देश में बढ़ते संक्रमण के बाद बढ़ सकता है लॉक डाउन

पूरे देश में कोरोना वायरस सबसे बड़ा मुद्दा है लेकिन देश के सामने अब लॉक डाउन भी एक मुद्दा बन चुका है क्योकि आम से लेकर खास तक हर कोई यह जानने के लिए आतुर है कि देश में लगा यह लॉक डाउन कब खत्म होगा। वहीं सरकार इस असमंजस में है कि लॉग डाउन को आगे बढ़ाना है या नहीं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 25 मार्च को देश को संबोधित करते हुए 21 दिनों का लॉक डाउन लगा दिया जो 14 अप्रैल को खत्म हो रहा है। जब यह लॉग डाउन लगाया गया था तब देश में कोरोना वायरस को लेकर हालात काफी अच्छे थे लेकिन दिन प्रतिदिन इस वायरस का संक्रमण बढ़ता जा रहा है और राज्यो के हालात लगातार बिगड़ते जा रहे हैं। देश के आंकड़े पर नजर डालें तो संक्रमित लोगों की संख्या करीब 5 हजार के करीब पहुंचने वाली है जिसमें महाराष्ट्र सबसे ज्यादा संक्रमित राज्य बन चुका है। संक्रमण से देश में 100 से ज्यादा लोगों की मौत भी हो चुकी है।
केंद्र सरकार ने लॉक डाउन को लेकर राज्य के मुख्यमंत्रियों से भी बात की है इस दौरान राज्यों का हाल जाना और इस पर विचार किया गया की लॉक डाउन आगे बढ़ाया जाए या नहीं?
कुछ राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने साफ कहा कि देश और लोगों को बचाने  के लिए लॉक डाउन को बढ़ाना जरुरी है। जिन राज्यों के हालात लगातार बिगड़ते जा रहे हैं अगर वहां भीड़ इकट्ठा होती है तो संक्रमण के बढ़ने का खतरा बहुत ज्यादा हो जाएगा। राज्यों के सभी मुख्यमंत्रियों से बैठक के बाद केंद्र सरकार लॉक डाउन के फैसले पर विचार कर रही है।
देश में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के चलते प्रधानमंत्री मोदी ने 25 मार्च को 21 दिनों का लॉक डाउन घोषित किया था जो 14 अप्रैल को खत्म हो रहा है लेकिन यह लॉक डाउन संक्रमण को रोकने के लिए आगे और जारी रखा जाएगा या नहीं इस पर केंद्र और राज्य सरकारें विचार कर रही हैं। पिछले 1 सप्ताह में महाराष्ट्र, तमिलनाडु और दिल्ली सहित कई राज्यों में मरीजों की संख्या में तेजी देखने को मिली है। तबलीगी जमात की वजह से यह संख्या बढ़ी है जिसके बाद से इन राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने सरकार से लॉक डाउन बढ़ाने पर विचार करने के लिए कहा है। वहीं तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने सरकार को सुझाव दिया है कि लॉक डाउन को 2 जून तक लागू कर दिया जाए। चंद्रशेखर राव ने कहा कि बिगड़ती हुई अर्थव्यवस्था को फिर से सुधारा जा सकता है लेकिन किसी को फिर से जिंदा नहीं किया जा सकता।

आपकी प्रतिक्रिया...