राम मंदिर निर्माण: जानिए हिन्दू धाम गेट की खासियत

Continue Reading राम मंदिर निर्माण: जानिए हिन्दू धाम गेट की खासियत

राम मंदिर निर्माण भारत ही नहीं बल्कि विश्व के लिए भी एक बड़ा मुद्दा है। पूरी दुनिया से प्रभु राम के भक्त मंदिर बनने का इंतजार कर रहे है और इस आस में सभी है कि उन्हे मंदिर में दर्शन करने का सौभाग्य प्राप्त हो। वहीं मंदिर का काम भी…

कोरोना वायरस: दरवाजे पर खड़ी मौत!

Continue Reading कोरोना वायरस: दरवाजे पर खड़ी मौत!

एक अदृश्य वायरस दुनिया में इतना तहलका मचा देगा यह किसी ने कल्पना भी नहीं की होगी। कोरोना नाम का यह वायरस पूरी दुनिया को अपने कब्जे में ले चुका है। इस महामारी के प्रभाव का अंदाजा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि हिन्दू धर्म का प्रवित्र…

स्वस्तिक का महत्तव लाभ और इतिहास

Continue Reading स्वस्तिक का महत्तव लाभ और इतिहास

पूजा-पाठ, शादी-विवाह और गृह प्रवेश जैसे तमाम धार्मिक कार्यों में हमने स्वस्तिक को जरूर देखा होगा लेकिन शायद कभी हमने इसके महत्तव, प्रभाव और इतिहास के बारे में जानने की कोशिश नहीं की हां यह जरुर पता था कि यह धर्म के अनुसार एक लाभदेने वाला प्रतीक है। किसी भी…

जम्मू कश्मीर से 1990 का हिन्दू विस्थापन आखिरी विस्थापन होगा: दत्तात्रेय होसबाले

Continue Reading जम्मू कश्मीर से 1990 का हिन्दू विस्थापन आखिरी विस्थापन होगा: दत्तात्रेय होसबाले

जम्मू कश्मीर से हिन्दुओं का विस्थापन किसी से भी छिपा नहीं है और आज भी समय समय पर उस पर चर्चा होती रहती है। एक कार्यक्रम के दौरान राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह श्री दत्तात्रेय होसबाले ने घाटी के हिन्दुओं का जिक्र करते हुए कहा कि कश्मीरी हिन्दुओं का त्याग…

ऐसे करें शनिदेव की पूजा, कभी नहीं होगी पैसों की कमी

Continue Reading ऐसे करें शनिदेव की पूजा, कभी नहीं होगी पैसों की कमी

शनैश्चर नमस्तुभ्यं नमस्ते त्वथ राहवे। केतवेयथ नमस्तुभ्यं सर्वशांतिप्रदो भवः।।   शास्त्रों के अनुसार हिन्दू धर्म में कुल 33 करोड़ देवी देवता है और सभी देवी-देवताओं की अपनी अपनी मान्यता है लेकिन इनमें से  शनिदेव का विशेष प्रभाव आज भी देखने को मिलता है। शनिदेव की कृपा से आप का जीवन सुखमन और…

नवरात्रि में भूलकर भी ना करें यह काम

Continue Reading नवरात्रि में भूलकर भी ना करें यह काम

हिन्दू धर्म में नवरात्रि का विशेष महत्व होता है और पूरे 9 दिन तक मां दुर्गा के अलग अलग रूपों की पूजा की जाती है। इस दौरान तमाम महिलाएं और पुरुष व्रत रखते है, अखंड ज्योति जलाते है और रात भर जाग कर माता का जागरण भी करते है। इसके…

आंबेडकर के विचारों को सही मायने और संदर्भों में आत्मसात करना ज़रूरी

Continue Reading आंबेडकर के विचारों को सही मायने और संदर्भों में आत्मसात करना ज़रूरी

