अयोध्या में पीएम मोदी के हाथों हुआ शिलान्यास, पूरे देश में गूंजा जयश्री राम

वर्षों से चली आ रही राम मंदिर की लड़ाई आज पूरी तरह से खत्म हो गयी। पीएम मोदी के शिलान्यास के साथ ही यह निश्चित हो गया है कि अब अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण होगा और युगों युगों तक याद रखा जायेगा। जिस मंदिर-मस्जिद की लड़ाई में दशकों का समय गवानां पड़ा ऐसा फिर कभी ना हो इसलिए सरकार ने कैप्सूल भी मंदिर की नींव के नीचे डाल दिया है जिससे आने वाली पीढ़ियों को कभी साक्ष्य के लिए भटकना ना पड़े। 
हमेशा चूड़ीदार पायजामा और कुर्ते में नजर आने वाले पीएम मोदी ने आज सभी को चौंका दिया और पीताम्बरी धोती और सुनहरे रंग के कुर्ते में अयोध्या पहुंचे। पीएम मोदी ने अयोध्या पहुँचकर सबसे पहले हनुमान गढ़ी में पूजा और आरती की, इसके बाद भगवान राम लला को दण्डवत प्रणाम किया और फिर शिलान्यास कार्यक्रम में शामिल हुए। शिलान्यास की पूजा काफी समय तक चली और पंडितों की तरफ से मंत्रोचारण किया गया। शिलान्यास के दौरान पीएम मोदी के अलावा, संघ प्रमुख मोहन भागवत, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल आनंदीबेन पटेल सहित कुछ विशेष गणमान्य ही मौजूद थे। 
शिलान्यास के साथ ही लोगों का एक और इंतजार खत्म हो गया, अब लोगों का आखिरी इंतजार मंदिर पूरा होने का रहेगा। शिलान्यास के बाद पीएम मोदी सहित सभी लोगों ने मंच संभाला जहां से सीएम योगी आदित्यनाथ और संघ प्रमुख मोहन भागवत ने अपना भाषण दिया और इस कार्य को देश और लोगों के हित में बताया। पीएम मोदी ने भी अयोध्या में पहुंची जनता को संबोधित किया और कहा कि इस मंदिर के लिए हर वर्ग ने बलिदान दिया है और उसकी वजह से ही यह सपना आज पूरा हो रहा है। पीएम ने मंदिर के लिए ईंट और जल लाने वाले लोगों का भी आभार व्यक्त किया और कहा कि आप की इस मेहनत की वजह से ही यह सब कार्य पूरा हो रहा है। 
मोदी ने अपने संदेश में कहा कि मंदिर का निर्माण सभी की भावनाओं का आदर करते हुए होना चाहिए। मंदिर निर्माण और राम के प्रताप को पूरी दुनिया में फैलाना है और उनका संदेश भी सभी तक ले जाना है। मोदी ने कहाकि जब जब हमने राम का नाम लिया है तो हमारे काम बने है और विकास हुआ है और जब भी हम अपने रास्ते से भटके है तो सभी का विनाश हुआ है उन्होने अपने आखिरी संदेश में कहा कि आज सदियों का इंतजार खत्म हुआ, आज पूरा देश भावुक है और राममय है। 
बोलो सियापति राम चंद्र की जय।।  
बोलो सियापति राम चंद्र की जय।।  
बोलो सियापति राम चंद्र की जय।।  
बोलो सियापति राम चंद्र की जय।।  

आपकी प्रतिक्रिया...