हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...

रसोई  तो और चटखारेदार बनी है

Continue Reading

भारतीय पाक कला ने अब अपना स्वरूप बदल दिया है। खाना बनाने की तकनीक, व्यंजनों में मिलाए जाने वाले पदार्थ, प्रस्तुति की तकनीक आदि बहुत कुछ बदला है और बदलता रहेगा। इससे भारतीय व्यंजनों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता मिली है। प्रस्तुत है प्रसिद्ध शेफ पद्मश्री संजीव कपूर से हुई बातचीत के अंश-

यूपीएल का स्वास्थ्य, कृषि और पशुपालन में अनूठा योगदान

Continue Reading

यूपीएल वापी के वनवासी क्षेत्र में न केवल कीटनाशकों का उत्पादन कर रही है, अपितु कम्पनी सामाजिक जिम्मेदारी (सीएसआर) के तहत इलाके में शिक्षा, पशुपालन और कृषि के क्षेत्र में बेहतरीन काम भी कर रही है। वैसे नियमानुसार सीएसआर के लिए मुनाफे के महज २ फीसदी रखने का प्रावधान है, लेकिन कम्पनी ने यह खर्च अपनी ओर से तिगुने से अधिक कर दिया है। कम्पनी के चेयरमैन श्री रज्जूभाई श्रॉफ से इन सेवा कार्यों के बारे में हुई बातचीत के महत्वपूर्ण अंश प्रस्तुत हैं-

गाड़ी बुला रही है…

Continue Reading

रेल मंत्री श्री सुरेश प्रभु के नेतृत्व में रेल मंत्रालय में तीन वर्ष की अल्पावधि में इतने सुधार किए हैं कि एक सुखद आश्चर्य होता है। इससे रेल सेवा कितनी लोकाभिमुख बन चुकी है, इस बात का भरोसा हो जाता है। देश तभी तरक्की कर सकता है जब वहां की जीवन रेखाएं-

आर्थिक सुनामी, जनता, और मीडिया

Continue Reading

पिछले माह देश ने एक भयंकर सुनामी का सामना किया। यह सुनामी प्राकृतिक नहीं वरन् मानव निर्मित थी। काला धन रखने वालों के होश उड़ाने वाली थी। जी हां! यह सुनामी आर्थिक सुनामी थी। ८ नवम्बर की रात प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने एक पत्रकार परिषद में कड़े शब्दों में

End of content

No more pages to load

Close Menu