कर आगे बढ़ने का निश्चय किया है। हालांकि इस दौरान सभी को जरूरी दिशा निर्देशों का पालन करना होगा।

पूरे देश के साथ साथ कुछ राज्य भी हैं जो लगातार इस महामारी से ग्रसित हैं इसमें महाराष्ट्र, दिल्ली, गुजरात, बिहार और उत्तर प्रदेश का नाम शामिल है।
उत्तर प्रदेश
पूरे देश से मजदूरों का पलायन जारी है और इसमें से अधिकतर मजदूर उत्तर प्रदेश के रहने वाले हैं। मजदूरों के लगातार पलायन से अब उत्तर प्रदेश में संक्रमण का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है। ताजा आंकड़ों के मुताबिक यूपी में संक्रमित लोगों की संख्या करीब 5000 तक पहुंच चुकी है हालांकि इसमें से करीब 3000 लोगों को इलाज के बाद घर जाने की इजाजत दे दी गई है और 123 लोगों को इस महामारी की वजह से जान गवानी पड़ी है।
बिहार
बिहार की बात करें तो यहां संक्रमित लोगों की संख्या अभी ज्यादा नहीं है लेकिन बाकी राज्यों से मजदूरों के पहुंचने के बाद संक्रमण में इजाफा हो सकता है। राज्य सरकार की तरफ से संक्रमण को रोकने पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। बिहार में संक्रमित लोगों की कुल संख्या 1500 के आसपास है जिसमें से 530 लोग ठीक हो चुके हैं जबकि 9 लोगों की मौत हो चुकी है। बिहार सरकार ने राज्य के लिए केंद्र से मदद की भी गुहार लगाई है।
महाराष्ट्र
महामारी के शुरुआत से ही महाराष्ट्र संक्रमण के क्षेत्र में सबसे बुरे दौर से गुजर रहा है और वर्तमान में वह करीब 37136 पॉजिटिव केस के साथ अभी भी पहले स्थान पर है। केंद्र और राज्य सरकारों की तमाम कोशिशों के बाद भी महाराष्ट्र से संक्रमण कम होने का नाम नहीं ले रहा है जबकि इस राज्य से लाखों की संख्या में लोग पलायन कर चुके हैं। महाराष्ट्र में कुल 37 हजार में से करीब 9639 लोग पूरी तरह से स्वस्थ हो चुके हैं जबकि करीब 1325 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है।
गुजरात 
महाराष्ट्र के पड़ोसी राज्य गुजरात में भी कोरोना का कहर जारी है। यहां संक्रमित लोगों की संख्या 12140 तक पहुंच चुकी है। 5 हजार से अधिक लोगों को इलाज के बाद घर भेज दिया गया है जबकि 719 लोगों की अबतक इस महामारी की वजह से मौत हो चुकी है। गुजरात में भी उद्योगों के ज्यादा होने से वहां के मजदूर अब पलायन कर रहे है इस दौरान कई बार पुलिस और मजदूरों के बीच झड़प देखने को मिली थी जहां पुलिस ने मजदूरों पर लाठी चार्ज किया था।
दिल्ली
राजधानी दिल्ली भी इस संक्रमण से अछूती नहीं है। शुरुआती दिनों में दिल्ली के हालात काफी ठीक थे लेकिन तबलीगी जमात की वजह से अचानक से संक्रमण में तेजी देखने को मिली और अब यह संख्या 10 हजार को पार कर चुकी है हालांकि इलाज के बाद करीब 4700 लोगों को घर भेजा जा चुका है जबकि 170 लोगों की मौत हो चुकी है। लॉक डाउन के चौथे चरण के दौरान मुख्मंत्री केजरीवाल ने काफी ज्यादा छूट दी है और दिल्ली को फिर से पटरी पर लाना चाहते है हालांकि उनके इस फैसले का कुछ लोगों ने विरोध किया है।

आपकी प्रतिक्रिया...