भारतरत्न बाबा साहेब डॉ भीमराव आंबेडकर अपने अधिकांश समकालीन राजनीतिज्ञों की तुलना में राजनीति के खुरदुरे यथार्थ की ठोस एवं बेहतर  समझ रखते थे। नारों एवं तक़रीरों की हकीक़त वे बख़ूबी समझते थे। जाति-भेद व छुआछूत के अपमानजनक दंश को उन्होंने केवल देखा-सुना-पढ़ा ही नहीं, अपितु भोगा भी था।

कुंभ: स्वयंसेवकों की मदद से चल रहा हरिद्वार प्रशासन, 3 दिन के लिए अतिरिक्त 100 स्वयंसेवकों की मांग

Continue Reading कुंभ: स्वयंसेवकों की मदद से चल रहा हरिद्वार प्रशासन, 3 दिन के लिए अतिरिक्त 100 स्वयंसेवकों की मांग

हरिद्वार कुंभ में पूरे देश से लाखों लोगों की भीड़ हर दिन पहुंच रही है और वहां से निकल भी रही है। स्थानीय प्रशासन पूरी मजबूती से इस भीड़ को नियंत्रित कर रहा है ताकि किसी भी अनहोनी को होने से रोका जा सके लेकिन इन सब के बीच एक…

‘नव संवत्सर’ भारतीय संस्कृति की गौरवशाली परंपरा

Continue Reading ‘नव संवत्सर’ भारतीय संस्कृति की गौरवशाली परंपरा

हिन्दू नववर्ष की शुरुआत अंग्रेजी के नए साल की तरह रात के घनघोर अँधेरे में नहीं बल्कि सूर्य की पहली किरण के साथ होती है। भारतीय नव वर्ष यानी 'नव संवत्सर' की कोई निश्चित अंग्रेजी तारीख नहीं होती क्योंकि यह भारतीय संस्कृति के अनुरूप नक्षत्रों तथा कालगणना पर आधारित होती है।

राष्ट्र संगठन का वैचारिक अधिष्ठान-डॉ. हेडगेवार

Continue Reading राष्ट्र संगठन का वैचारिक अधिष्ठान-डॉ. हेडगेवार

डॉ. केशव बलिराम हेडगेवार जी ने अपने लिए कहीं कोई घर नहीं बनवाया; संपूर्ण हिंदुस्थान उनका घर बन गया। उन्होंने अपनी मातृभूमि को परम वैभव तक ले जाने का संदेश राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के माध्यम से दिया। आज विभिन्न क्षेत्रों में करोड़ों स्वयंसेवक उसी मार्ग पर चल रहे हैं। प्रस्तुत है इस वर्ष 1 अप्रैल को डॉक्टर जी की 133वीं जयंती पर यह विशेष आलेख। 

हिन्दू नववर्ष पर करें हनुमान चालीसा का पाठ, मिलेंगे अनगिनत लाभ

Continue Reading हिन्दू नववर्ष पर करें हनुमान चालीसा का पाठ, मिलेंगे अनगिनत लाभ

हम जब नये साल की बात करते है तो देश की नई पीढ़ी को 31 दिसंबर की रात याद आती है....शराबों से सराबोर पार्टियां और छुट्टी याद आती है.... जबकि हमारी भारतीय संस्कृति में इसका दूर दूर तक कोई जिक्र ही नहीं है। हमारे शास्त्र हमें कोई भी नया काम…

गायत्री मंत्र के इन फायदों से आप भी होंगे अनजान!

Continue Reading गायत्री मंत्र के इन फायदों से आप भी होंगे अनजान!

ऊँ भूर भुवः स्वः तत् सवितुर्वरेण्यं भर्गो देवस्य धीमहि धियो यो नः प्रचोदयात्  भावार्थ: हम उस ईश्वर का ध्यान करते है जिसने संसार का उत्पन्न किया है, जो पूजनीय है, जिसके पास ज्ञान का भंडार है, जो पाप और अज्ञान को दूर करता है, वह ईश्वर जिसने हमें प्रकाश और सत्य…

End of content

No more pages to load