कोरोना वायरस: महाराष्ट्र सहित कई राज्यों में धारा 144 लागू, राज्यो ने बंद किए स्कूल

कोरोना वायरस से विश्व के अन्य देशों के साथ-साथ भारत में भी कोहराम मचा हुआ है हर दिन मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है इसके साथ ही भारत में भी अब कोरोनावायरस से मौत का सिलसिला शुरू हो चुका है, भारत में कोरोनावायरस से हुई पहली मौत के बाद गृह मंत्रालय ने एक सर्कुलर जारी कर कहा था कि मृतक को ₹4 लाख रुपए दिए जाएंगे लेकिन अब इसमें बदलाव कर दिया गया है और नए बदलाव में 4 लाख वाला क्लॉज हटा लिया गया है इस नए क्लॉज में कोरोनावायरस से पीड़ित व्यक्ति को अलग रखने उसके सैंपल कलेक्शन करने सहित कई नियमों का जिक्र किया गया है लेकिन इसमें मृतक को 4 लाख देने का क्लॉज नहीं नजर आ रहा है और इसकी जानकारी गृह मंत्रालय ने ट्वीट कर दी है। कोरोनावायरस जैसी महामारी से लगातार संक्रमण बढ़ता जा रहा है जिसको लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय भी चिंतित है।

कोरोना वायरस की वजह से पंजाब, उत्तर प्रदेश और बिहार सहित कई राज्यों ने स्कूलों को बंद करने का ऐलान कर दिया है। बिहार की बात करें तो यहां 31 मार्च तक के लिए सभी सरकारी और निजी स्कूलों को बंद कर दिया है साथ ही चिड़ियाघर, सिनेमाहाल और हाल ही में होने वाले बिहार दिवस कार्यक्रम को भी रदद् कर दिया गया है। बिहार में भी धारा 144 लागू कर दी गयी है। 

उत्तर प्रदेश सरकार ने भी कोरोना को महामारी घोषित करते हुए फिलहाल सभी सरकारी और निजी स्कूलों के साथ साथ कॉलेजों को 22 मार्च तक के लिए बंद कर दिया है सरकार की तरफ से फिर से 20 मार्च को इस पर बैठक होगी और आगे का फैसला लिया जायेगा कि स्कूलों को फिर से चालू करना है या नहीं? अगर खतर नजर आया तो स्कूलों की छुट्टियां और भी बढ़ाई जा सकती है।

इसके साथ ही महाराष्ट्र सरकार ने सिनेमाघरों और मॉल्स पर भी 31 मार्च तक पूरी तरह से पाबंदी लगा दी है। इसके साथ ही सभी तरह के कार्यक्रमों पर भी रोक लगा दी है, महाराष्ट्र में धारा 144 भी लागू कर दी गई है जिसके मुताबिक एक समय में 4 से ज्यादा लोग इक्कठा नहीं हो सकते। महाराष्ट्र में कोरोना केस की संख्या में तेजी से बढोत्तरी देखी जा रही है यहां 31 लोग अब तक पॉजिटिव पाये जा चुके है। महाराष्ट्र के बुलढाणा में  एक व्यक्ति की मौत होगी जिसे कोरोना से संक्रमित बताया जा रहा है जिसके बाद उसकी रिपोर्ट को लैब में भेजा गया है। अगर उसकी मौत कोराना से होने की पुष्टि होती है तो यह सरकार के लिए और चिंता का विषय बन सकता है।

इसके साथ ही अन्य राज्य भी स्कूलों और सार्वजनिक स्थानों को बंद करने पर विचार कर रहे हैं, क्योंकि जितने कम लोग एक जगह पर इकट्ठा होंगे उतना ही इस वायरस का खतरा कम होगा। इसके साथ ही इस वायरस से मरने वालों के अंतिम संस्कार को लेकर भी सरकार गाइडलाइन तैयार कर रही है क्योंकि वायरस खत्म करने के लिए शव को जलाना सही बताया जा रहा है लेकिन इसपर कई समुदाय की आपत्ति को देखते हुए सरकार इस पर विचार कर रही है। वैसे जानकारों के मुताबिक किसी भी मृतक व्यक्ति के शरीर से इस वायरस के फैलने का खतरा काम है। भारत में कोरोनावायरस से अब तक 2 लोगो की मौत हो चुकी है जिसमें एक महिला और एक पुरुष शामिल है दोनों की उम्र 60 से ज्यादा थी।

आपकी प्रतिक्रिया...